मॉरिशस में गायत्री चेतना केन्द्र के लिए भूमिपूजन हुआ

Published on 2018-07-06

लोंग माउण्टेन। मॉरिशस

शांतिकुंज से मॉरिशस पहुँची श्री बालरूप शर्मा, श्री हेमलाल तत्त्वदर्शी एवं श्री नागमणि शर्मा की टोली ने लोंग माउंटेण्टन में गायत्री जयंती पर्व अपूर्व उल्लास के साथ मनाया। पर्व पूजन के साथ गायत्री- गंगा का महत्त्व बताने वाले और परम पूज्य गुरुदेव की भाव संवेदनाओं का स्पर्श कराने वाले मार्मिक उद्बोधन हुए। वहाँ के ३०० श्रद्धालुओं ने इनका लाभ लिया, आत्मिक शीतलता का अनुभव किया। ९ श्रद्धालुओं ने दीक्षा संस्कार कराये।
गायत्री जयंती के पावन अवसर पर लोंग माउंटेन में गायत्री चेतना केन्द्र निर्माण के लिए भूमि पूजन हुआ। इसके साथ ही युग निर्माण आन्दोलन के एक नये अध्याय का शुभारंभ हुआ। श्री बालरूप शर्मा ने जन- जन के सहयोग से इसका निर्माण करने और मानवमात्र के कल्याण के लिए समर्पित करने की अनेक योजनाओं पर विस्तार से प्रकाश डाला।

लोंग माउण्टेन के गायत्री जयंती समारोह में स्थानीय परिजनों ने नशे के विरुद्ध जागरूकता बढ़ाने वाली लघु नाटिका प्रस्तुत की गई। फ्रेंच में प्रकाशित एक पुस्तक का विमोचन भी हुआ।

देपिने में प्रात:काल ९ कुण्डीय गायत्री महायज्ञ के साथ गायत्री जयंती पर्व मनाया गया। इसमें २५० श्रद्धालुओं ने गायत्री माता और पावन गुरुसत्ता को श्रद्धांजलि अर्पित की।


Write Your Comments Here:


img

लॉस ऐन्जिल्स में श्रद्धेय डॉ. पण्ड्याजी ने किया सामूहिक साधना का शंखनाद

अश्वमेध महायज्ञ की रजत जयंती के रंग में डूबे अमेरिकावासीहरिद्वार 15 सितम्बर।गायत्री परिवार प्रमुख श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्याजी ने अमेरिका के लॉस ऐन्जिल्स में सामूहिक साधना का शंखनाद किया। यह कार्यक्रम परम वन्दनीया माता भगवती देवी शर्मा के संचालन में.....

img

रशियन युवाओं में भारतीय संस्कृति के प्रति बढ़ रही है रुझान, हुए विभिन्न संस्कार

रशिया में विभिन्न कार्यक्रम कर लौटे शांतिकुंज प्रतिनिधिहरिद्वार ३१ अगस्त१५ दिवसीय रशिया के प्रवास के दौरान विभिन्न कार्यक्रम सम्पन्न कराने के बाद शांतिकुंज प्रतिनिधि डॉ. ज्ञानेश्वर मिश्र व श्री जयराम मोटलानी स्वदेश लौट आये। शांतिकुंज प्रतिनिधि ने.....

img

अजरबेजान में योग और यज्ञ विज्ञान का विस्तार

योग दिवस पर देसंविवि प्रतिनिधि को मिला विशेष आमंत्रणबाकु। अजरबेजानअजरबेजान की राजधानी बाकु में चौथा अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाने के लिए देव संस्कृति विश्वविद्यालय के प्रतिनिधि को विशेष रूप से आमंत्रित किया। शांतिकुंज प्रतिनिधि श्री जयराम मोटलानी वहाँ पहुँचे और.....