Published on 2019-07-13 HARDWAR
img

पर्वतारोही दल ने आध्यात्मिक ऊर्जा के केन्द्र गोमुख, तपोवन, कीर्ति ग्लेशियर, भोजवासा की सफाई भी की


थल सेना के जवान और देवसंस्कृति विश्वविद्यालय का एक दल करीब 22,500 फीट की ऊँचाई पर स्थित माउण्ट केदार डोम में तिरंगा व देसंविवि का ध्वज फहरा कर लौटा। इस दल ने माइनस 32 डिग्री हाड़ जमा देने वाली ठंड में न केवल कीर्तिमान स्थापित किया, बल्कि गोमुख, तपोवन, कीर्ति ग्लेशियर, भोजवासा आदि आध्यात्मिक ऊर्जा केन्द्रों की सफाई कर देवात्मा हिमालय की स्वच्छता- पवित्रता बनाये रखने का संदेश दिया। दल के सकुशल शांतिकुंज लौटने पर श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या जी एवं श्रद्धेया शैल दीदी ने गायत्री मंत्र का उपवस्त्र ओढ़ाकर एवं युगसाहित्य भेंट कर दल के सभी सदस्यों का स्वागत- अभिनंदन किया।

मेजर विकास शुक्ला के नेतृत्व में 24 सदस्यीय यह दल 19 मई को युगतीर्थ शांतिकुंज की दिव्य चेतना एवं प्रेरणा को हृदयंगम करते हुए रवाना हुआ था। मेजर विकास शुक्ला के अनुसार कार्य आसान नहीं था। सन् 2005 के बाद कोई भी दल माउण्ट केदार डोम पर ध्वज फहराकर सकुशल नहीं लौटा था। उनके दल की यह सफलता असाधारण थी। दल ने माउण्ट केदार पर तिरंगा, देव संस्कृति विवि. एवं सेना के ध्वज फहराने के बाद आध्यात्मिक महत्त्व के केन्द्रों की सफाई की। यह दल अपने साथ पाँच बोरे कचरा अपने कंधे पर ढोकर नीचे लाया।
इस दल के 14 सदस्य माउण्ट केदार डोम तक पहुँचे। इनमें अहमदनगर (महाराष्ट्र), जोधपुर व सूरतगढ़ (राजस्थान) में तैनात सेना के जवान तथा देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के नरेन्द्र गिरि शामिल रहे।


Write Your Comments Here:


img

देसंविवि भूमिका एवं राम खिलाड़ी की सर्वश्रेष्ठ पेपर प्रस्तुति

नेपाल के अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में सम्मानित हुए विद्यार्थीत्रभुवन विश्वविद्यालय, काठमाण्डू (नेपाल) में ‘‘ग्लोबल इनिशियेटिव इन एग्रीकल्चरल एण्ड एप्लाईड साइंसेज फॉर इको फ्रेंडली इन्वायरमेंट’’ पर एक अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन हुआ। इसमें देव संस्कृति विश्वविद्यालय के मेडिसिन प्लान्ट विभाग के विद्यार्थी भूमिका वार्ष्णेय.....

img

गायत्री परिवार से प्रभावित हुए मॉरिशस के राष्ट्रपति

इन दिनों मॉरिशस में सक्रिय शान्तिकुञ्ज प्रतिनिधि श्री शांतिलाल पटेल एवं नागमणि शर्मा की मॉरिशस के राष्ट्रपति महामहिम परमासिवम पिल्लै व्यापूरी से उनके ली रिड्यूट स्थित आवास स्टेट हाउस में हुई। इस अवसर पर शान्तिकुञ्ज प्रतिनिधियों ने राष्ट्रपति महोदय को.....

img

देव संस्कृति विश्वविद्यालय की अंतरराष्ट्रीय प्रतिष्ठा में जुड़ा नया अध्याय

देव संस्कृति विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्या जी 24 जून को कुचिंग में थे। वहाँ दो प्रमुख विश्वविद्यालयों के प्रमुख अधिकारियों के साथ उनकी चर्चा हुई। दोनों ही देव संस्कृति विवि. के उदात्त दृष्टिकोण और अद्वितीय शिक्षा योजनाओं से.....