Published on 2018-09-10 JAIPUR
img

हर वर्ष २० ट्रक गैंहू शांतिकुंज भेजता है जयपुर संभाग

जयपुर। राजस्थान
जयपुर, सीकर, दौसा, चूरु आदि जिलों में नैष्ठिक परिजनों के प्रयासों से एक पुण्य परम्परा कई वर्षों से चली आ रही है। उस क्षेत्र के हजारों किसान अपनी फसल की प्रथम आहुति लोकमंगल के लिए समर्पित करते हैं। ऐसे भावनाशीलों का समन्वय कर रहे श्रीमाधोपुर निवासी श्री बनवारीलाल सैनी इसे संकलित कर प्रति वर्ष लगभग २० ट्रक (दो से ढाई हजार बोरी) गैंहू शांतिकुंज को भेजते हैं।

२४ अगस्त को ११वाँ ट्रक लेकर सापरा, जयपुर निवासी श्री बल्लूराम कुम्हार शांतिकुंज पहुँचे। उन्होंने बताया कि अनेक भावनाशील परिजन ऐसे भी हैं जो किसान तो नहीं हैं, लेकिन अपनी ओर से गैंहूँ खरीद कर भी शांतिकुंज भेज रहे हैं। अब तक सापरा, विराटनगर, मेढ़, मनोहरपुर, कोटपुतली, अजीतगढ़, नीमका थाना, चौमू, जयपुर आदि से ११ ट्रक गैंहूँ इस वर्ष शांतिकुंज आ चुके हैं।

समस्त श्रद्धावान सहयोगी ऐसी परम पवित्र भूमि शांतिकुंज में, जहाँ के माँ भगवती भोजनालय के संस्कारित प्रसाद और चैतन्य भूमि के विचारों से लोगों का जीवन ही बदल जाता है, अपना अंशदान देकर अपने को धन्य अनुभव करते हैं। उल्लेखनीय है कि शांतिकुंज के माँ भगवती भोजनालय में प्रतिदिन ५००० लोग भोजन प्रसाद ग्रहण करते हैं।


Write Your Comments Here:


img

बालसंस्कारशाला

शक्तिपीठ युवामंडल द्वारा प्रत्येक रविवार को शाहजहांपुर नगर क्षेत्र में आठ बाल संस्कार शाला संचालित होती है जिसमें शक्तिपीठ बाल संस्कारशाला ,आनंद बाल संस्कार शाला भगवती बाल संस्कार शाला ,शिव बाल संस्कार शाला ,श्री राम बाल संस्कार शाला ,स्वामी विवेकानंद.....

img

सम्मान समारोह

13/10/19 को गायत्री प्रज्ञा पीठ कुँवाखेड़ा लक्सर हरिद्वार उत्तराखंड में वरिष्ठ कार्यकर्ता श्री बूलचंद जी को शारिरिक कार्य से विश्राम एवँ मार्गदर्शक नियुक्त होने पर उनका सम्मान एवं भोग प्रसाद का कार्यक्रम संम्पन हुआ।.....