Published on 2020-02-22 HARDWAR
img

हरिद्वार 18 फरवरी। उत्तराखण्ड की यात्रा पर आये करीब दौ सौ पाकिस्तानी श्रद्धालुओं का जत्था आज गायत्री तीर्थ शांतिकुंज पहुँचा। शांतिकुंज पहुँचने पर श्रद्धालुओं ने युगऋषि पं.श्रीराम शर्मा आचार्य व माता भगवती देवी शर्मा की पावन समाधि पर श्रद्धांजलि अर्पित की। पश्चात गायत्री मंदिर एवं सन् 1926 से सतत प्रज्वलित सिद्ध अखण्ड दीपक का दर्शन कर आत्मिक शांति की प्रार्थना की।                 पाकिस्तानी श्रद्धालुओं ने माना कि गायत्री तीर्थ शांतिकुंज, हरिद्वार आकर मन को सुकून मिला। यहाँ के माहौल ने हमारी टीम को जो कुछ दिया है, वह अकल्पनीय है। वहीं शांतिकुंज कार्यकर्त्ता श्री अरुण खंडागले ने पाकिस्तानी टीम को गायत्री तीर्थ शांतिकुंज के संस्थापकद्वय पूज्य आचार्यश्री एवं माताभगवती देवी शर्मा जी द्वारा निर्देशित जीवन सूत्रों से अवगत कराया। उन्होंने कहा कि पूज्य आचार्यश्री ने मानव मात्र के जीवन विद्या का अमूल्य सूत्र दिया है। उनके द्वारा सूझाये सूत्रों को अमल करते हुए अखिल विश्व गायत्री परिवार विश्व भर में सद्बुद्धि प्रदात्री माता की आराधना एवं सत्कर्म के लिए यज्ञ जैसे पवित्र कार्य को अपनाने के लिए प्रेरित कर रहा है। इसके साथ ही शांतिकुंज एवं देवसंस्कृति विश्वविद्यालय द्वारा चलाये जा रहे विभिन्न रचनात्मक व समाजोत्थान के लिए किये जा रहे कार्यों की विस्तृत जानकारी दी।                 पाकिस्तान के सिंध प्रांत से आई टीम के मुखिया साईं युधिष्ठिर लाल ने कहा कि शांतिकुंज मानवता के लिए कार्य कर रहा है। यहाँ से जो सद्विचारों, संस्कारों का प्रवाह निकल रहा है, उससे सम्पूर्ण मानवता का नवनिर्माण संभव है। हम लोग उसी प्रवाह का पाने के लिए हरिद्वार आये हैं।


Write Your Comments Here:


img

anganwadi स्कूल मैं जाके गायत्री मंत्र और गायत्री माँ के चम्त्कार् के बारे मैं बताया

मैं यशवीन् मैंने आज राजस्थान के barmer के बालोतरा मैं anganwadi स्कूल मैं जाके गायत्री माँ के बारे मैं बच्चों को जागरूक किया और वेद माता के कुछ बातें बताई और महा मंत्र गायत्री का जाप कराया जिसे आने वाले.....

img

युग निर्माण हेतु भावी पीढ़ी में सुसंस्कारों की आवश्यकता जिसकी आधारशिला है भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा -शांतिकुंज प्रतिनिधि आ.रामयश तिवारी जी

वाराणसी व मऊ उपजोन की *संगोष्ठी गायत्री शक्तिपीठ,लंका,वाराणसी के पावन प्रांगण में संपन्न* हुई।जहां ज्ञान गंगा की गंगोत्री,*महाकाल का घोंसला,मानव गढ़ने की टकसाल एवं हम सभी के प्राण का केंद्र अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज,हरिद्वार* से पधारे युगऋषि के अग्रज.....

img

Yoga Day celebration

Yoga day celebration in Dharampur taluka district ValsadGaytri pariwar Dharampur.....