मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में नर्मदा की मिटटी से बनी गणेश प्रतिमाएं

Published on 2018-09-12 BHOPAL
img

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में नर्मदा की मिटटी से बनी गणेश प्रतिमाएं गायत्री परिवार की ओर से उपलब्ध कराए जाएगी। यह अनूठी पहल की शुरुआत की है अखिल विश्व गायत्री परिवार ने। गणेश चतुर्थी आने में अब महज एक सप्ताह बाकी है। ऐसे में कलाकार भगवान गणेश जी की प्रतिमाएं तैयार करने में जुट गए हैं। 13 सितंबर को घर-घर में गजानन विराजमान किए जाएंगे। ऐसे में मिट्टी के गणपति बनाने के लिए विभिन्ना सामाजिक संगठन भक्तों को ट्रेनिंग दे रहे हैं। अखिल विश्व गायत्री परिवार ने भी लोगों को मिट्टी के गणपति उपलब्ध कराने की बीड़ा उठाया है। एमपी नगर स्थित गायत्री शक्तिपीठ में लोगों को पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरुक करने के लिए मिट्टी से गणपति बनाने का प्रशिक्षण लोगों को दिया जा रहा है।कुछ ज्योतिषाचार्यों की माने तो शास्त्रों के मुताबिक मिट्टी को सबसे अधिक पवित्र माना जाता है। ऐसे में मिट्टी के गणपति की घरों व झांकियों में स्थापित करना विशेष फलदायी है। ज्योतिषाचार्यों का कहना है कि पीओपी की प्रतिमाएं पूजा योग्य नहीं होती। क्योंकि इसमें कई तरह के केमिकलों व जहरीले रंगों का इस्तेमाल किया जाता है। पीओपी की मूर्तियां पर्यावरण को प्रदूषित करती हैं, क्योंकि तालाबों में विसर्जन के बाद यह घुलती नहीं। वहीं केमिकल पदार्थों के प्रभाव से जलीय जीव मर जाते हैं। गायत्री परिवार के द्वारा किसी भी प्रकार के केमिकल से रहित, नर्मदा नदी की मिट्टी से बनी इन मूर्तियां को श्रद्धालुओं को उपलब्ध कराया जाएगा। इसके साथ ही लोगों से पर्यावरण संरक्षण के लिए पीओपी की मूर्तियों के बजाय ईकोफ्रेंडली मिट्टी की मूर्तियां ही विराजमान कराने की अपील की जाएगी।


Write Your Comments Here:


img

यज्ञ-संस्कार से शिविर का शुभारंभ

रेवाड़ी स्थित ललिता मेमोरियल हॉस्पिटल में रक्तदान शिविर का शुभारंभ गायत्री यज्ञ के साथ कीया गया, साथ ही यज्ञ के दौरान गर्भ-संस्कार का विवेचन भी कीया गया। यज्ञ-संस्कार श्रीमती अनामिका पाठक द्वारा संपन्न कराया गया तथा कार्यक्रम में शहर.....

img

कलेक्टरेट आदि प्रशासनिक कार्यालयों में लगाये जा रहे हैं सद्वाक्य

तुलसीपुर, बलरामपुर। उ.प्र.गायत्री शक्तिपीठ तुलसीपुर के वरिष्ठ परिजन श्री सत्यप्रकाश शुक्ल एवं साथियों ने जिला कलेक्ट्रेट, एसडीएम, सीओ, तहसीलदार आदि वरिष्ठ अधिकारियों के कार्यालयों में जाकर युगऋषि के अनमोल वचन लिखे सनबोर्ड भेंट किये। इन्हें पाकर सभी गद्गद थे। जिलाधिकारी.....

img

बाल संस्कार शाला शुभारंभ

गोंदिया जिले के तिरोड़ा तहसील के ग्राम मालपुरी में बाल संस्कार शाला का शुभारंभ कराया गया। ग्राम के सम्मानीय परिजन तथा बालको के माता-पिता के सहयोग से संस्कार शाला को सतत चलाते रहने का संकल्प लिया गया।.....