Published on 2019-02-08 HARDWAR

गायत्री परिवार के प्रमुख से लेकर बच्चों ने लिया भाग

कुल सात खेलों में शांतिकुंज के अंतेवासियों ने किया प्रतिभाग

 

हरिद्वार 8 फरवरी।

गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिन तक चले खेल महोत्सव का आज समापन हो गया। इस समारोह में शारीरिक क्षमता के विकास पर आधारित कुल सात खेलों का आयोजन किया गया। इस समारोह में 18 से 87 आयुवर्ग के शांतिकुंज मे अंतेःवासी कार्यकर्त्ता के अलावा देवसंस्कृति विवि एवं ब्रह्मवर्चस शोध संस्थान के डॉक्टर्स व वैज्ञानिकों ने भागीदारी की।

                इसके अंतर्गत कबड्डी, रस्साकसी, खो-खो, कार्ड थ्रो, बॉलीवॉल, लंबीकूद, गोला फेंक में खिलाड़ियों ने अपने कौशल दिखाये। कबड्डी में कुँवरलाल की टीम ने रामदास की टीम को हराया। रस्साकस्सी में शिवचरण की टीम ने जमुना विश्वकर्मा की टीम से जीत दर्ज की। खो-खो में मानसाय व दयाराम की टीम अतिरिक्त समय में भी ड्रा खेली। दोनों को संयुक्त रूप से विजेता घोषित किया गया। सात दशक के अधिक आयु वर्ग के कार्ड थ्रो में श्री कपिल केसरी जी ने दस मीटर से अधिक दूरी में कार्ड फेंककर प्रथम स्थान प्राप्त किया, तो वहीं दयाशंकर जी ने नौ मीटर के स्थान दूसरा स्थान प्राप्त किया। बॉलीबाल में रजनीश गौड़ की टीम ने विष्णु मित्तल की टीम को 21-18, 18-21, 15-20 से हराया। वहीं बॉलीवॉल के मैत्री मैच देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्या एवं शांतिकुंज मनीषी श्री वीरेश्वर उपाध्याय की टीम के बीच रोचक मुकाबला हुआ। लंबीकूद में जग्गूलाल गढ़तिया ने चार मीटर की छलांग लगाकर प्रथम स्थान प्राप्त किया, तो वहीं द्वितीय स्थान पर रहे गणेश पँवार साढ़े तीन मीटर ही छलांग पाये। जुनियर वर्ग के लंबीकूद में रमेश कुमार प्रथम तथा वंशीलाल ने द्वितीय स्थान पर रहे। गोलाफेंक में अजय त्रिपाठी को प्रथम व महेश राठौर को दूसरा स्थान मिला।

                गायत्री परिवार प्रमुखद्वय डॉ. प्रणव पण्ड्या व शैलदीदी ने सभी खिलाड़ियों को उत्साहवर्धन किया। आयोजन समिति के अनुसार तीन दिन चले इन खेलों में शांतिकुंज, देसंविवि व ब्रह्मवर्चस के अंतेवासी कार्यकर्ताओं ने प्रतिभाग किया।


Write Your Comments Here:


img

स्वामी सत्यमित्रानंद जी संत समुदाय के लिए थे आदर्श - डॉ. पण्ड्या

हरिद्वार २५ जून। पूर्व शंकराचार्य व पद्मभूषण स्वामी सत्यमित्रानंद गिरि जी महाराज का अचानक स्वर्गलोक जाना कभी नहीं भरने वाला अपार क्षति है। वे आध्यात्मिक जगत में एक दैदीप्यमान सूर्य की तरह थे। स्वामी जी संत समुदाय.....

img

माउण्ट केदार डोम में तिरंगा फहराकर लौटा दल

विगत 15 साल का रिकार्ड टूटा, कूड़ा-कचरा पीठ में ढोकर नीचे लाये हरिद्वार 22 जून।थल सेना के जवानों के साथ देवसंस्कृति विश्वविद्यालय का एक दल ने करीब 22 हजार 5 सौ फीट की ऊंचाई पर स्थित माउण्ट केदार डोम.....

img

केबीनेट मंत्री डॉ. निशंक पहुँचे शांतिकुंज

हरिद्वार 15 जून।केबीनेट मंत्री बनने के बाद पहली बार केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ. रमेशचन्द्र पोखरियाल निशंक शुक्रवार को देर सायं शांतिकुंज पहुँचे। इस अवसर पर वरिष्ठ कार्यकत्ताओं ने उनका पुष्पाहार से स्वागत किया। इसके पश्चात् वे अखिल विश्व.....