Published on 2018-06-22

गायत्री तीर्थ पहुँचे देश-विदेश के हजारों साधक


हरिद्वार, २१ जून।


गायत्री तीर्थ शांतिकुंंज ने तीन दिवसीय गायत्री जयंती पर्वोत्सव के दूसरे दिन गायत्री यानी सद्विचार को जन-जन तक फैलाने के संकल्प के साथ भव्य रैली निकाली। रैली को शांतिकुंज वरिष्ठ कार्यकर्त्ता श्री कालीचरण शर्मा व महिला मण्डल प्रमुख यशोदा शर्मा ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। रैली में शांतिकुंंज के स्वयंसेवी भाई-बहिनों के साथ देश-विदेश से आये गायत्री साधकों ने भाग लिया।

         रैली शांतिकुंज के गेट नं. तीन से निकली और सप्तसरोवर क्षेत्र से होते हुए वापस शांतिकुंज लौट आयी। रैली में पतित पावनी गंगा को अविरल व निर्मल बनाने हेतु जनजागरण किया गया। शांतिकुंज पहुँचने पर रैली का महिला मण्डल प्रमुख यशोदा शर्मा, डॉ. मंजू चोपदार एवं ब्रह्मवादिनी बहिनों ने आरती कर स्वागत किया। ऋषियुग्म की पावन समाधि के पास पहुंचकर रैली सभा में परिवर्तित हो गयी। गायत्री परिवार के जनक पूज्य आचार्यश्री की २८वीं पुण्यतिथि की पूर्व वेला में उपस्थित पीतवस्त्रधारियों ने उनके संकल्पनाओं को पूरा करने की शपथ ली।

      दोपहरकालीन सत्संग में प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्या ने करें योग, बने निरोग पर विभिन्न उदाहरणों के साथ विस्तृत जानकारी दी। प्रज्ञा अभियान के संपादक श्री वीरेश्वर उपाध्याय, श्री कालीचरण शर्मा, डॉ. ओपी शर्मा, डॉ बृजमोहन गौड़ ने गुरु चेतना से अनुप्राणित विषयों पर व्याख्यान दिये। शांतिकुंज मीडिया विभाग के अनुसार गायत्री जयंती महापर्व का प्रमुख कार्यक्रम २२ जून को होगा, साथ ही विभिन्न संस्कार भी निःशुल्क सम्पन्न कराये जायेंगे।


Write Your Comments Here:


img

प्राणियों, वनस्पतियों व पारिस्थितिक तंत्र के अधिकारों की रक्षा हेतु गायत्री परिवार से विनम्र आव्हान/अनुरोध

हम विश्वास दिलाते हैं की जीव, जगत, वनस्पति व पारिस्थितिकी तंत्र के व्यापक हित में उसके अधिकार को वापस दिलवाना ही हमारा एकमात्र उद्देश्य और मिशन है| जलवायु संकट की वर्तमान स्थिति को ध्यान में रखते हुए तथा जीव-जगत को.....

img

गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन

क्षमता का विकास करने का सर्वोत्तम समय युवावस्था - डॉ पण्ड्याराष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के युवाओं को तीन दिवसीय सम्मेलन का समापनहरिद्वार 17 अगस्त।गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन हो गया। इस सम्मेलन में राष्ट्रीय राजधानी.....

img

देसंविवि के नये शैक्षिक सत्र का शुभारंभ करते हुए डॉ. पण्ड्या ने कहा - कर्मों के प्रति समर्पण श्रेष्ठतम साधना

हरिद्वार 26 जुलाई।देसंविवि के कुलाधिपति श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या ने विश्वविद्यालय के नवप्रवेशी छात्र-छात्राओं के नये शैक्षिक सत्र का शुभारंभ के अवसर पर गीता का मर्म सिखाया। इसके साथ ही विद्यार्थियों के विधिवत् पाठ्यक्रम का पठन-पाठन का क्रम की शुरुआत.....