Published on 2021-10-30 HARDWAR
img

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि हम उन गतिविधियों का समर्थन करते हैं जो हमारे देश की संस्कृति और सनातन धर्म को प्रोत्साहित करती हैं। पिछले 50 वर्षों की अवधि में, हम "हम सुधारेंगे तो युग बदलेगा" वाक्य द्वारा लाए गए परिवर्तन को देख सकते हैं। अमित शाह ने ये बातें हरिद्वार स्थित गायत्री तीर्थ शांतिकुंज के स्वर्ण जयंती वर्ष के उपलक्ष्य में व्याख्यान माला का आयोजन पर कही।
गायत्री तीर्थ शांतिकुंज के स्वर्ण जयंती वर्ष के उपलक्ष्य में व्याख्यान माला का आयोजन किया गया। आज शनिवार को इस व्याख्यानमाला के मुख्य वक्ता केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह हैं। उन्होंने कहा वर्तमान एजुकेशन सिस्टम हमें बौद्धिक विकास और विचार दे सकता है पर यहां में आध्यात्मिक शांति नहीं दे सकता। आध्यात्मिक शांति के लिए देव संस्कृति विश्वविद्यालय जैसे विश्वविद्यालयों की आवश्यकता है, जो भारतीय सांस्कृतिक धार्मिक परंपरा और आधुनिक शिक्षा के समायोजन से मजबूत विचारशील सांस्कृतिक शिक्षा प्रदान कर रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि की गायत्री मंत्र के विधि सम्मत तरीके से नियमित लगातार उच्चारण करने से मनुष्य, देवत्व को प्राप्त करता है। यही एकमात्र रास्ता है जो मानव को महामानव बनाता है।
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि व्यक्ति में संयम और करुणा दोनों का समावेश अवश्य होना चाहिए और उसके मन में पर पीड़ा के प्रति संवेदना भी होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि हमें स्व की भावना छोड़कर हम पर सोचना और कर्म करना चाहिए। गृह मंत्री अमित शाह ने नागरिक कर्तव्यों के पालन का आवाहन करते हुए कहा कि संविधान प्रदत्त अधिकारों के लिए देश में आंदोलन तो बहुत होते हैं पर, उसी संविधान में दर्ज कर्तव्यों के पालन के लिए ना तो हम कोई आंदोलन करते हैं और ना ही उसका पालन करते हैं। उन्होंने कहा कि ऐसा विरोधाभास नहीं होना चाहिए जब हम ऐसा कर सकेंगे तभी देश को महान बना सकेंगे।
इससे पहले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह देव संस्कृति विश्वविद्यालय हरिद्वार पहुंचे। यहां शांतिकुंज प्रमुख डा प्रणव पंड्या से मुलाकात की। यहां दीप प्रज्‍ज्वलित कर कार्यक्रम की औपचारिक शुरुआत की। इस दौरान मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और देव संस्कृति विश्वविद्यालय के प्रति कुलपति डा चिन्मय पंड्या भी मौजूद रहे।


Write Your Comments Here:


img

शान्तिकुञ्ज में 75वाँ स्वतंत्रता दिवस उत्साहपूर्वक मनाया गया

प्रसिद्ध आध्यात्मिक संस्थान गायत्री तीर्थ शांतिकुंज, देव संस्कृति विश्वविद्यालय एवं गायत्री विद्यापीठ में 75वाँ स्वतंत्रता दिवस उत्साह पूर्वक मनाया गया। शांतिकुंज में गायत्री परिवार प्रमुख एवं  देव संस्कृति विश्वविद्यालय के कुलाधिपति  श्रद्धेय डॉक्टर प्रणव पंड्या जी तथा संस्था की अधिष्ठात्री.....

img

.....