Published on 2019-02-09
img


देव संस्कृति विश्वविद्यालय के स्रातक एवं स्रातकोत्तर पाठ्यक्रमों के अंतिम वर्ष के 391 विद्यार्थी कुलाधिपति श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या जी एवं स्नेहसलिला श्रद्धेया शैल जीजी के आाशीर्वादों के साथ एक मासीय परिवीक्षा के लिए रवाना हुए। श्रद्धेय डॉ. साहब एवं श्रद्धेया जीजी ने उन्हें सामाजिक जीवन में सफलता और सावधानियों के बहुमूल्य सूत्र दिये। उन्होने कहा कि इंटर्नशिप संभावनाओं को साकार करने का सुनहरा अवसर है। अनुभव से ही व्यक्तित्व में गुणात्मक निखार आया। श्रद्धेय डॉ. साहब ने कहा कि परम पूज्य गुरुदेव एवं परम वंदनीया माताजी के संदेशवाहक बनकर समाज की सेवा करना बड़े सौभाग्य की बात है। समाज आपको उसी दृष्टि से सम्मान देता है और आपके व्यक्तित्व में उन्हीं की परछाई तलाशता है। इस सम्मान और आकांक्षाओं की कसौटी पर खरे उतरना ही आपकी सबसे बड़ी परीक्षा है इससे पूर्व इंटर्नशिप पर जा रहे विद्यार्थियों का दो दिवसीय विशेष प्रशिक्षण शिविर आयोजित हुआ। इसे शांतिकुंज व्यवस्थापक श्री शिवप्रसाद मिश्र, श्री कालीचरण शर्मा, कुलपति श्री शरद पारधी आदि वरिष्ठ कार्यकर्त्ताओं ने भी संबोधित किया।


Write Your Comments Here:


img

Webinor युग सृजेता युवा संगम

गायत्री परिवार ट्रस्ट, पचपेड़वा, बलरामपुर यू पी मे webinor का कार्यक्रम संजय कुमार ( ट्रस्टी) के आवास पर संपन्न कराया गया. लगभग 15 युवाओं तथा 10 वरिष्ठ परिजनों ने इस webinor मे भाग लिया......

img

अभी तो

अभी तो मथने को सारा समुंद्र बाकी है,अभी तो रचने को नया संसार बाकी है,।अभी प्रकृति ने जना कहां नया विश्व है ?अभी तो गढ़ने को नया इंसान बाकी है।।अभी तो विजय को सारा रण बाकी है,अभी तो करने.....

img

सभी बढें हैं

सभी बड़े हैं ,सभी चले हैं गुरुवर तेरी राहों में।तरह तरह के फूल खिले हैं ,गुरुवर तेरी छांव ।।तपती हुई रेत थी नीचे, ऊपर जेठी घाम थीदुनिया में तो चहु ओर से मिली तपिश है आग की ,आकर मिली हिमालय.....