Published on 2018-10-20 HARDWAR

हरिद्वार २० अक्टूबर।

विश्व प्रसिद्ध जैन संत डॉ. लोकेश मुनि शनिवार को प्रातः गायत्री तीर्थ शांतिकुंज पहुँचे। वे यहाँ अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. प्रणव पण्ड्याजी से विभिन्न विषयों पर विचार-विमर्श किया। करीब १५ मिनट तक हुई इस चर्चा में समाज के दोनों अग्रणी संतों ने समाज व युवाओं के गिरते मानसिक स्वास्थ्य पर चिंता व्यक्त की।

इस अवसर पर गायत्री परिवार प्रमुख श्रद्धेय डॉ. पण्ड्याजी ने कहा कि गायत्री परिवार व अहिंसा विश्व भारती ने युवाओं के वैचारिक उत्थान के लिए काम रहा है। हम चाहते हैं कि आने वाले दिनों में एक ऐसा समाज का निर्माण हो, जहाँ सुसंस्कारिता एवं प्यार, सहकार से रहने वालों का एक विराट् परिवार हो। जिसमें मानव मात्र एक समान का भाव हो। गायत्री परिवार के संस्थापक पूज्य पं. श्रीराम शर्मा आचार्य जी ने सम्पूर्ण समाज को ईश्वर का एक ऐसा बगिचा मानते थे, जिसका हर अंग समान रूप से विकसित हो।

भारत समाज रत्न अवार्ड से सम्मानित आचार्य डॉ. लोकेश मुनि ने कहा कि व्यसन मुक्ति, गंगा स्वच्छता से लेकर राष्ट्र निर्माण के कार्य में जो निष्काम सेवा कार्य जो गायत्री परिवार कर रहा है, ऐसा ठोस कार्य करने वाला पूरे विश्व में कोई और संगठन दिखाई नहीं देता। व्यापक स्तर पर जो कार्य हो रहे हैं, इसे लेकर मेरा विचार है कि पं. श्रीराम शर्मा आचार्य जी सच्चे भारत रत्न थे। उन्होंने कहा कि डॉ. पण्ड्या जी ने विनम्र भाव से राज्यसभा की सदस्यता को छोड़कर संत समाज ही नहीं, पूरे विश्व में एक मिसाल कायम की है। मेरे गुरु आचार्य तुलसी जी और पूज्य श्रीराम शर्मा आचार्य जी दोनों ने ही व्यक्ति निर्माण से विश्व निर्माण की बुनियादी बात करते थे। आज दोनों संस्थान उनके इसी कार्य को आगे बढ़ा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जो कार्य सरकारें करोड़ों रुपये खर्च कर नहीं सकतीं, वह कार्य शांतिकुंज में डॉ. पण्ड्या जी के मार्गदर्शन में निष्काम भाव से हो रहा है। इससे पूर्व डॉ. पण्ड्याजी ने डॉ लोकेश मुनि को युगसाहित्य व उपवस्त्र भेंटकर सम्मानित किया।


Write Your Comments Here:


img

गायत्री परिवार प्रमुखद्वय से मार्गदर्शन ले गंगा सेवा मंडल प्रशिक्षण टोली रवाना

हरिद्वार १४ नवंबर।अखिल विश्व गायत्री परिवार द्वारा संचालित निर्मल गंगा जन अभियान के अंतर्गत संगठित गंगा सेवा मंडलों के प्रशिक्षण हेतु बुधवार को पांच सदस्यीय एक टोली शांतिकुंज से रवाना हुई। ये टोली बिजनौर से लेकर उन्नाव तक के शहरों.....

img

देसंविवि में शौर्य दीवार का हुआ अनावरण

संस्कृति के नायकों व राष्ट्र भक्तों के कारण भारत अक्षुण्ण ः राज्यपालयुवा पीढ़ी के लिए एक नई आजादी की आवश्यकता ः डॉ. पण्ड्याहरिद्वार 10 नवंबर।देवभूमि के राज्यपाल श्रीमती बेबी रानी मौर्य ने कहा कि विश्व भर में सेना के अदम्य.....

img

गायत्री विद्यापीठ के बच्चों ने फटाखा व चीनी वस्तुओं के विरोध में निकाली रैली

शांतिकुंज व देसंविवि ने हर्षाेल्लास से मनाई धन्वन्तरि जयंतीपटाखा नहीं छोड़ने एवं प्रदूषणमुक्त दिवाली मनाने का लिया संकल्पहरिद्वार 5 नवंबर।देवसंस्कृति विश्वविद्यालय स्थित फार्मेसी एवं शांतिकुंज के मुख्य सभागार में आयुर्वेद के प्रवर्तक भगवान धन्वन्तरि की जयंती आयुर्वेद के विकास में.....