Published on 2018-06-22

उत्तर ज़ोन की सक्रियता का लक्ष्य निर्धारित

शक्ति संवर्धन वर्ष के संकल्प

  • २४,००० ग्रामतीर्थ प्रव्रज्या
  • ५,००० मण्डलों को सक्रिय करना
  • ५,००० नये मण्डलों का गठन
  • १,००० गंगा मण्डलों की स्थापना
  • १,००० नयी बाल संस्कार शालाएँ
  • २४,००० दहेज रहित आदर्श विवाह
  • ५० लाख वृक्षारोपण
इस वर्ष उत्तर ज़ोन ने शक्ति संवर्धन वर्ष- २०१८ को ध्यान में रखते हुए व्यापक जनसंपर्क और सक्रियता के संघबद्ध लक्ष्य सुनिश्चित कर लिए हैं, जिनमें से कुछ यहाँ बॉक्स में दिये जा रहे हैं। इस आशय का निर्णय दिनांक २८ एवं २९ मई को पावन जन्मभूमि आँवलखेड़ा के दिव्य वातावरण में आयोजित ज़ोनल समन्वयकों की विशेष बैठक में लिया गया।

प्रादेशिक कार्ययोजना का लक्ष्य और स्वरूप निर्धारित करने के लिए यह बैठक शांतिकुंज के वरिष्ठ चिंतक श्रद्धेय श्री वीरेश्वर उपाध्याय, जोन समन्वयक श्री कालीचरण शर्मा जी, उत्तर ज़ोन समन्वयक श्री रामयश तिवारी की मुख्य उपस्थिति में आयोजित हुई। चारों क्षेत्रीय ज़ोनल केन्द्रों के समन्वयक, सभी १७ उपज़ोनों के समन्वयक, स्थानीय उपज़ोन प्रतिनिधि इस बैठक में उपस्थित रहे।

श्रद्धेय श्री वीरेश्वर उपाध्याय जी ने 'आध्यात्मिक समन्वयन का स्वरूप' विषय स्पष्ट करते हुए कहा कि अध्यात्म आस्था का विषय है। अपने इष्ट द्वारा बताये कार्यों के प्रति अथाह समर्पण, अपनी सक्रियता का श्रेय अपने इष्ट को अर्पण, बड़ों का सम्मान- छोटों को प्यार- प्रोत्साहन, तप, उदारता, त्याग जैसे सूत्रों से ही आध्यात्मिक संगठन सधता है, समन्वय हो पाता है। उन्होंने कहा कि संगठन के भरपूर सूत्र गुरुदेव ने हमें दिये हैं, उनका नित्य चिंतन और निष्ठापूर्वक पालन ही हमारी सफलता की कुंजी है।

श्री कालीचरण शर्मा जी ने शक्ति संवर्धन का आधार व्यापक जनसंपर्क और साधना को बताया। उन्होंने कहा कि हमें लोगों को अपना बनाने और उनकी शक्ति- सामर्थ्य का नियोजन युग निर्माण आन्दोलन को गति देने में करने की कला विकसित करनी होगी। श्री शर्मा जी ने अपने उद्बोधन में लक्ष्य के चयन और उसकी पूर्ति के लिए आधारभूत सिद्धांतों की विस्तृत व्याख्या की।
श्री रामयश तिवारी ने क्षेत्र की प्रतिभा और क्षमता से अवगत कराने और जामवंत की भूमिका निभाते हुए इस वर्ष के संकल्प निर्धारित करने में अग्रणी भूमिका निभाई।

उत्तर ज़ोन के वरिष्ठ कार्यकर्त्ता सर्वश्री योगेश शर्मा, बृजकिशोर त्रिभुवन, राजेन्द्र यदुवंशी, उमाशंकर डबराल, संतोष देवांगन और क्षेत्रीय ज़ोन समन्वयक सर्वश्री रामकेवल यादव, अयोध्या प्रसाद यादव, प्रभाशंकर दुबे, प्रसेन सिंह आदि की उपस्थिति में अनेक विषयों पर गहन मंथन हुआ, तद्नुसार उत्कृष्ट संकल्प उभरे।

ज़ोन- उपज़ोन समन्वयकों की सहमति से बनेंगी योजनाएँ
शांतिकुंज ने शक्ति संवर्धन वर्ष- २०१८ में अलग- अलग ज़ोनों की कार्ययोजना उन ज़ोन- उपज़ोनों के समन्वयकों की उपस्थिति में उनसे चर्चा करते हुए उनकी स्थिति- परिस्थिति के अनुरूप बनाने का निर्णय लिया है। उत्तर ज़ोन की यह गोष्ठी इसी दृष्टि से जन्मभूमि आँवलखेड़ा में आयोजित की गई थी।


Write Your Comments Here:


img

ऋषि, संत, शहीद, महापुरुषों को भी दी गई श्रद्धाञ्जिलि

मनावर, धार। मध्य प्रदेश गायत्री शक्तिपीठ मनावर में आयोजित सामूहिक श्राद्ध- तर्पण के कार्यक्रम में वरिष्ठ कार्यकर्त्ता श्री गिरधारी मालवीय.....

img

Jilla Goshthi

Panchmahal Jill ki goshti kalol tahsil me.aanevale Santi kumj ke karykram ke Anu sandhan ki taiyariya.....