Published on 2018-06-14
img

हरिद्वार १३ जून।

अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की तैयारियाँ जोरों पर हैं। शांतिकुंज व देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के योगाचार्य गायत्री तीर्थ के तीन स्थानों में योगाभ्यास करा रहे हैं। शांभवी यादव व डॉ. राकेश वर्मा की टीम शांतिकुंज में तथा देसंविवि के योग विभागाध्यक्ष डॉ. सुरेश वर्णवाल की टीम देवसंस्कृति विवि परिसर में नित्य प्रातः प्रतिभागियों को योगाभ्यास करवा रही हैं। ये प्रतिभागी २१ जून को देहरादून के एफआरआई में आयोजित होने वाले कार्यक्रम में भागीदारी करेंगे।   
अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. प्रणव पण्ड्या ने कहा कि योग व्यायाम का ऐसा प्रभावशाली प्रकार है, जिसके माध्यम से न केवल शरीर के अंगों बल्कि मन, मस्तिष्क और आत्मा में संतुलन बनाया जाता है। यही कारण है कि योग से शारीरिक व्याधियों के अलावा मानसिक समस्याओं से भी निजात पाई जा सकती है।  उन्होंने कहा कि योग की महिमा और महत्व को जानकर इसे स्वस्थ्य जीवनशैली हेतु बड़े पैमाने पर अपनाया जा रहा है, जिसका प्रमुख कारण है व्यस्त, तनावपूर्ण और अस्वस्थ दिनचर्या में इसके सकारात्मक प्रभाव।   
शांतिकुंज के योग कार्यक्रम के संयोजक ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय योग दिवस को लेकर जिला प्रशासन के साथ कई दौर की चर्चा हुई। योग दिवस में करीब पांच हजार से अधिक शांतिकुंज के अंतेःवासी एवं विभिन्न साधना शिविरों में आये गायत्री साधक  भागीदारी करने के लिए देहरादून रवाना होंगे, जिसकी तैयारी शांतिकुंज एवं देवसंस्कृति विवि में जोरों पर चल रही है। देवसंस्कृति विवि के प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्या अपनी टीम के साथ कार्यक्रम को लीड कर रहे हैं।  
उल्लेखनीय है कि प्रधानमन्त्री जी के द्वारा आवाहित विश्वयोग दिवय के प्रथम आयोजन से ही देवसंस्कृति विश्वविद्यालय आयुष मन्त्रालय द्वारा किये जाने वाले योग दिवस का विश्वव्यापी सहयोगी रहा है। देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के योग प्रशिक्षक चाइना, अफगानिस्तान, रसिया सहित अनेक देशों में योग सिखाने के लिए अपनी सेवाएँ प्रदान कर रहे हैं।


Write Your Comments Here:


img

प्राणियों, वनस्पतियों व पारिस्थितिक तंत्र के अधिकारों की रक्षा हेतु गायत्री परिवार से विनम्र आव्हान/अनुरोध

हम विश्वास दिलाते हैं की जीव, जगत, वनस्पति व पारिस्थितिकी तंत्र के व्यापक हित में उसके अधिकार को वापस दिलवाना ही हमारा एकमात्र उद्देश्य और मिशन है| जलवायु संकट की वर्तमान स्थिति को ध्यान में रखते हुए तथा जीव-जगत को.....

img

गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन

क्षमता का विकास करने का सर्वोत्तम समय युवावस्था - डॉ पण्ड्याराष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के युवाओं को तीन दिवसीय सम्मेलन का समापनहरिद्वार 17 अगस्त।गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन हो गया। इस सम्मेलन में राष्ट्रीय राजधानी.....

img

देसंविवि के नये शैक्षिक सत्र का शुभारंभ करते हुए डॉ. पण्ड्या ने कहा - कर्मों के प्रति समर्पण श्रेष्ठतम साधना

हरिद्वार 26 जुलाई।देसंविवि के कुलाधिपति श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या ने विश्वविद्यालय के नवप्रवेशी छात्र-छात्राओं के नये शैक्षिक सत्र का शुभारंभ के अवसर पर गीता का मर्म सिखाया। इसके साथ ही विद्यार्थियों के विधिवत् पाठ्यक्रम का पठन-पाठन का क्रम की शुरुआत.....