Published on 2018-10-23 HARDWAR
img

इस वर्ष देश भर में होंगे शक्ति संवर्धन गायत्री महायज्ञ

गायत्री तीर्थ शांतिकुंज से ८ टीमें रवाना

हरिद्वार २३ अक्टूबर।
देश भर में शांतिकुंज के नेतृत्व में शक्ति संवर्धन गायत्री महायज्ञ की शृंखलाबद्ध आयोजन होंगे। यह आयोजन दशहरा के बाद से प्रारंभ होकर अप्रैल के मध्य तक संचालित होंगे। इसके संचालन के लिए गायत्री तीर्थ से वरिष्ठ प्रतिनिधियों के अगुवाई में आठ टीमें रवाना हुई। टीम सदस्यों को गायत्री परिवार प्रमुखद्वय डॉ. प्रणव पण्ड्याजी एवं शैलदीदीजी ने मंगल तिलक कर विदाई दी।

टीम की विदाई देते हुए गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. प्रणव पण्ड्याजी ने कहा कि भारतीय संस्कृति का आधार यज्ञ पिता व गायत्री माता है। इन दोनों की समन्वयक शक्ति से ही राष्ट्र का उत्थान संभव है। इसी उद्देश्य को लेकर इस वर्ष शक्ति संवर्धन गायत्री महायज्ञ का शृंखलाबद्ध आयोजित हो रहा है। उन्होंने कहा कि इससे एक ओर जहाँ सामूहिक ऊर्जा उत्पन्न होगी, तो वहीं दूसरी ओर युवा वर्ग में भारतीय संस्कृति के प्रति सकारात्मक सोच विकसित होगी। शैलदीदी ने टीम के सदस्यों का मंगल तिलक व उपवस्त्र भेंटकर विदाई दी।

केन्द्रीय कार्यक्रम विभाग से मिली जानकारी के वरिष्ठ प्रतिनिधियों के नेतृत्व में आठ टीमें आज रवाना हुईं। प्रत्येक टीम में पाँच सदस्य होंगे। शृंखलाबद्ध आयोजित होने वाले इस आयोजन में जम्मू कश्मीर से कन्याकुमारी तक प्रायः सभी राज्यों में शक्ति संवर्धन गायत्री महायज्ञ का आयोजन होगा। महायज्ञ के दौरान २४ से लेकर १०८ कुण्डीय गायत्री महायज्ञ का संचालन करेंगे। इसके साथ ही टीम लोगों को समाज के उत्थान में कार्य करने के लिए प्रेरित व संकल्पित करायेगी। इस वर्ष होने वाले इन महायज्ञों को शक्ति संवर्धन से जोड़ा गया है, इन यज्ञों में भाग लेने वाले सभी याजकों से राष्ट्रोत्थान के लिए विशेष साधनाओं का क्रम रखा गया है। साथ ही गृहे- गृहे गायत्री यज्ञ, गृहे- गृहे गायत्री उपासना की अवधारणाओं के साथ अनेक स्थानों में प्रत्येक रविवार को एक साथ व एक समय में कई घरों में यज्ञायोजन रखा जाता है।


Write Your Comments Here:


img

अर्जित ज्ञान का सदुपयोग मानवता की भलाई के लिए होना चाहिए

पीएच.डी. की उपाधि प्राप्त कर रहे स्नातकों को देव संस्कृति विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति जी का संदेशवर्धा। महाराष्ट्र : देव संस्कृति विश्वविद्यालय, हरिद्वार के प्रतिकुलपति आदरणीय डॉ. चिन्मय पण्ड्या जी 14 जनवरी 2023 को वर्धा में जय महाकाली शिक्षण संस्था, अग्निहोत्री ग्रुप अॉफ इंस्टीट्यूशंस द्वारा आयोजित.....

img

दिल्ली में मंत्री, सांसद एवं गणमान्यों से भेंट

देव संस्कृति विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति आदरणीय डॉ. चिन्मय जी दिनांक 5 जनवरी 2023 को दिल्ली पहुँचे। वहाँ उन्होंने भारत सरकार के अनेक मंत्री एवं सांसदों से भेंट की। उनके साथ वर्तमान सामाजिक परिस्थितियों के संदर्भ में चर्चा हुई, उन्हें परम पूज्य गुरूदेव के संकल्प,.....

img

गुजरात के राज्यपाल से प्राकृतिक खेती को बढ़ावा देने पर चर्चा हुई

13 जनवरी 2023 को अपने गुजरात प्रवास में आदरणीय डॉ. चिन्मय पण्ड्या जी गाँधीनगर स्थित राजभवन में राज्यपाल माननीय आचार्य देवव्रत जी से भेंट करने पहुँचे। शान्तिकुञ्ज की ओर से उन्हें पूज्य गुरूदेव का साहित्य भेंट किया। इस अवसर पर माननीय राज्यपाल जी से प्राकृतिक कृषि को बढ़ावा.....