Published on 2018-09-07 HYDERABAD
img

प्रयाज से जनजागरण का जबरदस्त उत्साह, जिम्मेदारियाँ निभाने के संकल्प हुए

हैदाराबाद। तेलंगाना

सन् २०२० में हैदाराबाद में आयोजित होने जा रहे अश्वमेध गायत्री महायज्ञ के प्रयाज की रूपरेखा तैयार करने के लिए २५ अगस्त को गायत्री ज्ञान मन्दिर बोवेनपल्ली, सिकन्दराबाद में महत्त्वपूर्ण बैठक हुई। इसमें दक्षिण ज़ोन प्रभारी शांतिकुंज प्रतिनिधि डॉ. बृजमोहन गौड़ एवं श्री उमेश शर्मा सहित आयोजन समिति के श्री अश्विनी सुब्बा राव, श्री रंगा राव, श्री एम.वी.एस. राजू, श्री गोकुलचंद उपाध्याय आदि समस्त वरिष्ठ परिजन सहित ७०० कार्यकर्त्ताओं ने भाग लिया। स्वर्णाधाम नगर के अध्यक्ष श्री राघवेन्द्र राव मुख्य अतिथि थे।

५२ चौबीस कुण्डीय यज्ञ हुए

इस प्रयाज गोष्ठी में अब तक हुए कार्यों को सभी ने करतल ध्वनि से सराहा। अपने स्वागत भाषण में गायत्री ज्ञान मंदिर बोवेनपल्ली के व्यवस्थापक श्री रंगाराव ने बताया कि तेलंगाना और आंध्रप्रदेश में गायत्री चेतना के विस्तार का अभियान कई वर्षों से निरंतर चल रहा है जो इस अश्वमेध महायज्ञ की सफलता का आधार होगा। उन्होंने बताया कि निजामाबाद, मेदक, कामरेड्डी, करीमनगर, रंगारेड्डी एवं मेडचल आदि जिलों में अब तक ५२ स्थानों पर २४ कुण्डीय गायत्री महायज्ञ सम्पन्न कराये जा चुके हैं जो बेहद सफल और उत्साहवर्धक रहे।

संगोष्ठी में आगामी दिनों के प्रयाज की रूपरेखा निर्धारित करने के साथ समर्पित कार्यकर्त्ताओं ने अपने- अपने कार्य भी निर्धारित कर लिये हैं। उन सभी ने अपने संकल्पों की घोषणा की। सबकी ओर से उनका अभिनन्दन किया गया।

शांतिकुंज प्रतिनिधि डॉ. गौड़ जी ने अपने उद्बोधन में अश्वमेध को यज्ञों का राजा बताते हुए इसे राष्ट्र को समर्थ, सशक्त, समृद्ध बनाने वाला एक महान आध्यात्मिक प्रयोग कहा। उन्होंने संकल्प लेने वाली सभी दिव्य आत्माओं को गुरुसत्ता की ओर से आशीषों सहित साधुवाद दिया।

सरपंचों की भागीदारी
श्री उपेन्द्र जी ने निजामाबाद, मेदक और कामरेड्डी जिलों के ५० गाँवों के सरपंचों को अश्वमेध यज्ञ अभियान से जोड़ा है। वे सभी सरपंच इस गोष्ठी में उपस्थित थे। उन्होंने गायत्री यज्ञ और साहित्य स्थापना कराने का संकल्प लिया।

संगोष्ठी का समापन श्रीमती श्रीवाणी द्वारा धन्यवाद ज्ञापन के साथ हुआ।

अश्वमेध यज्ञ के दायित्व संभाले
'दिया, हैदाराबाद' के प्रभारी श्री एम.वी.एस. राजू, श्री रमेश वर्मा, श्री उपेन्द्र जी, तेलंगाना जाट समाज के अध्यक्ष श्री धर्मराम ढाका, संघारेड्डी की श्रीमती उमा देवी सहित विभिन्न जिलों से आये प्रमुख कार्यकर्त्ताओं ने पूरे तेलंगाना के हर गाँव- तहसील में २४ कुण्डीय एवं पंच कुण्डीय यज्ञों के माध्यम से जनजागरण अभियान चलाने की योजनाएँ बतार्इं। सभी ने अपने समयदान और अंशदान के संकल्प लिये।

श्री गोकुलचंद उपाध्याय ने १,००,००० विद्यार्थियों में १०८ गायत्री मंत्र लेखन पत्रकों का वितरण करने तथा उनकी शाखा प्रज्ञापीठ बेगम बाजार द्वारा अश्वमेध्य में भोजनालय का दायित्व सँभाले जाने का संकल्प लिया।
श्री मल्लिकार्जुन शर्मा ने मीडिया का कार्यभार सँभालने का आश्वासन दिया।


Write Your Comments Here:


img

बालसंस्कारशाला

शक्तिपीठ युवामंडल द्वारा प्रत्येक रविवार को शाहजहांपुर नगर क्षेत्र में आठ बाल संस्कार शाला संचालित होती है जिसमें शक्तिपीठ बाल संस्कारशाला ,आनंद बाल संस्कार शाला भगवती बाल संस्कार शाला ,शिव बाल संस्कार शाला ,श्री राम बाल संस्कार शाला ,स्वामी विवेकानंद.....

img

सम्मान समारोह

13/10/19 को गायत्री प्रज्ञा पीठ कुँवाखेड़ा लक्सर हरिद्वार उत्तराखंड में वरिष्ठ कार्यकर्ता श्री बूलचंद जी को शारिरिक कार्य से विश्राम एवँ मार्गदर्शक नियुक्त होने पर उनका सम्मान एवं भोग प्रसाद का कार्यक्रम संम्पन हुआ।.....