Published on 2019-08-06

देव संस्कृति विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्या जी 24 जून को कुचिंग में थे। वहाँ दो प्रमुख विश्वविद्यालयों के प्रमुख अधिकारियों के साथ उनकी चर्चा हुई। दोनों ही देव संस्कृति विवि. के उदात्त दृष्टिकोण और अद्वितीय शिक्षा योजनाओं से बहुत प्रभावित हुए। उनके साथ अनेक क्षेत्रों में सहयोग और समझौतों की संभावनाएँ बनी हैं।


स्विनबर्न विश्वविद्यालय, कुचिंग में
कुचिंग में पहला कार्यक्रम स्विनबर्न, कुचिंग विश्वविद्यालय में था। वहाँ उपकुपति डॉ. जॉन एवं स्कूल आॅफ रिसर्च की निदेशक डॉ. हैदी कोलिन ने देसंविवि के प्रतिकुलपति का स्वागत किया।
तत्पश्चात् शान्तिकुञ्ज प्रतिनिधि ने पावर पॉइण्ट के सहयोग से विवि. के सभागार में ‘मानवीय उत्कर्ष’ विषय पर उद्बोधन दिया। उन्होंने आध्यात्मिक जीवन और मानवीय चेतना की एक- एक परत पर पड़ने वाले अध्यात्म के प्रभावों की इतनी सुन्दर एवं विज्ञानसम्मत व्याख्या की कि सभी श्रोता गद्गद हो गये। प्रश्नोत्तरी का लम्बा क्रम चला। डॉ. जॉन एवं डॉ. हैदी सहित सभी अध्यात्म के मानवतावादी स्वरूप का परिचय पाकर सभी बहुत संतुष्ट हुए।
आरंभ में डॉ. हैदी कोलिन ने देसंविवि के प्रतिकुलपति का परिचय कराया। समापन वेला में वे श्रोताओं की प्रतिक्रियाओं को शान्तिकुञ्ज प्रतिनिधियों के साथ साझा करते हुए गद्गद थीं। इस अवसर पर परस्पर सम्मान के क्रम में डॉ. जॉन ने शान्तिकुञ्ज प्रतिनिधि को विवि. का स्मृति चिह्न भेंट किया, वहीं डॉ. चिन्मय जी ने दोनों अधिकारियों को युगऋषि के साहित्य सहित देसंविवि में बने जूट के बैग उपहार में दिये।

स्विनबर्न विवि., मेलबॉर्न के प्रतिकुलपति से वार्ता
हिल्टन होटल, सारवाक, कुचिंग में दोपहर के समय स्विनबर्ग विवि. मेलबॉर्न के प्रतिकुलपति डॉ. अजय कपूर के साथ वार्ता निर्धारित थी। दोनों के बीच परस्पर कई क्षेत्रों में सहयोग की संभावनाओं पर विस्तार से चर्चा हुई। इस संदर्भ में दोनों ही बहुत उत्साहित थे। डॉ. अजय कपूर ने शीघ्र ही देसंविवि आने का आश्वासन दिया। उनकी इस मुलाकात के साथ कई विषयों पर एमओयू होने की पृष्ठभूमि तैयार हो गई है।


Write Your Comments Here:


img

देसंविवि भूमिका एवं राम खिलाड़ी की सर्वश्रेष्ठ पेपर प्रस्तुति

नेपाल के अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में सम्मानित हुए विद्यार्थीत्रभुवन विश्वविद्यालय, काठमाण्डू (नेपाल) में ‘‘ग्लोबल इनिशियेटिव इन एग्रीकल्चरल एण्ड एप्लाईड साइंसेज फॉर इको फ्रेंडली इन्वायरमेंट’’ पर एक अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन हुआ। इसमें देव संस्कृति विश्वविद्यालय के मेडिसिन प्लान्ट विभाग के विद्यार्थी भूमिका वार्ष्णेय.....

img

गायत्री परिवार से प्रभावित हुए मॉरिशस के राष्ट्रपति

इन दिनों मॉरिशस में सक्रिय शान्तिकुञ्ज प्रतिनिधि श्री शांतिलाल पटेल एवं नागमणि शर्मा की मॉरिशस के राष्ट्रपति महामहिम परमासिवम पिल्लै व्यापूरी से उनके ली रिड्यूट स्थित आवास स्टेट हाउस में हुई। इस अवसर पर शान्तिकुञ्ज प्रतिनिधियों ने राष्ट्रपति महोदय को.....

img

देव संस्कृति विश्वविद्यालय की अंतरराष्ट्रीय प्रतिष्ठा में जुड़ा नया अध्याय

देव संस्कृति विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्या जी 24 जून को कुचिंग में थे। वहाँ दो प्रमुख विश्वविद्यालयों के प्रमुख अधिकारियों के साथ उनकी चर्चा हुई। दोनों ही देव संस्कृति विवि. के उदात्त दृष्टिकोण और अद्वितीय शिक्षा योजनाओं से.....