Published on 2020-01-28
img

अश्वमेध महायज्ञ का शुभारम्भ 11000 कलशों के साथ निकली विराट कलश यात्रा से हुआ। यह यात्रा अपैरल पार्क धुल्लापल्ली से आरंभ हुई। राज्य के मंत्री और इस महायज्ञ के प्रमुख सहयोगी श्री सी. मल्लारेड्डी ने इसे हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। तीन किलोमीटर लम्बी इस यात्रा में अनेक झाँकियाँ शामिल थीं। संभ्रांत परिवार की हजारों बहिनों तथा अमेरिका, रूस, अफ्रीका,ऑस्ट्रेलया, नेपाल आदि कई देशों से आए श्रद्धालुओं ने भी बड़ी श्रद्धा के साथ मस्तक पर कलश धारण किए। पूरा वातावरण गायत्री माता के जय- जयकारों और गायत्री मंत्र से गूँजता रहा। यज्ञ स्थल पर पहुँचने पर मंच पर उपस्थित श्रद्धेया जीजी, आदरणीया शेफाली पण्ड्या, दक्षिण जोन प्रभारी एवं इस महायज्ञ के सूत्रधार श्री ब्रजमोहन गौड़, वरिष्ठ शान्तिकुञ्ज प्रतिनिधि श्री कालीचरण शर्मा सहित पूरी यज्ञ संसद ने शंख, घंटा, घड़ियाल के दिव्य निनाद के साथ कलशों की आरती उतारी।


श्रद्धेय शैल जीजी ने अपने श्रीमुख से इस युग निर्माणी आस्था का भावभरा अभिसिंचन करते हुए कहा कि भावों को जगाए बिना भक्ति पूर्ण नहीं होती, बिना भक्ति के शांतिसंतुष्टि संभव नहीं। जिन बहिनों ने कभी अपने हाथ से पानी का गिलास उठाकर नहीं पिया, जो भाई अपना व्यवसाय छोड़कर राष्ट्र को उन्नत बनाने के लिए किए जा रहे इस महान अभियान में जी- जान से जुटे हैं। हे भगवान! उनकी झोली को अनुदान- वरदानों से भर देना।


Write Your Comments Here:


img

प्रधानमंत्री श्री मोदीजी ने वीडियो क्रांफ्रेसिंग से डॉ. पण्ड्या जी से की बातगायत्री परिवार प्रमुख ने हर संभव सहयोग करने का दिया आश्वासनहरिद्वार ३० मार्च।प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज दोपहर में वीडियो क्रांफ्रेसिंग के माध्यम से गायत्री परिवार प्रमुख.....

img

कठोर तप नहीं, छोटे- से प्रयास से ही बदल सकता है जीवन

बलिया। उत्तर प्रदेश 18 फरवरी को गायत्री शक्तिपीठ महावीर घाट पर आयोजित कार्यकर्त्ता सम्मेलन आयोजित हुआ। मुख्य वक्ता शान्तिकुञ्ज के वरिष्ठ.....