Published on 2022-06-22
img

*वाराणसी* । गर्भवती महिलाओं व भावी संतान को स्वस्थ व संस्कारवान बनाने के उद्देश्य से भारत विकास परिषद व *गायत्री शक्तिपीठ नगवां लंका वाराणसी* के सहयोग से पुंसवन संस्कार एवं गोद भराई कार्यक्रम संपन्न हुआ। बड़ी पियरी स्थित निजी नर्सिंग होम में डॉ. शालिनी टंडन व गायत्री शक्तिपीठ नगवां की ट्रस्टी *श्रीमती नीलम गुप्ता जी ने कहा कि गर्भवती महिलाएं ही भावी संतान से खुशहाल व स्वस्थ भारत समाज के निर्माण में महत्वपूर्ण योगदान दे सकती हैं। पेट में पल रहा शिशु तभी स्वस्थ होगा जब मां पोषण युक्त आहार लेगी व योग , सद् साहित्य का अध्ययन करते रहेंगी* डॉक्यूमेंट्री फिल्म के जरिये महिलाओं को शिशु के देखभाल की जानकारी दी गई। कार्यक्रम में *20 गर्भस्थ महिलाओं की गोद भराई* कराई गई। इस अवसर महिला मंडल की पदाधिकारी हिरावती सिंह, लक्ष्मी सिंह व किरण श्रीवास्तव ने गर्भपूजन व दीपयज्ञ किया व देवान्न नैनों यज्ञ हर भारतीय परिवार को अपनाने की सलाह दिया , भाविप काशी के अध्यक्ष मनोज गुप्ता, नीरजा अग्रवाल, हिमांशु पसरिचा व राकेश मेहरोत्रा ने अमृत महोत्सव के तहत इस तरह के महिला उत्थान कार्यक्रम करते रहने का संकल्प लिया। इस अवसर पर गर्भवती महिलाओं को कैल्शियम मिनरल विटामिंस फल व मेवे का किट दिए गए। जिला मीडिया विभाग गायत्री शक्तिपीठ नगवां लंका वाराणसी


Write Your Comments Here:


img

विद्यालय में वाङ्मय एवं विपुल साहित्य की स्थापना

11 विद्यालयों में स्थापना का है संकल्पप्रयागराज। उत्तर प्रदेशशकुन विद्या निकेतन इण्टर कॉलेज, देवरख, नैनी में दिनांक 12 जुलाई को समारोहपूर्वक पूज्य गुरूदेव द्वारा रचित विपुल साहित्य की स्थापना हुई। भूतपूर्व सूबेदार मेजर इं. श्री एल.बी. सिंह, आर.डी.एस. ओ. लखनऊ के सौजन्य से यह  स्थापना कराई।.....

img

यज्ञीय कार्यक्रम के साथ भूमिपूजन एवं शिलान्यास का कार्यक्रम

आदरणीय डॉ. चिन्मय जी ने 3 जुलाई को प्रात: 9 से 10 के बीच यज्ञीय कार्यक्रम के साथ भूमिपूजन एवं शिलान्यास का कार्यक्रम सम्पन्न किया। इस कार्यक्रम में 16 हिन्दी भाषी और दो तमिल भाषी समुदायों के सैकड़ों प्राणवान परिजन उपस्थित रहे। मुख्य यजमान की भूमिका.....

img

रामेश्वरम में गुरूकृपा का अद्भुत संयोग

गायत्री परिवार तिरूपुर के प्रमुख सहयोग से भगवान शिव के धाम रामेश्वरम में भव्य गायत्री चेतना केन्द्र का निर्माण हो रहा है। 4 जुलाई को आदरणीय डॉ. चिन्मय जी ने इसके लिए भूमिपूजन किया। शान्तिकुञ्ज प्रतिनिधियों के  साथ केन्द्र के निर्माण की व्यवस्थाएँ सँभाल रहे श्री.....