Published on 2021-11-16 HOOGHLY
img

योजना : गायत्री आश्रम बैण्डेल द्वारा एक व्हॉट्सएप ग्रुप बनाया गया है, जिसमें साधक अपना पंजीयन कराते हैं। साधना के लिए पूरे प. बंगाल और समीपवर्ती झारखण्ड के 24 प्रज्ञा केन्द्र निर्धारित हैं। साधक वहाँ पहुँचकर निर्धारित संख्या में जप करते हैं। प्रत्येक साधक न्यूनतम तीन माला जप अवश्य करता है। इस प्रकार एक चरण (40 दिन) में न्यूनतम एक लाख गायत्री महामंत्र का जप अवश्य होता है। 40 दिन के पश्चात् एक केन्द्र पर सामूहिक पूर्णाहुति की जाती है। इस साधना अभियान से देश-विदेश के लोग आॅनलाइन जुड़ रहे हैं।
15 मई 2021, अक्षय तृतीया से आरम्भ हुए इस साधना अभियान में छठे चरण की पुरश्चरण साधना 3 अगस्त से आरम्भ हुई। इससे पूर्व के पाँच चरणों की पूर्णाहुति क्रमश: गायत्री आश्रम बैण्डेल में क्रमश: 20 जून को; 7 जुलाई को गायत्री मंदिर, मदन मित्रा लेन, कोलकाता में; 18 जुलाई को बेलुरमठ गायत्री शक्ति पीठ पर;  24 जुलाई को चिरकुंडा, झारखंड में; 17 अगस्त को नैहाटी गायत्री मंदिर में की गई। प्रत्येक पुरश्चरण में 250 से लेकर 450 तक साधकों ने भाग लिया। साधना महापुरश्चरण पूरे उत्साह के साथ चल रहा है।


Write Your Comments Here:


img

युग निर्माण हेतु भावी पीढ़ी में सुसंस्कारों की आवश्यकता जिसकी आधारशिला है भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा -शांतिकुंज प्रतिनिधि आ.रामयश तिवारी जी

वाराणसी व मऊ उपजोन की *संगोष्ठी गायत्री शक्तिपीठ,लंका,वाराणसी के पावन प्रांगण में संपन्न* हुई।जहां ज्ञान गंगा की गंगोत्री,*महाकाल का घोंसला,मानव गढ़ने की टकसाल एवं हम सभी के प्राण का केंद्र अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज,हरिद्वार* से पधारे युगऋषि के अग्रज.....

img

Yoga Day celebration

Yoga day celebration in Dharampur taluka district ValsadGaytri pariwar Dharampur.....

img

गर्भवती महिलाओं की हुई गोद भराई और पुंसवन संस्कार

*वाराणसी* । गर्भवती महिलाओं व भावी संतान को स्वस्थ व संस्कारवान बनाने के उद्देश्य से भारत विकास परिषद व *गायत्री शक्तिपीठ नगवां लंका वाराणसी* के सहयोग से पुंसवन संस्कार एवं गोद भराई कार्यक्रम संपन्न हुआ। बड़ी पियरी स्थित.....