देहरादून में आयोजित उत्तराखंड राज्य योग प्रतियोगिता में देसंविवि के विद्यार्थियों ने कई पदक जीता। १७ से २१ आयु वर्ग के महिला वर्ग में बीएससी की सबरजीत कौर ने गोल्ड मेडल जीता। वहीं दिलराज कौर, अनुसूया नरवरे, श्लोक, राजेश, बृजेश आदि ने भी अपने-अपने आयु वर्ग में पदक जीते। इसमें रुड़की, मसूरी, टिहरी, देहरादून व हरिद्वार सहित विभिन्न स्थानों के २०० से अधिक प्रतिभागियों ने भाग लिया था।

विद्यार्थियों की इस सफलता के लिए देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के कुलाधिपति डॉ. प्रणव पण्ड्या व शैलदीदी ने उन्हें बधाइयाँ दी और कहा कि योग से तन, मन सुदृढ़ होता है। योग अनुशासित जीवन का पर्याय है। इसके दो आधार हैं- तकनीक व जीवन शैली। जब यह सधता है, तो जीवन में चमत्कार होते है एवं व्यक्तित्व खिलता है।

प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्या के अनुसार देवसंस्कृति विश्वविद्यालय ने अपने बारह वर्ष की अल्प अवस्था में योग के क्षेत्र में कई कीर्तिमान स्थापित किये हैं। यहाँ के विद्यार्थियों ने कई अंतर्राष्ट्रीय एवं राष्ट्रीय स्तर पर योग का प्रदर्शन कर देसंविवि का नाम योग के क्षितिज में कई नगीने गढ़े हैं।





Write Your Comments Here:


img

गृह मंत्री अमित शाह बोले- वर्तमान एजुकेशन सिस्टम हमें बौद्धिक विकास दे सकता है, पर आध्यात्मिक शांति नहीं दे सकता

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि हम उन गतिविधियों का समर्थन करते हैं जो हमारे देश की संस्कृति और सनातन धर्म को प्रोत्साहित करती हैं। पिछले 50 वर्षों की अवधि में, हम हम सुधारेंगे तो युग बदलेगा वाक्य.....

img

शान्तिकुञ्ज में 75वाँ स्वतंत्रता दिवस उत्साहपूर्वक मनाया गया

प्रसिद्ध आध्यात्मिक संस्थान गायत्री तीर्थ शांतिकुंज, देव संस्कृति विश्वविद्यालय एवं गायत्री विद्यापीठ में 75वाँ स्वतंत्रता दिवस उत्साह पूर्वक मनाया गया। शांतिकुंज में गायत्री परिवार प्रमुख एवं  देव संस्कृति विश्वविद्यालय के कुलाधिपति  श्रद्धेय डॉक्टर प्रणव पंड्या जी तथा संस्था की अधिष्ठात्री.....