Published on 2018-10-24 HARDWAR

हरिद्वार, २४ अक्टूबर।

भारतीय वायुसेना के 'दिशा' कार्यक्रम के अंतर्गत देव संस्कृति विश्वविद्यालय में एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन हुआ। कार्यशाला सैद्धांतिक व व्यावहारिक दो चरण में सम्पन्न हुआ।

प्रथम चरण में भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर श्री गोयल तथा स्कुएड्रेन लीडर अनुपम कुमार ने भारतीय वायुसेना के इतिहास तथा उसकी क्षमता के बारे में विद्यार्थियों को विस्तार से जानकारी दी। वायु सेना के अधिकारियों ने युवाओं में वायुसेना के प्रति जागरूकता एवं भविष्य में खुलने वाले तमाम अवसरों के बारे में विस्तारपूर्वक बताया। उन्होंने बताया कि युवा यू.पी.एस.सी., एन.डी.ए., एन.सी.सी.के साथ-साथ इंजीनियरिंग शाखाओं आदि के माध्यम से भारतीय वायुसेना से जुड़ सकते है। वायुसेना में पायलट के साथ-साथ ग्राउंड डयूटी, प्रशासनिक, लेखा विभाग में भी तमाम अवसर युवाओं के लिए उपलब्ध है। इस अवसर पर विद्यार्थियों के विविध जिज्ञासाओं का समाधान किया।

दूसरे चरण में विद्यार्थियों ने वायुसेना से जुड़ी अपनी शंकाओं एवं जिज्ञासाओं का समाधान वायुसेना के अधिकारियों से प्राप्त किया। विद्यार्थियों की जिज्ञासाओं को शांत करते हुए एवं उन्हें प्रोत्साहित करने के लिए वायुसेना के कार्यक्रम दिशा के अंतर्गत विद्यार्थियों को विभिन्न लड़ाकू विमान की कार्य प्रणाली, पायलट के कर्तव्य तथा उनकी वर्दी तथा अन्य तकनीकी के बारे में बताया। देसंविवि के युवाओं के लगन, मेहनत, तर्क शक्ति का प्रशंसा करते हुए सेना के अधिकारियों ने इसे विकसित राष्ट्र भारत के लिए महत्त्वपूर्ण बताया। कहा कि जिस तरह देसंविवि में युवाओं को तैयार किया जा रहा है, इसके लिए केवल विद्यार्थी ही नहीं, बल्कि यहाँ के पूरा प्रशासन बधाई के पात्र हैं। सेना के अधिकारियों ने सवाल-जवाब प्रतियोगिता में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले विद्यार्थियों को प्रमाण पत्र तथा पुरस्कार देकर सम्मानित किया।


Write Your Comments Here:


img

अर्जित ज्ञान का सदुपयोग मानवता की भलाई के लिए होना चाहिए

पीएच.डी. की उपाधि प्राप्त कर रहे स्नातकों को देव संस्कृति विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति जी का संदेशवर्धा। महाराष्ट्र : देव संस्कृति विश्वविद्यालय, हरिद्वार के प्रतिकुलपति आदरणीय डॉ. चिन्मय पण्ड्या जी 14 जनवरी 2023 को वर्धा में जय महाकाली शिक्षण संस्था, अग्निहोत्री ग्रुप अॉफ इंस्टीट्यूशंस द्वारा आयोजित.....

img

दिल्ली में मंत्री, सांसद एवं गणमान्यों से भेंट

देव संस्कृति विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति आदरणीय डॉ. चिन्मय जी दिनांक 5 जनवरी 2023 को दिल्ली पहुँचे। वहाँ उन्होंने भारत सरकार के अनेक मंत्री एवं सांसदों से भेंट की। उनके साथ वर्तमान सामाजिक परिस्थितियों के संदर्भ में चर्चा हुई, उन्हें परम पूज्य गुरूदेव के संकल्प,.....

img

गुजरात के राज्यपाल से प्राकृतिक खेती को बढ़ावा देने पर चर्चा हुई

13 जनवरी 2023 को अपने गुजरात प्रवास में आदरणीय डॉ. चिन्मय पण्ड्या जी गाँधीनगर स्थित राजभवन में राज्यपाल माननीय आचार्य देवव्रत जी से भेंट करने पहुँचे। शान्तिकुञ्ज की ओर से उन्हें पूज्य गुरूदेव का साहित्य भेंट किया। इस अवसर पर माननीय राज्यपाल जी से प्राकृतिक कृषि को बढ़ावा.....