Published on 2019-03-18 HARDWAR

उत्सव वह जो अपने अंदर उल्लास भर दे - श्रद्धेय डॉ. पण्ड्या

हरिद्वार 17 मार्च।देवसंस्कृति विवि के कुलाधिपति डॉ. प्रणव पण्ड्या ने विश्वविद्यालय की कुलपताका फहराकर 17 वें वार्षिकोत्सव का शुभारंभ किया। इस अवसर पर डॉ. पण्ड्या ने तीन दिवसीय उत्सव-19 के दौरान होने वाले विभिन्न खेलों एवं सांस्कृतिक प्रतियोगिताओं को सौहाद्रपूर्ण वातावरण में समस्त नियम-मर्यादाओं के साथ खेलने हेतु हाथ उठाकर शपथ दिलाई। पश्चात गणतंत्र दिवस के राष्ट्रीय परेड से भाग लेकर लौटी प्राची अग्रवाल व दिव्यांशी सूर्यवंशी ने मशाल लेकर पूरे मैदान की परिक्रमा की।
                कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए कुलाधिपति डॉ. प्रणव पण्ड्या ने कहा कि रंगों के त्योहार होली से पूर्व हो रहे यह उत्सव कई मायने में महत्वपूर्ण है। वासंती उल्लास के साथ मनाया जा रहा इस उत्सव का रंग हमारे जीवन में भी दिखना चाहिए। उन्होंने कहा कि खेल जीवन का अंग है। पढ़ाई के साथ-साथ खेलों में रुचि रखना चाहिए। जिससे मन के साथ तन को सुदृढ़ता बनाये रखने में सहयोग मिला है। उन्होंने प्रकृति के साथ साहचर्य बनाये रखने से प्रकृति भी हमारे साथ देती है, जिससे तन, मन, प्रफुल्लित रहता है। उन्होंने कहा कि अपने साथ-साथ अपने सहपाठी, मित्र के जीवन में भी वासंती उल्लास पैदा करें। उन्होंने जोर देकर कहा कि राष्ट्रीयता की भावना से ओत प्रोत ऐसे उत्सवों का आयोजन होना चाहिए जिनसे राष्ट्र प्रेम एवं देश के विकास में सहयोग मिले। खेलों से हमें लोगों को जोड़ने की कोशिश करनी चाहिए। उन्होंने देसंविवि में मिलिट्री साइंस प्रारंभ की इच्छा जताई।
                उत्सव-१९ के उद्घाटन सत्र में कुलाधिपति एकादश व छात्र एकादश के बीच 16-16 ओवर के मैत्री क्रिकेट मैच खेला गया जिसमें कुलाधिपति डॉ पण्ड्या, कुलपति श्री शरद पारधी, प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्या एवं कुलसचिव बलदाऊ देवांगन आदि ने हिस्सा लेते हुए 8 विकेट में 132 रन बनाये। जबाव में छात्र एकादश के दो विकेट के नुकसान पर 11.3 ओवर में ही 133 रन बनाकर मैच जीत दर्ज की। छात्र एकादश के कप्तान आलोक परमार, ऋषभ साहू, ओमकार व यशदीप सरकार ने कई आकर्षक शाट लगाये।
                सांस्कृतिक प्रतियोगिता प्रभारी डॉ. शिवनारायण प्रसाद ने बताया कि सांस्कृतिक प्रतियोगिता के अंतर्गत शास्त्रीय गायन, शास्त्रीय नृत्य, सुगम संगीत एवं नृत्य प्रतियोगिता में विद्यार्थियों ने अपनी प्रतिभा दिखाई। खेल अधिकारी नरेन्द्र सिंह ने बताया कि छात्र-छात्राओं का अलग-अलग वर्ग में क्रिकेट, कबड्डी, खो-खो, हेमर थ्रो, बॉलीबाल, फूटबॉल, चक्का फेंक आदि खेलों का आयोजन होगा। इनमें से कुछ तो राज्य व राष्ट्रीय स्तर पर प्रदर्शन कर चुके हैं। प्रथम दिन हुए छात्र वर्ग के 800 मीटर दौड़ में आयन सिंह को प्रथम तथा आशीष पॅवार को दूसरा स्थान मिला। वहीं महिला वर्ग में प्राची अग्रवाल ने पहला व तान्या कण्डपाल ने दूसरे स्थान पर रहे। स्टाफ सदस्यों के पचास से अधिक आयु वर्ग के दौड़ में अजय त्रिपाठी, शिवनारायण प्रसाद क्रमशः पहला व दूसरा स्थान प्राप्त किया। वहीं पचास से कम आयु वर्ग में राकेश वर्मा प्रथम तथा अरविन्द कुमार दूसरे स्थान पर रहे। खो-खो (छात्रा वर्ग) में मास्टर्स की टीम ने बैचलर्स की टीम को हराकर प्रथम स्थान प्राप्त किया। वालीबाल व अन्य खेलों में भी विद्यार्थियों ने दमखम दिखाया।


Write Your Comments Here:


img

पूरे विश्व में 2,40,000 घरों में एक दिन, एक साथ विभिन्न स्थानों पर सामूहिक एक कुण्डीय यज्ञो का आयोजन

दिनांक-  02 जून 2019लक्ष्य-    (1)  सम्पूर्ण विश्व मे एक साथ- एक समय 2,40,000 घरों में यज्ञ - उपासनाउद्देश्य-     (1)  घर-घर गायत्री महाविद्या का तत्वदर्शन पहुँचाना, देव  स्थापना एवं नियमित उपासना।   (2)  अखण्ड ज्योति/प्रज्ञा पाक्षिक के पाठक/ ग्राहकों में वृद्धि .....

img

देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के 17वें वार्षिकोत्सव का पुरस्कार वितरण एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम

प्राची एवं शाहनाजी दौड़ में रहे अव्वलकुलाधिपति ने विजयी खिलाड़ियों को किया पुरस्कृतसेवन स्टोन, कबड्डी, लंबी कूद, टीटी, जूडो आदि खेलों में खिलाड़ियों ने दिखाया दमखमहरिद्वार 19 मार्च।देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के 17वें वार्षिकोत्सव का पुरस्कार वितरण एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ.....

img

वीर सैनिकों व शहीदों की स्मृति में प्रारंभ हुआ विशेष महायज्ञ

भारत को जगद्गुरु बनाना हो, तो गायत्री की करनी होगी साधना ः स्वामी सत्यमित्रानंद गिरिभारत पुनः अखण्ड भारत बनकर रहेगा ः डॉ. पण्ड्याहरिद्वार 9 मार्च।देवभूमि हरिद्वार में सनातन आर्य हिन्दू धर्म संस्कृति की मृत्युंजयी परंपरा, जीवन मूल्य और सनातन सिद्धांतों.....