Published on 2021-11-22 HARDWAR
img

इन दिनों कोविड-19 से मुक्ति के लिए पूरी दुनिया में तरह-तरह के प्रयोग किए जा रहे हैं। एम्स ऋषिकेश की डॉ. रुचि दुआ कोरोना के रोगियों पर योग और गायत्री महामंत्र के प्रभाव का अध्ययन कर रही हैं। एम्स ऋषिकेश के पी.आर.ओ. श्री हरीश थपलियाल के अनुसार मार्च महीने में यह शोध आरम्भ हुई है। इसे पूरा होने और किसी निष्कर्ष पर पहुँचने में कम से कम छ: माह का समय और लग सकता है।
योग और गायत्री मंत्र के प्रभाव पर अनेकों शोधकार्य हुए हैं। इनकी शरीर में विद्यमान मर्म बिन्दुओं के उद्दीपन, सकारात्मक हार्मोन्स के स्राव से जीवनी शक्ति संवर्धन में महत्त्वपूर्ण भूमिका है। निश्चित ही योगाभ्यास और गायत्री मंत्र के उच्चारण से नकारात्मकता दूर होती है और चिंतन में सकारात्मकता बढ़ती है। कोरोना के मरीज़ों पर इनका सकारात्मक प्रभाव सुनिश्चित है, आवश्यकता उन्हें वैज्ञानिक ढंग से प्रमाणित करने की है। डॉ. रुचि दुआ ने इस दिशा में प्रशंसनीय कदम बढ़ाया है।

आईसीएमआर से मिली अनुमति
किसी भी चिकित्सा पद्धति के मानवीय परीक्षण के लिए आईसीएमआर की अनुमति आवश्यक होती है। यह अध्ययन भी आईसीएमआर की अनुमति मिलने के बाद ही किया जा रहा है। 20 मरीज़ों का चयन कर उन्हें दो वर्गों में बाँटा गया है। 10 मरीज़ों का उपचार कोविड-19 के मानकों के अनुसार हो रहा है, जबकि अन्य 10 को इस उपचार के साथ गायत्री मंत्र का जप करने तथा योगाभ्यास के लिए कहा गया है। 14 दिनों बाद सभी का पुन: परीक्षण होता है और उनकी हालत में सुधार पर पड़ने वाले परिणामों का अध्ययन किया जा रहा है।


Write Your Comments Here:


img

युग निर्माण हेतु भावी पीढ़ी में सुसंस्कारों की आवश्यकता जिसकी आधारशिला है भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा -शांतिकुंज प्रतिनिधि आ.रामयश तिवारी जी

वाराणसी व मऊ उपजोन की *संगोष्ठी गायत्री शक्तिपीठ,लंका,वाराणसी के पावन प्रांगण में संपन्न* हुई।जहां ज्ञान गंगा की गंगोत्री,*महाकाल का घोंसला,मानव गढ़ने की टकसाल एवं हम सभी के प्राण का केंद्र अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज,हरिद्वार* से पधारे युगऋषि के अग्रज.....

img

Yoga Day celebration

Yoga day celebration in Dharampur taluka district ValsadGaytri pariwar Dharampur.....

img

गर्भवती महिलाओं की हुई गोद भराई और पुंसवन संस्कार

*वाराणसी* । गर्भवती महिलाओं व भावी संतान को स्वस्थ व संस्कारवान बनाने के उद्देश्य से भारत विकास परिषद व *गायत्री शक्तिपीठ नगवां लंका वाराणसी* के सहयोग से पुंसवन संस्कार एवं गोद भराई कार्यक्रम संपन्न हुआ। बड़ी पियरी स्थित.....