Published on 2021-12-25 VARANASI
img

सकलडीहा, चंदौली, उत्तर प्रदेश l                   उपरोक्त पंक्तियां शब्द नहीं बल्कि 33 वर्षों के पल-पल की अनुभूति है जो आज पुनः जीवंत हो उठी *जनपद चंदौली के सकलडीहा स्थित बहबलपुर ग्राम में जहां पूर्णतया नए परिजनों में प्रथम बार आयोजित 2 दिवसीय युगऋषि संदेश व गायत्री महायज्ञ में गुरुवर के कारण शरीर के विस्तार में नए सैकड़ों स्वजन समाहित हो गए और 24 स्वजन तो उनके अंग अवयव बन सृजन सैनिक की भूमिका में आने के संकल्प संग दीक्षा के रूप में युगऋषि से साझेदारी भी की।युगऋषि द्वारा प्रदत्त *वैज्ञानिक अध्यात्मवाद ने युवा भाइयों - बहनों पर वो जादू किया कि जहां आज वे आधे घण्टे भी अपने घर के धार्मिक कृत्य में अभिभावकों के निवेदन पर भी पूर्ण मनोयोग से शामिल नहीं हो पा रहे वहीं 4-4 घंटे से अधिक के तीन सत्र में बिना किसी वाह्य प्रभाव के स्वप्रेरणा से पूर्ण मनोयोग संग बने रहे।    कार्यक्रम में *संदेशवाहक की भूमिका जहां गायत्री शक्तिपीठ नगवां लंका वाराणसी के प्रतिनिधि द्वारा निभाई गई वहीं संगीत में स्थानीय उपस्थित भाई बहनों का सहयोग यह दर्शाने को पर्याप्त है कि निःस्वार्थ समर्पण संग गुरुवर की चेतना सतत कार्य करती है।*
कार्यक्रम में *बहबलपुर आयोजक मंडल के प्रेरणा उनके निकटस्थ श्रीराम युवा मंडल,स्थानीय सकलडीहा चेतना केंद्र,चंदौली, बहेड़ी,चाकियाँ,मुगलसराय व सैय्यदराजा गायत्री शक्तिपीठ के ट्रस्टियों/प्रतिनिधियों का भी स्नेह-सहयोग-आशीष-प्रार्थना प्रत्यक्ष व परोक्ष रूप से सतत बना रहा।* गुरुकृपा से सदा की भांति मिला प्रेम विदाई बेला को असह्य बनाने हेतु पर्याप्त था।
विशेष- पूरे कार्यक्रम का #live (जीवंत) प्रसारण गायत्री शक्तिपीठ,नगवां,लंका,वाराणसी के द्वारा शक्तिपीठ फेसबुक पेज पर किया गया है* जो जन जन के लिए जहां यादगार व आनंददायक है वहीं संचालक(संदेशवाहक/युगगायक)व आयोजक के लिए समीक्षा का एक बेहतर आधार भी है।


Write Your Comments Here:


img

युग निर्माण हेतु भावी पीढ़ी में सुसंस्कारों की आवश्यकता जिसकी आधारशिला है भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा -शांतिकुंज प्रतिनिधि आ.रामयश तिवारी जी

वाराणसी व मऊ उपजोन की *संगोष्ठी गायत्री शक्तिपीठ,लंका,वाराणसी के पावन प्रांगण में संपन्न* हुई।जहां ज्ञान गंगा की गंगोत्री,*महाकाल का घोंसला,मानव गढ़ने की टकसाल एवं हम सभी के प्राण का केंद्र अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज,हरिद्वार* से पधारे युगऋषि के अग्रज.....

img

Yoga Day celebration

Yoga day celebration in Dharampur taluka district ValsadGaytri pariwar Dharampur.....

img

गर्भवती महिलाओं की हुई गोद भराई और पुंसवन संस्कार

*वाराणसी* । गर्भवती महिलाओं व भावी संतान को स्वस्थ व संस्कारवान बनाने के उद्देश्य से भारत विकास परिषद व *गायत्री शक्तिपीठ नगवां लंका वाराणसी* के सहयोग से पुंसवन संस्कार एवं गोद भराई कार्यक्रम संपन्न हुआ। बड़ी पियरी स्थित.....