Published on 2018-10-03 HARDWAR
img

हरिद्वार 2 अक्टूबर।

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के सपनों का भारत बनाने के लिए गायत्री परिवार ने आज से एक विशेष अभियान का शुभारंभ किया। गांधीजी की 150वीं जन्म जयंती के अवसर पर शांतिकुंज ने व्यसन मुक्ति रैली निकाली, तो वहीं उत्तरी हरिद्वार के गंगा तटों पर सैकड़ों पीतवस्त्रधारी नर-नारियों ने कई ट्रेक्टर ट्राली कूड़े कचरे एकत्रित किया। साथ ही अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. प्रणव पण्ड्या ने मुख्य सभागार में उपस्थित हजारों नर-नारियों को व्यसन मुक्त व स्वच्छ भारत के लिए संकल्प कराया।
               
शांतिकुंज के मुख्य सभागार में आयोजित सभा को संबोधित करते हुए अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या ने कहा कि दो महापुरुषों का जन्मदिन है 2 अक्टूबर। दोनों ने भारत के वर्तमान स्वरूप की संरचना बनाने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई। अपने-अपने स्थान पर दोनों नकी भूमिका महत्त्वपूर्ण रही। एक की आजादी के पूर्व और एक की आजादी के बाद। हमें उन्हें याद करना चाहिए। आज के दिन एवं अपने भावसुमन अर्पित करना चाहिए। प्रज्ञा अभियान के संपादक श्री वीरेश्वर उपाध्याय ने कहा कि अहिंसा के पूजारी रहे राष्ट्रपिता ने भारत को दुनिया के सिरमौर के रूप में स्थापित करना चाहते थे। उन्होंने गरीबी से राहत दिलाने, महिलाओं के अधिकारों का विस्तार, धार्मिक एवं जातीय एकता का निर्माण व आत्मनिर्भरता के लिये अस्पृश्यता के विरोध में अनेकों कार्यक्रम चलाये। गायत्री परिवार ने आज उनके सपनों का भारत बनाने की दिशा आगे बढ़ रहा है। व्यवस्थापक श्री शिवप्रसाद मिश्र ने कहा कि भारत को स्वच्छ बनाने में सभी अपनी भागीदारी सुनिश्चित करें।

                इससे पूर्व राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री श्री लाल बहादुर शास्त्री व युगऋषि पं. श्रीराम शर्मा आचार्य जी के चित्रों पर माल्यार्पण कर भावभीनी श्रद्धांजलि दी। इस अवसर पर श्रद्धेय डॉ. पण्ड्या ने उपस्थित जन समुदाय को व्यसन मुक्त, संस्कार युक्त, स्वस्थ स्वावलंबी, भारत बनाने हेतु चलाये जा रहे अभियानों में शामिल होने एवं उसे गति देने के लिए संकल्पित कराया। इसके साथ ही देश के 400 जिलों के गायत्री परिवारके लाखों नर-नारियों ने भी अपना संकल्प दोहराया।              

मंगलवार की पहली किरण के साथ गायत्री परिवार द्वारा चलाये रहे नशा भारत छोडो अभियान का शंखनाद हुआ। शांतिकुंज के गेट नं 3 से व्यसन मुक्ति रैली निकाली, जिसे व्यवस्थापक श्री शिवप्रसाद मिश्र, श्री केसरी कपिल, डॉ. बृजमोहन गौड, श्री कालीचरण शर्मा आदि ने वरिष्ठ जनों ने संयुक्त रूप से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। रैली में व्यसन मुक्त भारत, पर्यावरण संतुलन बनाने की दिशा में लोगों को जागरुक किया गया। इसमें शांतिकुंज के अंतेवासी कार्यकर्ता भाई-बहिन एवं देश के कोने-कोने से आये साधकों ने भाग लिया। रैली सप्तऋषि आश्रम, गीता कुटीर, हरिपुर कलॉ, देसंविवि होते हुए वापस युगऋषि के समाधि स्थल पहुँची।             

  वहीं सायं उत्तरी हरिद्वार के गंगा तटों की सफाई कर कई ट्रेक्टर ट्राली कचरे एकत्रित किया गया, जिसे निर्धारित स्थान में पहुँचा दिया गया। इसके साथ ही प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के आवाहन पर 15 सितंबर से चलाये जा रहे स्वच्छता ही सेवा पखवाड़ा का आज समापन हो गया। शांतिकुंज व देव संस्कृति विश्वविद्यालय परिवार ने प्रारंभ से अब तक नियमित रूप से दो घंटे तक उत्तरी हरिद्वार के विभिन्न क्षेत्रों में सफाई अभियान चलाया। इसमें सैकड़ों लोगों की नियमित रूप से भागीदारी रहती थी।     

वहीं देसंविवि व गायत्री विद्यापीठ में भी गांधी जयंती पर विशेष कार्यक्रम आयोजित हुए।


Write Your Comments Here:


img

अर्जित ज्ञान का सदुपयोग मानवता की भलाई के लिए होना चाहिए

पीएच.डी. की उपाधि प्राप्त कर रहे स्नातकों को देव संस्कृति विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति जी का संदेशवर्धा। महाराष्ट्र : देव संस्कृति विश्वविद्यालय, हरिद्वार के प्रतिकुलपति आदरणीय डॉ. चिन्मय पण्ड्या जी 14 जनवरी 2023 को वर्धा में जय महाकाली शिक्षण संस्था, अग्निहोत्री ग्रुप अॉफ इंस्टीट्यूशंस द्वारा आयोजित.....

img

दिल्ली में मंत्री, सांसद एवं गणमान्यों से भेंट

देव संस्कृति विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति आदरणीय डॉ. चिन्मय जी दिनांक 5 जनवरी 2023 को दिल्ली पहुँचे। वहाँ उन्होंने भारत सरकार के अनेक मंत्री एवं सांसदों से भेंट की। उनके साथ वर्तमान सामाजिक परिस्थितियों के संदर्भ में चर्चा हुई, उन्हें परम पूज्य गुरूदेव के संकल्प,.....

img

गुजरात के राज्यपाल से प्राकृतिक खेती को बढ़ावा देने पर चर्चा हुई

13 जनवरी 2023 को अपने गुजरात प्रवास में आदरणीय डॉ. चिन्मय पण्ड्या जी गाँधीनगर स्थित राजभवन में राज्यपाल माननीय आचार्य देवव्रत जी से भेंट करने पहुँचे। शान्तिकुञ्ज की ओर से उन्हें पूज्य गुरूदेव का साहित्य भेंट किया। इस अवसर पर माननीय राज्यपाल जी से प्राकृतिक कृषि को बढ़ावा.....