Published on 2018-09-15 HARDWAR

अश्वमेध महायज्ञ की रजत जयंती के रंग में डूबे अमेरिकावासी

हरिद्वार 15 सितम्बर।

गायत्री परिवार प्रमुख श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्याजी ने अमेरिका के लॉस ऐन्जिल्स में सामूहिक साधना का शंखनाद किया। यह कार्यक्रम परम वन्दनीया माता भगवती देवी शर्मा के संचालन में अगस्त, 1993 में हुए अश्वमेध महायज्ञ की रजत जयंती के रूप में आयोजित है।

                इस अवसर पर श्रद्धेय डॉ पण्ड्या ने कहा कि गायत्री परिवार की धुरि है साधना। साधना से आत्म निर्माण के साथ परिवार, समाज का निर्माण होता है। साधना से सकारात्मक बदलाव आता है और इससे धीरे-धीरे समाज, राष्ट्र का नवनिर्माण होने लगता है। उन्होंने कहा कि सन् 1926 महर्षि श्री अरविन्द, वन्दनीया माता भगवती देवी शर्मा व गायत्री परिवार के संस्थापक युगऋषि पं. श्रीराम शर्मा आचार्यश्री द्वारा प्रज्वलित अखण्ड दीपक का शताब्दी वर्ष है। गायत्री परिवार ने वसंत पंचमी 2018 से 2026 तक के 9 वर्षीय विशेष महापुरश्चरण साधना का क्रम प्रारंभ किया है। इससे अधिकाधिक साधकों को जोड़ा जा रहा है। प्रयास है कि देश-विदेश के शहर-शहर, स्थान-स्थान में सामूहिक साधना का क्रम चले। उन्होंने कहा कि इस निमित्त लाखों गायत्री साधक विगत वसंत पंचमी से जुट गये हैं। अब तक इसमें अच्छी सफलता मिली है। देश-विदेश में स्थित प्रज्ञा संस्थानों में सामूहिक साधना का क्रम प्रारंभ हो गया है। इसमें युवाओं की भी अच्छी भागीदारी है। उन्होंने कहा कि लॉस ऐन्जिल्स में युवाओं ने भी बढ़-चढ़कर भाग ले रहे हैं, यह समाज के नवनिर्माण हेतु अच्छा संकेत है।

                वहीं समुद्र के निनाद के बीच सामूहिक ध्यान साधना का आयोजन हुआ। जिसमें साधकों ने गोता लगाया। साधकों को श्रद्धेय डा. पण्ड्या ने ध्यान-साधना हेतु मार्गदर्शन दिया। इस अवसर पर देसंविवि प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्या सहित शताधिक साधक उपस्थित रहे।


Write Your Comments Here:


img

दुबई में आयोजित योग सम्मेलन में देव संंस्कृति विश्वविद्यालय की भागीदारी

श्रीराम योग सोसाइटी एवं साधना वे योग सेण्टर कनाडा द्वारा देव संस्कृति विश्वविद्यालय हरिद्वार के सहयोग से दुबई में दो.....

img

ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय में ‘फेथ इन लीडरशिप’ के अध्ययन- प्रोत्साहन के लिए केन्द्र का शुभारम्भ

ऑक्सफोर्ड  विश्वविद्यालय ‘नेतृत्व में आध्यात्मिक निष्ठा’ को प्रोत्साहित करने के लिए देव संस्कृति विश्वविद्यालय के साथ मिलकर कार्यक्रम चलाएगा। यह.....

img

लिथुआनिया पहुँची गुरुज्ञान की लाल मशाल

 अपने लंदन और यूरोप के दौरे में दे० सं० वि० वि० के प्रति कुलपति डॉ. चिन्मय पंड्या जी ने बाल्टिक समुद्र के पास स्थित लिथुआनिया देश का दौरा किया जिसमे अनेक महत्वपूर्ण उपलब्धियाँ के पुष्पगुच्छ उन्होंने दिवाली के पावन पर्व.....


Warning: Unknown: write failed: No space left on device (28) in Unknown on line 0

Warning: Unknown: Failed to write session data (files). Please verify that the current setting of session.save_path is correct (/var/lib/php/sessions) in Unknown on line 0