Published on 2018-06-26
img

स्वयं मिलने आयीं, गायत्री परिवार- देसंविवि की भागीदारी पर चर्चा हुई

माननीया पैट्रिसिया जेनेट, बैरोनेस स्कॉटलैण्ड, राष्ट्रमण्डल की महासचिव, जिन्हें महारानी के बाद द्वितीय दर्जे का सम्मान प्राप्त है, गायत्री परिवार के प्रतिनिधि से मिलने के लिए बहुत उत्सुक थीं। वे प्रात:काल डॉ. चिन्मय जी से मिलने उनके स्थानीय निवास पर ही आ गयीं। उनके साथ लम्बी वार्ता हुई। गायत्री परिवार और देव संस्कृति विश्वविद्यालय कैसे राष्ट्रमंडल के साथ मिलकर किन- किन क्षेत्रों में कार्य कर सकते हैं, इस पर विचार- विमर्श हुआ।

५३ देशों की सदस्यता वाला संगठन राष्ट्रमण्डल राष्ट्रसंघ के समान ही महत्त्व रखता है। बैरोनेस स्कॉटलैण्ड इसकी प्रमुख हैं। राष्ट्रमण्डल खेल, एसीयू और राष्ट्रमण्डल के विभिन्न विभाग उन्हीं के अधीनस्थ हैं। वे यूके और यूरोप की सर्वाधिक प्रभावशाली व्यक्तित्व हैं।


Write Your Comments Here:


img

उत्तरी अमेरिका में बन रहा है मुनस्यारी जैसा एक दिव्य साधना केन्द्र

श्रद्धेय डॉ. प्रणव जी एवं डॉ. चिन्मय जी ने किया भूमिपूजनकैलीफोर्निया प्रांत में मारिपोसा काउण्टी स्थित यशोमाइट नेशनल पार्क के समीप अखिल विश्व गायत्री परिवार द्वारा एक दिव्य साधना केन्द्र बनाया जा रहा है। श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या जी एवं.....

img

मिशन के लिए समर्पित साधक- नैष्ठिक कार्यकर्त्ताओं की सेवाओं को मिला सम्मान

माँरिशस में आयोजित ग्यारवें विश्व हिन्दी सम्मेलन में डॉ. रत्नाकर नराले को मिला विश्व हिन्दी सम्मान हिंदी, संस्कृत, भारतीय संगीत और भारतीय संगीत संस्कृति के विश्वव्यापी प्रसार के कार्य कर रहे हैं।मिशन के सक्रिय परिजन कनाडा वासी प्रवासी भारतीय डॉक्टर रत्नाकर.....

img

इंग्लैण्ड वासियों ने बड़ी श्रद्धा के साथ मनाई प.वं. माताजी के पदार्पण की रजत जयंती

डॉ. चिन्मय पण्ड्या जी की उपस्थिति में लेस्टर में सम्पन्न हुआ भव्य समापन समारोह७ से १० अक्टूबर १९९३ इंग्लैण्ड वासियों के सौभाग्य एवं आनन्द तथा अखिल विश्व गायत्री परिवार के इतिहास के अविस्मरणीय दिन हैं। इन्हीं तिथियों में इंग्लैण्ड के.....