Published on 2019-03-26 HARDWAR

प्रज्ञा संस्थानों के मजबूत होने से संगठन होगा और अधिक मजबूत
देशभर के प्रज्ञा संस्थानों के जिला समन्वयक, जोनल प्रभारी सम्मिलित
हरिद्वार 25 मार्च।

गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में देशभर के प्रज्ञा संस्थानों के जिला समन्वयक व जोनल प्रभारियों की 4 दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का शुभारंभ हुआ। संगोष्ठी में मप्र, गुजरात, राजस्थान, बिहार, दिल्ली, झारखण्ड सहित 22 राज्यों के पाँच सौ से अधिक प्रतिभागी शामिल हैं।
                प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए केन्द्रीय जोनल समन्वयक श्री कालीचरण शर्मा ने कहा कि गायत्री परिवार के संस्थापक पूज्य आचार्यश्री ने देश भर में फैले प्रज्ञा संस्थानों के माध्यम से नारी जागरण, युवा जागरण सहित विभिन्न रचनात्मक कार्यक्रमों को गति देने हेतु बनवाया है। अब तक हमारे प्रज्ञा संस्थानों ने इस दिशा में अपने दायित्वों का बखूबी निर्वहन किया है। वर्तमान परिप्रेक्ष्य में रचनात्मक व सुधारात्मक कार्यक्रमों को और अधिक गति देनी है। श्री शर्मा ने कहा कि व्यक्तित्व के निर्माण, समर्पण से ही भगवत कृपा प्राप्त होती हैं। विचार क्रांति अभियान के संगठन हेतु योग्यता, अनुभव, प्रशिक्षण एवं कौशल की आवश्यकता होती है और प्रशिक्षण, संगोष्ठी से ही इन गुणों का विकास होता है। श्री शर्मा ने कार्यकर्त्ता प्रशिक्षण की विस्तृत रूपरेखा की जानकारी दी। शांतिकुंज के वरिष्ठ कार्यकर्त्ता श्री वीरेश्वर उपाध्याय ने कहा कि संघबद्ध होकर कार्य करने से बड़े से बड़ा कार्य सहज ढंग से किया जा सकता है। उन्होंने विविध उदाहरणों के माध्यम से गायत्री परिवार द्वारा किये जा रहे आयोजनों को वर्तमान समय की महती आवश्यकता बताया। प्रज्ञा अभियान के संपादक श्री उपाध्याय ने कहा कि आत्म परिष्कार से ही परिवार, समाज व राष्ट्र का निर्माण संभव है। वरिष्ठ कार्यकर्ता श्री केसरी कपिल ने प्रज्ञा संस्थानों में भी रचनात्मक गतिविधियाँ चलाने व साधना आदि का प्रशिक्षण सत्र चलाने पर बल दिया। शिविर समन्यक के अनुसार इस संगोष्ठी में देश भर के 450 जिलों के प्रतिनिधि प्रतिभाग कर रहे हैं। संगोष्ठी में अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. प्रणव पण्ड्या सहित अनेक विषय विशेषज्ञ 18 अलग-अलग विषयों पर संबोधित करेंगे।


Write Your Comments Here:


img

प्राणियों, वनस्पतियों व पारिस्थितिक तंत्र के अधिकारों की रक्षा हेतु गायत्री परिवार से विनम्र आव्हान/अनुरोध

हम विश्वास दिलाते हैं की जीव, जगत, वनस्पति व पारिस्थितिकी तंत्र के व्यापक हित में उसके अधिकार को वापस दिलवाना ही हमारा एकमात्र उद्देश्य और मिशन है| जलवायु संकट की वर्तमान स्थिति को ध्यान में रखते हुए तथा जीव-जगत को.....

img

प्राणियों, वनस्पतियों व पारिस्थितिक तंत्र के अधिकारों की रक्षा हेतु गायत्री परिवार से विनम्र आव्हान/अनुरोध

हम विश्वास दिलाते हैं की जीव, जगत, वनस्पति व पारिस्थितिकी तंत्र के व्यापक हित में उसके अधिकार को वापस दिलवाना ही हमारा एकमात्र उद्देश्य और मिशन है| जलवायु संकट की वर्तमान स्थिति को ध्यान में रखते हुए तथा जीव-जगत को.....

img

गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन

क्षमता का विकास करने का सर्वोत्तम समय युवावस्था - डॉ पण्ड्याराष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के युवाओं को तीन दिवसीय सम्मेलन का समापनहरिद्वार 17 अगस्त।गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में तीन दिवसीय युवा सम्मेलन का आज समापन हो गया। इस सम्मेलन में राष्ट्रीय राजधानी.....