Published on 2022-06-24 VARANASI
img

वाराणसी व मऊ उपजोन की *संगोष्ठी गायत्री शक्तिपीठ,लंका,वाराणसी के पावन प्रांगण में संपन्न* हुई।जहां ज्ञान गंगा की गंगोत्री,*महाकाल का घोंसला,मानव गढ़ने की टकसाल एवं हम सभी के प्राण का केंद्र अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज,हरिद्वार* से पधारे युगऋषि के अग्रज *युगदूत व भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा के केंद्रीय जोनल प्रभारी आ.रामयश तिवारी जी ने* उपस्थित स्वजनों को संबोधित करते हुए कहा कि *युग निर्माण के लिए भावी पीढ़ी में सुसंस्कारों की स्थापना आवश्यक है।ऐसे में भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा युग निर्माता व भाग्य विधाता दोनों तक पहुंचने का सशक्त माध्यम है।* अतः इस निमित्त *सत्र शुभारंभ के अवसर पर ही विद्यालयों में ज्ञान दीक्षा कार्यक्रम चलाकर बच्चों तक उनके जीवन में इसकी उपयोगिता को पहुंचाना प्रारंभ कर दें*।    कार्यक्रम में शांतिकुंज से आए *श्री अरविंद नाथ जी*,जोन समन्वयक *प्रसेन सिंह जी*, उपजोन समन्वयक *सुरेश यादव जी*,गायत्री शक्तिपीठ मुख्य प्रबंध ट्रस्टी *डॉ रोहित गुप्ता जी*,सहायक प्रबंध ट्रस्टी *आ.विंध्याचल सिंह जी*,दोनों उपजोन के *सभी जिलों के जिला समन्वयक,भा.सं.ज्ञा.प.जिला समन्वयक* संग सैकड़ों की संख्या में *स्वजनों ने न केवल प्रतिभाग किया बल्कि आपसी चर्चा के माध्यम से भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा को अधिकतम शिक्षण संस्थानों तक पहुंचाने हेतु एक दूसरे के अनुभव को समृद्ध किया*।  पूरे आयोजन में *शक्तिपीठ,नगवां,लंका,वाराणसी के ट्रस्ट मंडल व व्यवस्थातंत्र ने श्रद्धा सहित तन,मन,धन का पूर्ण सदुपयोग आतिथ्य धर्म का बखूबी निर्वहन किया*।🌺🙏🏻🌺🙏🏻🌺🙏🏻🌺*जिला मीडिया*गायत्री शक्तिपीठ,लंका,वाराणसी
https://m.facebook.com/story.php?story_fbid=pfbid0vqwYbiafViivhuYpaGUCR7ajZZiggNrN3gUnrrM4KcMQmkuscbQ9iXC4zqHWajj1l&id=100050487125471&sfnsn=wiwspmo


Write Your Comments Here:


img

विद्यालय में वाङ्मय एवं विपुल साहित्य की स्थापना

11 विद्यालयों में स्थापना का है संकल्पप्रयागराज। उत्तर प्रदेशशकुन विद्या निकेतन इण्टर कॉलेज, देवरख, नैनी में दिनांक 12 जुलाई को समारोहपूर्वक पूज्य गुरूदेव द्वारा रचित विपुल साहित्य की स्थापना हुई। भूतपूर्व सूबेदार मेजर इं. श्री एल.बी. सिंह, आर.डी.एस. ओ. लखनऊ के सौजन्य से यह  स्थापना कराई।.....

img

यज्ञीय कार्यक्रम के साथ भूमिपूजन एवं शिलान्यास का कार्यक्रम

आदरणीय डॉ. चिन्मय जी ने 3 जुलाई को प्रात: 9 से 10 के बीच यज्ञीय कार्यक्रम के साथ भूमिपूजन एवं शिलान्यास का कार्यक्रम सम्पन्न किया। इस कार्यक्रम में 16 हिन्दी भाषी और दो तमिल भाषी समुदायों के सैकड़ों प्राणवान परिजन उपस्थित रहे। मुख्य यजमान की भूमिका.....

img

रामेश्वरम में गुरूकृपा का अद्भुत संयोग

गायत्री परिवार तिरूपुर के प्रमुख सहयोग से भगवान शिव के धाम रामेश्वरम में भव्य गायत्री चेतना केन्द्र का निर्माण हो रहा है। 4 जुलाई को आदरणीय डॉ. चिन्मय जी ने इसके लिए भूमिपूजन किया। शान्तिकुञ्ज प्रतिनिधियों के  साथ केन्द्र के निर्माण की व्यवस्थाएँ सँभाल रहे श्री.....