Published on 2020-03-03 HARDWAR
img

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में युवा अभ्युदय २०२० कार्यक्रम में शामिल हुए हजारों युवा

हरिद्वार 2 मार्च।

दिल्ली विश्वविद्यालय के दौलतराम ऑडिटोरियम में आयोजित युवा अभ्युदय 2020 के कार्यक्रम में राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के हजारों युवा की उपस्थिति ने दिखा दिया कि युवा अब जाग रहा है, उसे किसी प्रकार के संशय में रखना नामुमकिन है। एनसीआर के कई हजार युवाओं ने अपनी प्रतिभा को समाज व राष्ट्र के विकास में लगाने के लिए तैयार  हैं।

                इन युवाओं को संबोधित करने हरिद्वार से देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्या पहुंचे थे। उन्होंने कहा कि सद्बुद्धि की अधिष्ठात्री देवी गायत्री मनुष्य को प्रखरता, पवित्रता एवं परिष्कार के रूप में तीन विशेष प्रेरणाएँ प्रदान करती हैं। यदि जीवन में इसे उतार लिया जाय, तो मानव के रूप में महामानव, इंसान के रूप में भगवान इसी काया में दिखाई देने लगेगा। आज युवा काफी समझदार है, तर्क, तथ्य एवं प्रमाण के साथ आगे बढ़ने में विश्वास रखते हैं। राष्ट्र का युवा अब जाग रहा है। उन्होंने कहा कि मनुष्य जीवन को सही दिशा देने हेतु युवावस्था ही सबसे सुनहरा अवसर है। इस समय हम जिस किसी दिशा में चल पड़ेंगे, हमारा भविष्य उसी तरह की मंजिल पर खड़ा मिलेगा। बी अर्थात् बॉर्न (जन्म) और डी यानी डेथ (मृत्यु) ये दोनों हमारे हाथों में नहीं है, किन्तु इनके बीच सी अर्थात् च्वाइस (पसंद) हमारे हाथ में है। इसके अंतर्गत में अपनी च्वाइस को सकारात्मक दिशा में आगे बढ़ाया, तो महान बनते देख नहीं लगेगी। स्वामी विवेकानंद, स्वामी रामकृष्ण, पं. श्रीराम शर्मा आचार्यश्री आदि महापुरुषों ने अपनी च्वाइस को सकारात्मक दिशा मे आगे बढ़ाया, तो वे विश्व भर में सदैव याद रखने वाला व्यक्तित्व के रूप में सबके सामने हैं। प्रतिकुलपति ने पॉवर पाइंट प्रेजेण्टेशन के माध्यम से मनुष्य जीवन के विभिन्न पक्षों को उकेरते हुए सही दिशा में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया।


Write Your Comments Here:


img

युग निर्माण हेतु भावी पीढ़ी में सुसंस्कारों की आवश्यकता जिसकी आधारशिला है भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा -शांतिकुंज प्रतिनिधि आ.रामयश तिवारी जी

वाराणसी व मऊ उपजोन की *संगोष्ठी गायत्री शक्तिपीठ,लंका,वाराणसी के पावन प्रांगण में संपन्न* हुई।जहां ज्ञान गंगा की गंगोत्री,*महाकाल का घोंसला,मानव गढ़ने की टकसाल एवं हम सभी के प्राण का केंद्र अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज,हरिद्वार* से पधारे युगऋषि के अग्रज.....

img

गर्भवती महिलाओं की हुई गोद भराई और पुंसवन संस्कार

*वाराणसी* । गर्भवती महिलाओं व भावी संतान को स्वस्थ व संस्कारवान बनाने के उद्देश्य से भारत विकास परिषद व *गायत्री शक्तिपीठ नगवां लंका वाराणसी* के सहयोग से पुंसवन संस्कार एवं गोद भराई कार्यक्रम संपन्न हुआ। बड़ी पियरी स्थित.....

img

योग को मात्र शारीरिक व्यायाम न समझें,पूरी मानवता को संबल देने में समर्थ है योग - गायत्री शक्तिपीठ,लंका प्रतिनिधि*

🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺आज जब अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर पूरा विश्व इस दिवस को जीवंत,यादगार व प्रेरणाप्रद बनाने में जुटा था उसी समय *गायत्री शक्तिपीठ,लंका के सामने स्थित वीडीए पार्क में* शक्तिपीठ के मुख्य प्रबंध ट्रस्टी एवं स्थानीय जोन समन्वयक डॉ.रोहित गुप्ता जी.....