Published on 2018-08-24 HARDWAR

नवप्रवेशी विद्यार्थियों के स्वागत के लिए आयोजित हुआ यह आयोजन
 हरिद्वार 25 अगस्त।

देव संस्कृति विश्वविद्यालय में उन्नयन-2018 को उत्साहपूर्वक मनाया गया। इसके माध्यम से सीनियर विद्यार्थियों द्वारा नवांगुतक छात्र-छात्राओं का स्वागत एवं विवि की परिकल्पना से अवगत कराना था। उन्नयन-2018 की थीम ‘सहगमन सबका साथ-साथ’था।
                इस अवसर पर विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कुलाधिपति श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या ने कहा कि उन्नयन जीवन में उत्साह एवं जोश के साथ कुछ कर गुजरने की प्रेरणा देता है। यह हर वर्ग, उम्र के लोगों को विचारों तथा कर्मों से युवा बने रहने की शिक्षा देता है। उन्होंने कहा कि आज सभी विश्वविद्यालय में उन्नयन जैसे कार्यक्रम की जरूरत है जिससे जूनियर एवं सीनियर विद्यार्थियों का मतभेद खत्म हो तथा आपस में प्यार बढ़े और सब मिलकर विश्वविद्यालय की गौरव गरिमा को आगे बढ़ाने के लिए निरंतर प्रयासरत रहें। उन्होंने कहा कि यह विश्वविद्यालय हम सब की माँ समान है, इसकी प्रतिष्ठा बनाए रखना हम सभी का कर्तव्य है। अंत में उन्होंने सफल कार्यक्रम के लिए विद्यार्थियों को उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएं दी।
                इससे पूर्व पत्रकारिता विभाग के विद्यार्थियों ने नये व पुराने छात्र-छात्राओं के अनुभवों को एक लघु फिल्म दिखाई गयी, जो सभी ने खूब सराहा एवं विवि के उद्देश्य को जाना। दैनिक प्रयोग में आने वाली वस्तुओं द्वारा मनमोहक संगीत की प्रस्तुति छात्रों ने दी। पश्चात छात्र-छात्राओं द्वारा प्रस्तुत योग, समूह नृत्य, मूक अभिनय तथा लघु नाटिका ने खूब तालियाँ बटोरी, तो वहीं देवभूमि उत्तराखंड की गढ़वाली नृत्य ने सबका मन मोह लिया। इस अवसर पर भारतीय संस्कृति से परिचित कराते हुए विभिन्न कार्यक्रम प्रस्तुत किये गये, जो विद्यार्थियों के मनोरंजन के साथ-साथ प्रेरणा देने वाला रहा। उल्लेखनीय है कि उन्नयन-2018 की तैयारी से लेकर सम्पूर्ण कार्य विद्यार्थियों ने ही सम्पन्न कराया।
                इस अवसर पर देसंविवि के कुलपति श्री शरद पारधी, प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्या, कुलसचिव श्री संदीप कुमार, श्रीमती शैफाली पण्ड्या समेत विश्वविद्यालय के सभी संकायाध्यक्ष, विभागाध्यक्ष, शिक्षकगण, छात्र-छात्राएं एवं शांतिकुंज के अन्तेवासी कार्यकर्ता मौजूद रहे।


Write Your Comments Here:


img

श्री सत्यनारायण पण्ड्या पंचतत्त्व में विलीन

गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. पण्ड्या ने दी मुखाग्निहरिद्वार 20 फरवरी।                अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. प्रणव पण्ड्या के पिता पूर्व न्यायाधीश श्री सत्यनारायण पण्ड्या जी आज पंचतत्त्व में विलीन हो गये। खड़खड़ी स्थित शमशान घाट में उनके दोनों पुत्रों-.....

img

राष्ट्रीय शिक्षक शिक्षा परिषद् व देव संस्कृति विश्वविद्यालय के संयुक्त तत्वावधान में विवि के शिक्षाशास्त्र विभाग ने राष्ट्रीय उत्पादकता सप्ताह (राउस) मनाया

आर्थिक लाभ के साथ टिकाऊ अवधारणा को दें विशेष महत्व ः डॉ. चिन्मयएनसीटीई व विवि के संयुक्त तत्वावधान में राउस सप्ताह आयोजितबीएड के 75 विद्यार्थी गुणवत्तापरक शिक्षण पद्धति से हुए अवगतहरिद्वार 18 फरवरी।     राष्ट्रीय शिक्षक शिक्षा परिषद् व देव संस्कृति.....

img

शांतिकुंज में वसन्त उत्सव का प्रमुख समारोह आज हर्षोल्लास के साथ सम्पन्न हुआ

प्रकृति व परमेश्वर के मिलन का महापर्व वसंत ः डॉ. पण्ड्याउल्लास व उमंग का पर्व वसंत ः शैलदीदीआचार्यश्री के 94वें आध्यात्मिक जन्मदिवस पर देश को व्यसन मुक्त बनाने का लिया संकल्प19 विवाह सहित विभिन्न संस्कार बड़ी संख्या में सम्पन्न, सजाई.....