उत्तरी अमेरिका के युवाओं ने सीखा सफलता के सूत्र :-

भारतीय संस्कृति ऐसी प्राचीन संस्कृति है, जिसकी परिवार, समाज व राष्ट्र को एकसूत्र में बाँधे रखने में महत्त्वपूर्ण भूमिका है। भारतीय संस्कृति से जिनने भी दूरियाँ बनाईं हैं, वे आज प्राय: विघटन की ओर बढ़ रहे हैं। जो अपने समाज का चहुँमुखी विकास करना चाहते हैं, उन्हें इसके लिए भारतीय संस्कृति की अवधारणाओं को अपनाना होगा। उन्हें इन सूत्रों को अपने समाज में जन- जन तक पहुँचाने के लिए कारगर प्रयास करने होंगे। तभी परिवार, समाज व राष्ट्र की उन्नति का सपना साकार हो पायेगा। इसी लक्ष्य को लेकर अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. प्रणव पण्ड्या के नेतृत्व में शांतिकुंज के वरिष्ठ प्रतिनिधियों का एक दल अमेरिका पहुँचा है। वहाँ यह दल उत्तरी अमेरिका के टेक्सास शहर में राष्ट्रीय युवा शिविर का संचालन कर रहा है।

टीम के पाँच सदस्य दो माह पूर्व ही इस कार्यक्रम की तैयारी के लिए उत्तरी अमेरिका पहुँच गये थे। टीम के सदस्यों ने एनआरआई एवं उत्तरी अमेरिका के युवाओं को भारतीय संस्कृति की अवधारणाओं को विस्तार से समझाते हुए राष्ट्रीय युवा शिविर में शामिल होने के लिए प्रेरित कियोफलत: ग्वाडालूप नदी के निकट मो- रंच हट टेक्सास में आयोजित हुए इस शिविर में बड़ी संख्या में युवाओं ने भागीदारी की। इन युवाओं को देवसंस्कृति विवि के कुलाधिपति डॉ. प्रणव पण्ड्या ने योगाभ्यास के साथ आंतरिक शक्ति के जागरण के विविध पहलुओं का प्रायोगिक व व्यावहारिक प्रशिक्षण दिया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि मनुष्य के अंदर ही विभिन्न शक्तियाँ हैं, उन्हें साधना अर्थात् संबंधित कार्य के प्रति समर्पण से जगाया जाय, तो व्यक्ति प्रगति दर प्रगति करता हुआ चला जायेगा। इस दौरान डॉ. पण्ड्या ने युवाओं को जीवन जीने की कला, सफलता के विभिन्न सूत्रों को पावर पॉइंट प्रेजेण्टेशन के माध्यम से समझाया। इस शिविर में शामिल 18 से 35 वर्ष के युवाओं ने अपनी विभिन्न शंकाओं का सहज समाधान पाकर प्रसन्नता व्यक्त की। टीम में डॉ. ओपी शर्मा, कालीचरण शर्मा, प्रो० वीपी त्रिपाठी, राजकुमार वैष्णव आदि शामिल हैं।




Write Your Comments Here:


img

दुबई में आयोजित योग सम्मेलन में देव संंस्कृति विश्वविद्यालय की भागीदारी

श्रीराम योग सोसाइटी एवं साधना वे योग सेण्टर कनाडा द्वारा देव संस्कृति विश्वविद्यालय हरिद्वार के सहयोग से दुबई में दो.....

img

ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय में ‘फेथ इन लीडरशिप’ के अध्ययन- प्रोत्साहन के लिए केन्द्र का शुभारम्भ

ऑक्सफोर्ड  विश्वविद्यालय ‘नेतृत्व में आध्यात्मिक निष्ठा’ को प्रोत्साहित करने के लिए देव संस्कृति विश्वविद्यालय के साथ मिलकर कार्यक्रम चलाएगा। यह.....

img

लिथुआनिया पहुँची गुरुज्ञान की लाल मशाल

 अपने लंदन और यूरोप के दौरे में दे० सं० वि० वि० के प्रति कुलपति डॉ. चिन्मय पंड्या जी ने बाल्टिक समुद्र के पास स्थित लिथुआनिया देश का दौरा किया जिसमे अनेक महत्वपूर्ण उपलब्धियाँ के पुष्पगुच्छ उन्होंने दिवाली के पावन पर्व.....