Published on 2018-09-12 BHOPAL
img

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में नर्मदा की मिटटी से बनी गणेश प्रतिमाएं गायत्री परिवार की ओर से उपलब्ध कराए जाएगी। यह अनूठी पहल की शुरुआत की है अखिल विश्व गायत्री परिवार ने। गणेश चतुर्थी आने में अब महज एक सप्ताह बाकी है। ऐसे में कलाकार भगवान गणेश जी की प्रतिमाएं तैयार करने में जुट गए हैं। 13 सितंबर को घर-घर में गजानन विराजमान किए जाएंगे। ऐसे में मिट्टी के गणपति बनाने के लिए विभिन्ना सामाजिक संगठन भक्तों को ट्रेनिंग दे रहे हैं। अखिल विश्व गायत्री परिवार ने भी लोगों को मिट्टी के गणपति उपलब्ध कराने की बीड़ा उठाया है। एमपी नगर स्थित गायत्री शक्तिपीठ में लोगों को पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरुक करने के लिए मिट्टी से गणपति बनाने का प्रशिक्षण लोगों को दिया जा रहा है।कुछ ज्योतिषाचार्यों की माने तो शास्त्रों के मुताबिक मिट्टी को सबसे अधिक पवित्र माना जाता है। ऐसे में मिट्टी के गणपति की घरों व झांकियों में स्थापित करना विशेष फलदायी है। ज्योतिषाचार्यों का कहना है कि पीओपी की प्रतिमाएं पूजा योग्य नहीं होती। क्योंकि इसमें कई तरह के केमिकलों व जहरीले रंगों का इस्तेमाल किया जाता है। पीओपी की मूर्तियां पर्यावरण को प्रदूषित करती हैं, क्योंकि तालाबों में विसर्जन के बाद यह घुलती नहीं। वहीं केमिकल पदार्थों के प्रभाव से जलीय जीव मर जाते हैं। गायत्री परिवार के द्वारा किसी भी प्रकार के केमिकल से रहित, नर्मदा नदी की मिट्टी से बनी इन मूर्तियां को श्रद्धालुओं को उपलब्ध कराया जाएगा। इसके साथ ही लोगों से पर्यावरण संरक्षण के लिए पीओपी की मूर्तियों के बजाय ईकोफ्रेंडली मिट्टी की मूर्तियां ही विराजमान कराने की अपील की जाएगी।


Write Your Comments Here:


img

युग निर्माण हेतु भावी पीढ़ी में सुसंस्कारों की आवश्यकता जिसकी आधारशिला है भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा -शांतिकुंज प्रतिनिधि आ.रामयश तिवारी जी

वाराणसी व मऊ उपजोन की *संगोष्ठी गायत्री शक्तिपीठ,लंका,वाराणसी के पावन प्रांगण में संपन्न* हुई।जहां ज्ञान गंगा की गंगोत्री,*महाकाल का घोंसला,मानव गढ़ने की टकसाल एवं हम सभी के प्राण का केंद्र अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज,हरिद्वार* से पधारे युगऋषि के अग्रज.....

img

Yoga Day celebration

Yoga day celebration in Dharampur taluka district ValsadGaytri pariwar Dharampur.....

img

गर्भवती महिलाओं की हुई गोद भराई और पुंसवन संस्कार

*वाराणसी* । गर्भवती महिलाओं व भावी संतान को स्वस्थ व संस्कारवान बनाने के उद्देश्य से भारत विकास परिषद व *गायत्री शक्तिपीठ नगवां लंका वाराणसी* के सहयोग से पुंसवन संस्कार एवं गोद भराई कार्यक्रम संपन्न हुआ। बड़ी पियरी स्थित.....