Published on 2019-08-22
img

हजारीबाग। झारखंड


चीचीकला, हजारीबाग में 22 से 25 जुलाई तक आयोजित प्रज्ञा पुराण कथा ने अनेक लोगों को नये उत्साह और नये विचारों के साथ जीवन जीने की प्रेरणा दी। इस कार्यक्रम में दीपयज्ञ की पूर्णाहुति के समय देव दक्षिणा देते हुए बड़ी संख्या में लोगों ने नशा त्यागने और वृक्षारोपण करने के संकल्प लिये। इससे पूर्व 10 लोगों ने दीक्षा ली और कई लोगों ने देवस्थापनाएँ कराईं। पूरे गाँव में अपने गाँव को आदर्श गाँव बनाने का अभूतपूर्व उत्साह देखा गया। गायत्री परिवार के रचनात्मक आन्दोलनों को गति देने में अपने सहयोग का आश्वासन गाँववालों ने दिया।


प्रज्ञा पुराण कथा का संचालन
श्री नकुलदेव प्रसाद की टोली ने किया।
श्री रामानंद कुमार, बाबूलाल ठाकुर आदि ने कार्यक्रम को प्रभावशाली बनाने में प्रमुख योगदान दिया।


Write Your Comments Here: