Published on 2019-06-02

दो हजार से अधिक स्थानों पर गुंजा गायत्री महामंत्र,  हजारों लोगों ने अर्पित की आहुतियां

जयपुर। अखिल विश्व गायत्री परिवार, शांतिकुंज हरिद्वार के संस्थापक वेदमूर्ति पण्डित श्रीराम शर्मा आचार्य के महाप्रयाण दिवस पर रविवार को  छोटी काशी के गायत्री शक्ति पीठ, 24 चेतना केंद्रों और दर्जनों प्रज्ञा मंडलों में दिन भर विभिन्न धार्मिक आयोजन हुए। ब्रह्मपुरी स्थित गायत्री शक्ति पीठ में मुख्य आयोजन हुआ। यहां पंच कुंडीय गायत्री महायज्ञ के साथ पंडित श्रीराम शर्मा आचार्य महाप्रयाण दिवस के उपलक्ष्य में  विश्व कल्याण की कामना के साथ आहुतियां अर्पित की गई। इस अवसर पर  घरों, मंदिरों, सामुदायिक केंद्रों तथा सार्वजनिक स्थानों पर गृहे-गृहे गायत्री यज्ञ अभियान के अन्तर्गत जयपुर जिले में  दो हजार से अधिक स्थानों पर गायत्री यज्ञ हुआ। ब्रह्मपुरी के गायत्री शक्तिपीठ के अलावा मानसरोवर, वैशाली नगर , दुर्गापुरा, बनीपार्क, गांधीनगर, विद्याधर नगर, प्रताप नगर, मालवीय नगर के चेतना केंद्रों के माध्यम से  108-108 स्थानों पर यज्ञ किया गया। यज्ञ से पूर्व वेदमाता गायत्री, गुरु सत्ता का षोडशोपचार पूजन किया गया।  प्रज्ञा गीतों ने वातावरण को भक्तिमय बना दिया। कई स्थानों पर गायत्री यज्ञ के माध्यम से पुंसवन, नामकरण, विद्यारंभ, जन्मदिवस, विवाह दिवस सहित विभिन्न संस्कार भी  संपन्न हुए। यज्ञ की पूर्णाहुति में अनेक लोगों ने एक बुराई छोड़ने और एक अच्छाई ग्रहण करने का संकल्प लिया। सभी उपस्थित श्रद्धालुओं से पत्रक भरवाए गए। बैनाड़ रोड दौलतपुरा गांव के बी एल मेमोरियल स्कूल में राजेश सैनी ने गायत्री यज्ञ के दौरान कहा कि वेदमाता गायत्री और यज्ञ भगवान भारतीय संस्कृति के माता-पिता हैं। इनका आश्रय लेकर कोई भी व्यक्ति अपना और दूसरों का कल्याण कर सकता है। मुख्य यजमान डॉ महेश सैनी ने पूजा अर्चना की। रणवीर सिंह चौधरी , भेरूलाल जाट, सतीश भाटी, ओम प्रकाश अग्रवाल, हर्ष मिश्रा, भक्त भूषण वर्मा, गायत्री कचोलिया, विभा अग्रवाल, नीलम वर्मा, मीनाक्षी बघेल, सुशील शर्मा, डॉ प्रशांत शर्मा ,   भोजराज पारीक, महेश शर्मा, भगवान सहाय वर्मा ने अलग अलग स्थानों पर यज्ञ का संचालन किया। गायत्री परिवार राजस्थान जोन के प्रभारी अंबिका प्रसाद श्रीवास्तव ने सभी गायत्री परिजनों का आभार व्यक्त किया। उल्लेखनीय है कि 2 जून 1990 को अखिल विश्व गायत्री परिवार के संस्थापक पंडित श्रीराम शर्मा आचार्य का महाप्रयाण हुआ था। इस उपलक्ष में शांतिकुंज हरिद्वार की ओर से विश्व के विभिन्न देशों सहित भारत में एक ही दिन सुबह 9:00 बजे से 11:00 बजे तक 240000 घरों में गायत्री यज्ञ का लक्ष्य रखा था। यह अभियान 2026 तक चलेगा जिसके अंतर्गत एक करोड़ नए घरों में गायत्री यज्ञ संपन्न करवाया जाएगा।



Write Your Comments Here:


img

Meeting

Up Jon Gwalior ki meting.....

img

पुरस्कार वितरण समारोह

मुज़फ्फ़रनगर। उत्तर प्रदेश जिले का भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा पुरस्कार वितरण समारोह 11 अगस्त को नौ कुण्डीय गायत्री महायज्ञ के.....