Published on 2019-11-28
img

मेहगाँव, भिण्ड। मध्य प्रदेश
मेहगाँव में आयोजित चार दिवसीय 51 कुण्डीय गायत्री महायज्ञ समाचार पत्र की सुर्खियों में रहा। कारण था 340 बहिनों का सामूहिक पुंसवन संस्कार कराया जाना। इनमें शहनाज़, समीना आदि 30 महिलाएँ मुस्लिम थीं, जिन्होंने गर्भ संस्कार की वैज्ञानिकता को समझते हुए श्रेष्ठ-संस्कारवान, चरित्रवान संतति की चाह में संकीर्णताओं को छोड़ इस कार्यक्रम में भाग लिया। इस यज्ञ महोत्सव में मुण्डन, विद्यारंभ आदि अन्य संस्कार भी नि:शुल्क कराये गये। इस कार्यक्रम ने क्षेत्र में प्रगतिशील विचारधारा को प्रोत्साहित करने में महत्त्वपूर्ण योगदान दिया है।


Write Your Comments Here:


img

11 जनवरी, देहरादून। उत्तराखंड ।

दिनांक 11 जनवरी 2020 की तारीख में देव संस्कृति विश्वविद्यालय शांतिकुंज हरिद्वार के प्रतिकुलपति आदरणीय डॉक्टर चिन्मय पंड्या जी देहरादून स्थित ओएनजीसी ऑडिटोरियम में उत्तराखंड यंग लीडर्स कॉन्क्लेव 2020 कार्यक्रम में देहरादून पहुंचे जहां पर उन्होंने उत्तराखंड राज्य के विभिन्न.....

img

ज्ञानदीक्षा समारोह में लिथुआनिया सहित देश के 12 राज्यों के नवप्रवेशी विद्यार्थी हुए दीक्षित

देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के कुलाधिपति डॉ प्रणव पण्ड्या ने कहा कि जो आचरण से शिक्षा दें वही आचार्य है और ऐसे आचार्यगण ही विद्यार्थियों को चरित्रवान बना सकते हैं। डॉ. पण्ड्या ने कहा कि जिस तरह चाणक्य ने अपने ज्ञान व.....

img

ञानदीक्षा समारोह में लिथुआनिया सहित देश के 12 राज्यों के नवप्रवेशी विद्यार्थी हुए दीक्षित

देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के कुलाधिपति डॉ प्रणव पण्ड्या ने कहा कि जो आचरण से शिक्षा दें वही आचार्य है और ऐसे आचार्यगण ही विद्यार्थियों को चरित्रवान बना सकते हैं। डॉ. पण्ड्या ने कहा कि जिस तरह चाणक्य ने अपने ज्ञान व.....