Published on 2018-12-02 HARDWAR

कौशाम्बी: अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज हरिद्वार के तत्वावधान में नशा मुक्त भारत अभियान रथ का कौशाम्बी जिले में आगमन 30 नवंबर को हुआ है। यह रथ वीडियो फिल्मों के माध्यम से युवाओं को व्यसनमुक्ति का संकल्प दिलाने एवं जागरूक करने हेतु देशभर में भ्रमण कर रहा है। शुक्रवार को यह रथ का आगमन भरवारी नगर में प्रातः 09 बजे हुआ। जहां विभिन्न विद्यालयों में छात्र-छात्राओं को व्यसन से सम्बंधित जागरूक किया गया साथ ही साथ उन्हें शॉर्ट फिल्म के माध्यम से शराब, तम्बाकू समेत अन्य व्यसनों के दुष्प्रभावों को समझाया गया और व्यसन से दूर रहने हेतु संकल्प दिलाया गया।

राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी के १५०वीं जन्म जयंती से प्रारंभ होने वाले व्यसन मुक्त स्वर्णिम भारत रथ यात्रा का शुभारंभ हुआ। इसके लिए शांतिकुंज से आठ राज्यों के लिए चार रथों को अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. प्रणव पण्ड्या ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। पहला रथ नागपुर, दूसरा रथ सुल्तानपुर, तीसरा रथ मोतीहारी और चौथा रथ रेवाड़ी से प्रारंभ हुआ।


इस अवसर पर गायत्री परिवार कौशाम्बी से सुरेश चंद्र जी ने कहा कि व्यसन विनाश का जड़ है। ईश्वर ने मनुष्य को अनेक दुर्लभ विभूतियाँ प्रदान की है। जिससे वे मनुष्यता का कर्तव्य निभा सके। उन्होंने कहा कि प्रकृति का मुकुटमणि मनुष्य दुर्बुद्धि के कुचक्र में फंस कर अपनी दुर्लभ क्षमताओं को व्यसन, नशे में बर्बाद कर रहा है। यही समझदारों की नासमझी है। छोटे बच्चों से लेकर उच्च विद्यालय, महाविद्यालय में अध्ययनरत देश के भविष्य युवा आज नशे के चपेट में है। जिससे उनके परिवार के साथ समाज का आर्थिक हानि हो रही है। गायत्री परिवार इस रथ के माध्यम से युवापीढ़ी सहित सभी वर्ग के लोगों को व्यसन से मुक्त रहने के लिए प्रेरित करेगा।


Write Your Comments Here:


img

गुरु पूर्णिमा पर्व प्रयाज

गुरु पूर्णिमा पर्व पर online वेब स्वाध्याय के  कार्यक्रम इस प्रकार रहेंगे समस्त कार्यक्रम freeconferencecall  मोबाइल app से होंगे ID : webwsadhyay रहेगा 1 गुरुवार  ७ जुलाई २०२२ : कर्मकांड भास्कर से गुरु पूर्णिमा.....

img

ऑनलाइन योग सप्ताह आयोजन द्वादश योग :गायत्री योग

परम पूज्य गुरुदेव द्वारा लिखित पुस्तक  गायत्री योग, जिसके अंतर्गत द्वादश योग की चर्चा की गई है, का ऑनलाइन वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से पांच दिवसीय कार्यक्रम आयोजित किया गया| इस कार्यक्रम में विशेष आकर्षण वीडियो कांफ्रेंस.....

img

गृह मंत्री अमित शाह बोले- वर्तमान एजुकेशन सिस्टम हमें बौद्धिक विकास दे सकता है, पर आध्यात्मिक शांति नहीं दे सकता

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि हम उन गतिविधियों का समर्थन करते हैं जो हमारे देश की संस्कृति और सनातन धर्म को प्रोत्साहित करती हैं। पिछले 50 वर्षों की अवधि में, हम हम सुधारेंगे तो युग बदलेगा वाक्य.....