Published on 2018-10-25 HARDWAR

शांतिकुंज में आंध्र प्रदेश व तेलंगाना प्रदेश के 350 से अधिक भाई-बहिनों का विशेष साधना सत्र की शुरुआत हुई। व्यवस्थापक श्री शिवप्रसाद मिश्र, दक्षिण भारत जोन प्रभारी डॉ. बृजमोहन गौड़, जोनल प्रभारी श्री कालीचरण शर्मा, दक्षिण भारत जोन संयोजक श्री अश्विनी सुब्बाराव ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलन कर किया।

                शिविर के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए व्यवस्थापक श्री शिवप्रसाद मिश्र ने कहा कि राष्ट्र जागरण के लिए पुरोहितों की महती आवश्यकता होती है। पुरोहित वह है, जो दूसरों के कष्ट-कठिनाइयों, समस्याओं का निष्काम भाव से समाधान ढूँढ़ें एवं उसे आगे बढने के लिए सतत प्रेरित करें। उन्होंने कहा कि समाज आज विकट समस्याओं से जूझ रहा है। ऐसे समय में उन लोगों की जरूरत है, जो समाज, राष्ट्र को आगे बढ़ाने में अपनी क्षमता का निःस्वार्थ भाव से अधिक से अधिक उपयोग कर सकें। उन्होंने कहा कि प्राचीनकाल में कुलपुरोहित, राजपुरोहित व राष्ट्र पुरोहित होते थे और जो अपने यजमान, समाज, राज्य व राष्ट्र के उत्थान के लिए सदैव प्रयत्नशील रहते थे। आज पुनः उस परंपरा को पुनर्जीवित करने का समय आ गया है। दक्षिण भारत जोन प्रभारी डॉ. बृजमोहन गौड़ ने कहा कि परिवर्तन के इस वेला में साधना से ही हमारा तन स्वस्थ व मन शुद्ध रह पायेगा। परिवार से ऊपर उठकर समाज व राष्ट्र के लिए अपना योगदान देना चाहिए। जोनल समन्वयक श्री कालीचरण शर्मा ने कहा कि पूज्यवर पं. श्रीराम शर्मा आचार्य जी के बताये सूत्रों का पालन व सत्साहित्यों का नियमित अध्ययन से वैचारिक शक्ति बढ़ती है।


Write Your Comments Here:


img

अर्जित ज्ञान का सदुपयोग मानवता की भलाई के लिए होना चाहिए

पीएच.डी. की उपाधि प्राप्त कर रहे स्नातकों को देव संस्कृति विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति जी का संदेशवर्धा। महाराष्ट्र : देव संस्कृति विश्वविद्यालय, हरिद्वार के प्रतिकुलपति आदरणीय डॉ. चिन्मय पण्ड्या जी 14 जनवरी 2023 को वर्धा में जय महाकाली शिक्षण संस्था, अग्निहोत्री ग्रुप अॉफ इंस्टीट्यूशंस द्वारा आयोजित.....

img

दिल्ली में मंत्री, सांसद एवं गणमान्यों से भेंट

देव संस्कृति विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति आदरणीय डॉ. चिन्मय जी दिनांक 5 जनवरी 2023 को दिल्ली पहुँचे। वहाँ उन्होंने भारत सरकार के अनेक मंत्री एवं सांसदों से भेंट की। उनके साथ वर्तमान सामाजिक परिस्थितियों के संदर्भ में चर्चा हुई, उन्हें परम पूज्य गुरूदेव के संकल्प,.....

img

गुजरात के राज्यपाल से प्राकृतिक खेती को बढ़ावा देने पर चर्चा हुई

13 जनवरी 2023 को अपने गुजरात प्रवास में आदरणीय डॉ. चिन्मय पण्ड्या जी गाँधीनगर स्थित राजभवन में राज्यपाल माननीय आचार्य देवव्रत जी से भेंट करने पहुँचे। शान्तिकुञ्ज की ओर से उन्हें पूज्य गुरूदेव का साहित्य भेंट किया। इस अवसर पर माननीय राज्यपाल जी से प्राकृतिक कृषि को बढ़ावा.....