Published on 2018-12-16 HARDWAR

हरिद्वार 13 दिसम्बर।

गायत्री विद्यापीठ शांतिकुंज के अपने नाम एक और कीर्तिमान स्थापित किया। ये उपलब्धि उन्होंने विगत दिनों गाजियाबाद में हुए जोनल स्तरीय बैण्ड प्रतियोगिता में बालक वर्ग ने दूसरा व बालिका वर्ग ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। उल्लेखनीय है कि विद्यापीठ के इन छात्र-छात्राओं ने राज्य स्तर पर प्रथम स्थान प्राप्त कर उत्तराखण्ड की ओर प्रतिनिधित्व किया था। दूसरा व तीसरा स्थान प्राप्त करने पर आयोजक मण्डल ने ट्राफी व नगद पुरस्कार भेंटकर उत्तराखंड की टीम को पुरस्कृत किया। बालक व बालिका बैण्ड में 25-25 सदस्य थे।

                बैण्ड टीम के विद्यार्थियों ने वापस लौटने के बाद अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुखद्वय श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या एवं श्रद्धेया शैलदीदी से भेंटकर आशीष लिया। इस अवसर पर प्रमुखद्वय ने छात्र-छात्राओं का उत्साहवर्धन करते हुए कहा कि लगन व मेहनत से ही सफलता प्राप्त की जाती है।

                देसंविवि के प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्या, शांतिकुंज व्यवस्थापक श्री शिवप्रसाद मिश्र, लेखाविभाग प्रभारी व ट्रस्टी श्री हरीशभाई ठक्कर, विद्यापीठ की चेयनपर्सन श्रीमती शेफाली पण्ड्या, प्रधानाचार्य श्री सीताराम सिन्हा, बैण्ड टीम के कोच श्री सोमेश्वर ताण्डी आदि ने बैण्ड टीम को बधाई दी।


Write Your Comments Here:


img

देसंविवि व गायत्री विद्यापीठ को अंतर्राष्ट्रीय योगा महोत्सव में स्वर्ण पदक सहित नौ पदक

गायत्री परिवार प्रमुखद्वय ने विजेताओं को दिया आशीषहरिद्वार, 12 जनवरी।पुडूचेरी में हुए 25वें अंतरराष्ट्रीय योगा महोत्सव में हरिद्वार स्थित देवसंस्कृति विश्वविद्यालय ने कई पदक जीतकर उत्तराखण्ड का नाम एक बार फिर रोशन किया है। प्रतियोगिता में देसंविवि ने चार स्वर्ण.....

img

देसंविवि के 391 विद्यार्थी नेपाल सहित देश के 16 राज्यों में परिव्रज्या के लिए रवाना

इंटर्नशिप संभावनाओं को अवसर में बदलने का सुअवसर: श्रद्धेय डॉ पण्ड्यादेसंविवि युवा प्रयागराज कुंभ में चलायेंगे जन जागरण अभियानहरिद्वार, ९ जनवरी।देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के स्नातक एवं स्नातकोत्तर के अंतिम वर्ष के विद्यार्थियों के लिए बुधवार की पहली किरण एक नया संदेश.....

img

कुंभ का आमंत्रण देने शांतिकुंज पहुँचे उप्र के केबीनेट मंत्री श्री टंडन

हरिद्वार 4 जनवरी।उप्र के चिकित्सा, शिक्षा और तकनीकी शिक्षा मंत्री श्री आंशुतोष टंडन अपने सहयोगियों के साथ गायत्री तीर्थ शांतिकुंज पहुँचे। यहाँ उन्होंने गायत्री परिवार प्रमुख श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या एवं देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के कुलाधिपति डॉ. चिन्मय पण्ड्या से भेंंटकर.....