Published on 2019-02-23 PULWAMA
img

पुलवामा में हुए आतंकी हमले के समाचार मिलते ही देश के नागरिकों की तरह गायत्री परिवार के परिजनों में भी एक ओर भरपूर आक्रोश दिखाई दिया तो वहीं शहीदों के परिवारों के प्रति संवेदनाएँ भी छलकीं। पूरे देश में सक्रिय शाखाओं ने अपनी-अपनी तरह से श्रद्धांजलि कार्यक्रम आयोजित किए।
लखनऊ (उत्तर प्रदेश) के युवा संगठन ने घटना के दिन 14 फरवरी को रात को ही 9 बजे से 9 बजकर 5 मिनट तक 5 मिनट की मौन मानसिक प्रार्थना करते हुए शहीद सैनिकों को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की।
गायत्री शक्तिपीठ नवादा (झारखंड) पर सीआपीएफ के जवानों के बलिदान को याद किया गया। उनकी आत्मशांति मिले, उनके परिवारी जनों को इस आघात को सहने का संबल मिले ऐसी प्रार्थना की गई। 50 लोगों ने भाग लिया, एक घंटे का सामूहिक जप किया।
गायत्री परिवार यूथ ग्रुप कोलकाता (प. बंगाल) ने अपना 17 फरवरी को खेलों का कार्यक्रम रद्द कर लिलुआ रेलवे कॉलोनी में शहीदों के नाम से वृक्ष लगाने का निश्चय किया।
दिया, मुम्बई (महाराष्ट्र) ने अपने संपर्क के हजारों लोगों को संदेश भेजकर दोपहर 12 बजे एक साथ 2 मिनट का मौन रखते हुए शहीदों को श्रद्धांजलि दी।
लखीमपुर (उत्तर प्रदेश) शाखा ने 15 फरवरी को अमर जवान शहीद स्मारक, कचहरी, लखीमपुर पर सायं 4 से 5 बजे तक सामूहिक जप रखा। तत्पश्चात् शहीदों की याद में दीपयज्ञ कर श्रद्धांजलि दी।
मध्य प्रदेश के प्रांतीय युवा संगठन ने 15 फरवरी की सायं 6 बजे पूरे प्रांत की सभी शक्तिपीठ-शाखाओं से 2 मिनट के मौन के साथ श्रद्धांजलि कार्यक्रम आयोजित करने का अह्वान किया।
शांतिकुंज के कार्यकर्त्ताओं एवं सभी शिविरार्थियों ने यहाँ चल रहे नियमित यज्ञ में विशेष आहुतियाँ प्रदान करते हुए शहीदों को आत्मशांति मिले, उनके परिवारी जनों को आघात को सहने की शक्ति मिले, सेना का मनोबल बढ़े, ऐसी प्रार्थना की।
देसंविवि में गीता की नियमित कक्षाओं के बीच विश्वविद्यालय परिवार ने शहीदों को श्रद्धांजलि दी।
चंडीगढ़ में आयोजित एक पुस्तक विमोचन के कार्यक्रम में श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या जी एवं समस्त सभा ने शहीद हुए सैनिकों को भावभरी श्रद्धांजलि दी।


Write Your Comments Here:


img

anganwadi स्कूल मैं जाके गायत्री मंत्र और गायत्री माँ के चम्त्कार् के बारे मैं बताया

मैं यशवीन् मैंने आज राजस्थान के barmer के बालोतरा मैं anganwadi स्कूल मैं जाके गायत्री माँ के बारे मैं बच्चों को जागरूक किया और वेद माता के कुछ बातें बताई और महा मंत्र गायत्री का जाप कराया जिसे आने वाले.....

img

युग निर्माण हेतु भावी पीढ़ी में सुसंस्कारों की आवश्यकता जिसकी आधारशिला है भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा -शांतिकुंज प्रतिनिधि आ.रामयश तिवारी जी

वाराणसी व मऊ उपजोन की *संगोष्ठी गायत्री शक्तिपीठ,लंका,वाराणसी के पावन प्रांगण में संपन्न* हुई।जहां ज्ञान गंगा की गंगोत्री,*महाकाल का घोंसला,मानव गढ़ने की टकसाल एवं हम सभी के प्राण का केंद्र अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज,हरिद्वार* से पधारे युगऋषि के अग्रज.....

img

Yoga Day celebration

Yoga day celebration in Dharampur taluka district ValsadGaytri pariwar Dharampur.....