Published on 2020-01-25 HYDERABAD

अखिल विश्व गायत्री परिवार द्वारा वर्तमान युग के देवासुर संग्राम में देव संस्कृति को पूरे विश्व में पुन: प्रतिष्ठित करने के लिए पूरे विश्व में आश्वमेधिक अभियान चलाया जा रहा है। इसके अंतर्गत 2 से 5 जनवरी 2020 की तारीखों में तेलंगाना- आंध्र प्रदेश की राजधानी हैदराबाद- सिकंदराबाद स्थित मल्ला रेड्डी इंजीनियरिंग फॉर वूमेन कैंपस ३, मैसम्मागुडा ग्राम, धुल्लापल्ली रोड, कोमपल्ली में 46वाँ अश्वमेध गायत्री महायज्ञ सम्पन्न हुआ। 551 कुण्डीय गायत्री महायज्ञ के साथ सम्पन्न हुआ एक ऐसा विशाल आध्यात्मिक आयोजन, जिसमें लाखों लोगों ने भाग लिया।

पूरे वातावरण में छाई दिव्यता की अलौकिक अनुभूति तथा उत्साह- उमंग की तरंग उनके जीवन का अविस्मरणीय अध्याय बन गई। नि:संदेह यज्ञ में भाग लेने वाले प्रत्येक व्यक्ति में युगशक्ति गायत्री की बीज रूप में प्रतिष्ठा हुई जो अगले दिनों उनके जीवन में और पूरे समाज में उत्साहजनक परिवर्तन लाएगी।


Write Your Comments Here:


img

विश्वविद्यालय ने शक्तिपीठ,लंका को साहित्य प्रदर्शनी के लिए किया आमंत्रित,प्रदर्शनी में बड़ी संख्या में उमड़े विद्यार्थी

https://m.facebook.com/story.php?story_fbid=pfbid02d9i2apKibnvtMp6JLt7gvYy5xeYDc5pJpJmkmPTJK7Y9oqWeNbyj3jwgaW85m2dPl&id=100050487125471&sfnsn=wiwspmo&mibextid=RUbZ1f*31जनवरी, म.गां.काशी विद्यापीठ विश्वविद्यालय,वाराणसी।🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺अधिक फोटो देखने के लिए फेसबुक लिंक पर क्लिक करें🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺 मुझे ढूंढना है तो मेरे चित्र में नहीं,मेरे साहित्य में ढूंढो।मैं व्यक्ति नहीं विचार हूं।साहित्य.....

img

हजारों सृजन सैनिकों की उपस्थिति में संपन्न हुआ युगऋषि का आध्यात्मिक जन्मदिवस बसंत पर्व

26 जनवरी,गायत्री शक्तिपीठ,लंका। युगऋषि,वेदमूर्ति,तपोनिष्ठ पंडित श्रीराम शर्मा आचार्य जी के आध्यात्मिक जन्मदिवस बसंत पर्व संग गणतंत्र दिवस का अद्भुत संयोग* से हम सभी के उत्साह में गुणात्मक वृद्धि देखने को मिली।🌻🌻🌻🌻🌻इसी क्रम में *अपने मार्गदर्शक.....

img

गायत्री शक्तिपीठ लंका नारी जागरण प्रकोष्ठ ने स्नेहसलिला के जन्मशताब्दी वर्ष 2026 तक 1008 नई बहनों को तलाश तराश कर वंदनीय माताजी को हार रूप में पहनाने का लिया संकल्प

22 जनवरी, शक्तिपीठ, लंका। अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज हरिद्वार के तत्वावधान में निरंतर युगऋषि के सपनों का शक्तिपीठ बनने की ओर अग्रसर व प्रयासरत गायत्री.....