Published on 2021-11-16 HOOGHLY
img

योजना : गायत्री आश्रम बैण्डेल द्वारा एक व्हॉट्सएप ग्रुप बनाया गया है, जिसमें साधक अपना पंजीयन कराते हैं। साधना के लिए पूरे प. बंगाल और समीपवर्ती झारखण्ड के 24 प्रज्ञा केन्द्र निर्धारित हैं। साधक वहाँ पहुँचकर निर्धारित संख्या में जप करते हैं। प्रत्येक साधक न्यूनतम तीन माला जप अवश्य करता है। इस प्रकार एक चरण (40 दिन) में न्यूनतम एक लाख गायत्री महामंत्र का जप अवश्य होता है। 40 दिन के पश्चात् एक केन्द्र पर सामूहिक पूर्णाहुति की जाती है। इस साधना अभियान से देश-विदेश के लोग आॅनलाइन जुड़ रहे हैं।
15 मई 2021, अक्षय तृतीया से आरम्भ हुए इस साधना अभियान में छठे चरण की पुरश्चरण साधना 3 अगस्त से आरम्भ हुई। इससे पूर्व के पाँच चरणों की पूर्णाहुति क्रमश: गायत्री आश्रम बैण्डेल में क्रमश: 20 जून को; 7 जुलाई को गायत्री मंदिर, मदन मित्रा लेन, कोलकाता में; 18 जुलाई को बेलुरमठ गायत्री शक्ति पीठ पर;  24 जुलाई को चिरकुंडा, झारखंड में; 17 अगस्त को नैहाटी गायत्री मंदिर में की गई। प्रत्येक पुरश्चरण में 250 से लेकर 450 तक साधकों ने भाग लिया। साधना महापुरश्चरण पूरे उत्साह के साथ चल रहा है।


Write Your Comments Here:


img

गायत्री परिवार कौशाम्बी के युवा प्रकोष्ठ इकाई की जनपद स्तरीय संगोष्ठी का हुआ आयोजन

गायत्री परिवार कौशाम्बी के युवा प्रकोष्ठ इकाई की जनपद स्तरीय संगोष्ठी का हुआ आयोजनयुवा प्रकोष्ठ कौशाम्बी की संगोष्ठी 16 जनवरी को ओसा में सम्पन्न हुई। कार्यक्रम की शुरुआत मुख्य अतिथि डॉ. अशोक कुमार जी के द्वारा दीप प्रज्ज्वलन से हुई।.....

img

कुशल प्रशिक्षण संग व्यक्तित्व परिष्कार का अद्भुत समन्वय

र्ष के प्रथम दिवस से प्रारंभ होकर 3 दिनों तक चलने वाले उपजोन प्रशिक्षण में वाराणसी उपजोन के सभी जनपदों से 100 से अधिक प्रशिक्षणार्थी गायत्री शक्तिपीठ नगवां,लंका,वाराणसी के दिव्य प्रांगण में प्रतिभाग लिए । जहां जोन की टोली द्वारा.....

img

सृजन साधना: युवा प्रकोष्ठ गायत्री शक्तिपीठ नगवां,लंका वाराणसी के सृजन सैनिकों द्वारा नियमित साप्ताहिक गतिविधियां सम्पन्न

                       शांतिकुंज हरिद्वार के तत्वाधान एवं गायत्री शक्तिपीठ नगवां,लंका वाराणसी के संयोजन में युवा प्रकोष्ठ द्वारा नियमित रूप से संचालित विभिन्न युवामंडलों व बाल संस्कारशालाओं की प्रमुख गतिविधियां इस प्रकार.....