Published on 2018-09-14
img

तीर्थक्षेत्र के आध्यात्मिक स्थलों और गाँवों की स्वच्छता, सुंदरता बढ़ाने वाली ८४ कोसीय परिक्रमा के प्रति निरंतर बढ़ रही है संत- पुरोहितों की आस्था

उपलब्धियाँ
विशिष्ट झलकियाँ
  • केवल झालावाड़ के २०० परिजनों ने भाग लिया, राजस्थान के हर जिले का प्रतिनिधित्व रहा।
  • न्यायाधीश श्री सतीश कौशिक सपत्नीक अलवर से पधारकर यात्रा का नेतृत्व कर रहे थे।
  • १०८ गाँवों में त्रिवेणी रोपण और शक्तिकलशों की स्थापना हुई।
  • ब्रह्म सरोवर के २६ घाटों पर बड़े गमलों में वृक्षारोपण किया गया।
  • सावित्री एवं राजराजेश्वरी पुुुरुहुता परिक्रमा मार्ग पर ट्रीगार्ड सहित ५१० वृक्ष लगाये गए।
  • सभी सन्तों, महन्तों, पीठाधीश्वरों, तीर्थ पुरोहितों, समाजसेवियों का भरपूर सहयोग- समर्थन मिला, सहभागिता रही।
  • हरियाली अमावस्या के दिन बूढ़ा पुष्कर तीर्थ पर १००० से अधिक लोगों ने सामूहिक तर्पण- मार्जन किया।
पुष्कर। राजस्थान
७ से ११ अगस्त की तारीखों में षष्टम अरण्य तीर्थ प्रदक्षिणा पूरे जोश और उत्साह के साथ सम्पन्न हुई। राजस्थान के अलावा हरियाणा, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र एवं झारखंड के लगभग १००० से अधिक परिजनों ने तीर्थ चेतना जागरण के इस पावन अभियान में भाग लिया।

आँचलिक कार्यालय पुष्कर प्रभारी श्री घनश्याम पालीवाल के अनुसार यात्रा त्रिस्तरीय थी। २४ कोसीय पदयात्रा में लगभग ५०० श्रद्धालु शामिल हुए। इसके अलावा ८४ कोसीय रथयात्रा निकाली गई तथा अरण्य क्षेत्र के १०८ गाँवों में ग्राम प्रव्रज्या की गई।


Write Your Comments Here:



Warning: Unknown: write failed: No space left on device (28) in Unknown on line 0

Warning: Unknown: Failed to write session data (files). Please verify that the current setting of session.save_path is correct (/var/lib/php/sessions) in Unknown on line 0