Published on 2018-06-16

बदायूं (उत्तर प्रदेश):-
अखिल विश्व गायत्री परिवार की ओर से विश्वामित्र आंचल के कछला गंगा तट पर हर हर गंगे, निर्मल गंगे के साथ गायत्री परिजन साफ-सफाई में जुटे। इसके बाद मां भागीरथी का पूजन और महाआरती की। युवा शक्ति ने मां गंगा को निर्मल बनाने का लिया संकल्प।

जय जय गंगे माई की, हिम्मत करो सफाई की और गंगा को माता माना है, स्वच्छ रखेंगे यह ठाना है के जयघोष से गंगा तट गुंजायमान रहे। मां गंगा को निर्मल बनाने के लिए बासी फूल, साबुन, शैंपू, प्लास्टर आॅफ पेरिस से बनी मूर्तियों का भू विसर्जन करें। पुरानी किताबों और घर का कचरा डालकर गंगा मां के आंचल को गंदा न करें। जिस देश में सत्य सिद्ध करने के लिए गंगा की सौगंध ली जाती हो। आज जीवनदायिनी को स्वार्थ और अंधे विकास की खातिर मरणासन्न में लाकर छोड़ दिया है। उसका जल पीने और स्नान करने योग्य भी नहीं बचा है। भागीरथ ने कठोर तपकर मां गंगा को स्वर्ग से धरती पर लाए। मोक्षदायिनी गंगा ने पापों का नाश कर सभी का उद्धार किया। मां गंगा जल धारा नहीं, जीवन धारा है।


Write Your Comments Here:


img

पुसंवन संस्कार

07/07/2020 mumbai- गुरु पूणिऀमा के पावन पर्व के दिन सौभाग्यवती वैदेही जी का पुसंवन संस्कार उलहास एवं श्रद्धा पूवऀक मनाया गया ] आआे गढें ‌संस्कार वान पीढी कायऀक्रम के अंतर्गत सौभाग्यवती उजवला जी का पुसंवन संस्कार श्रद्धा एवं.....

img

गुरु पूर्णिमा 2020

Guru Purnimaगुरु पूर्णिमा का पावन पर्व आज दिनांक 5 जुलाई 2020 दिन रविवार को स्थानीय गायत्री शक्तिपीठ पर उत्साहपूर्वक एवं शारीरिक दूरी [Physical.....