img

मुलताई से बुरहानपुर तक हुआ श्रमदान नदी से निकले कचरे का होगा होलिका दहन। गायत्री परिवार द्वारा शुरू किया गया अभियान जन आन्दोलन बना, महापौर माधुरी पटेल,पार्षद मुकेश चौहान सहित नागरिकों शिक्षकों व अन्य संगठनों ने भी किया सामूहिक श्रमदान। गायत्री परिवार के संस्थापक युग ऋषि पंडित श्रीराम शर्मा आचार्यजी की जन्म शताब्दी के तहत नदियों के शुद्धिकरण का महाअभियान संपूर्ण देश में चल रहा है। रचनात्मक आन्दोलनों के क्रम में मध्य प्रदेश के बुरहानपुर व बैतूल जिले में पुन्य सलिला माँ ताप्ती अंचल शुद्धि अभियान को ताप्ती के उदगम स्थल मुलताई से बुरहानपुर तक गायत्री परिवार द्वारा चलाया जा रहा है। तीन वर्ष पूर्व प्रारम्भ किया गया यह अभियान अब जन अभियान बनता जा रहा है । जल शुद्धि, तट शुद्धि व तटीय आदर्श तीर्थ ग्राम के लक्ष्य के साथ अभियान को चरणबद्ध रूप से चलाया जा रहा है। जल शुद्धि हेतु दिनांक 04.03.2012 को प्रातः ७:30 से 9 बजे मुलताई,कोलगांव,पारसडोह,भैसदही,देडतलाई व बुरहानपुर तक नदी के शुद्धिकरण का कार्य किया गया बुरहानपुर में ताप्ती नदी के राजघाट पर स्थानीय शाखा द्वारा नदी के शुद्धिकरण का कार्य किया गया जिसमें महापौर माधुरी पटेल, स्कूली विद्यार्थी, पार्षद मुकेश चौहान, राष्ट्रीय पत्र लेखन परिषद के सदस्यों सहित जनसमुदाय ने भी भाग ले सामूहिक श्रमदान किया तथा नदी से 2 ट्राली कचरा भारी मात्रा में गल,मूर्तियां,पालिथीन,पुराने गले कपडे, बासी फूल आदि निकाले गये। इस अवसर पर गायत्री परिवार युवा प्रकोष्ठ के ताप्ती अंचल शुद्धि अभियान प्रभारी गणेश बोरसे ने बताया कि नदी से निकले कचरे का प्रतिकात्मक होलिका दहन शनिवार को शाम 6 बजे ताप्ती के राजघाट पर किया जावेगा जिसका उददेश्य मां ताप्ती में हो रहे प्रदुषण पर आमजन का ध्यान आर्किर्षत करने के साथ होली दहन में उपयोग की जाने वाली लकडी को बचाने का भी संदेश दिया जावेगा। बुराई का प्रतीक होलिका थी नदी में हो रहे प्रदुषण को बुराई का प्रतीक मान कर उसका होलिका दहन किया जावेगा। सफाई अभियान के पश्चात सभी ने नदी के जल को निर्मल बनाए रखने हेतु संकल्प लिया। इसके पूर्व गायत्री धाम सेंधवा से आए गायत्री परिजन मेवालालजी पाटीदार ने शुद्धिकरण में उपयोग की जाने वाले सामान का पूजन कर भगवान विश्वकर्मा का आव्हान और पूजन करते हुए कहा कि नदियां हमारी संस्कृति की लोकमाता है जिन्हें प्रदुषण से बचाने का कार्य उसके मानस पुत्रों का है इस हेतू हम सबको इस दिशा में प्रयास करने चाहिए । जल शुद्धि का यह क्रम आज मुल्ताई से बुरहानपुर तक ताप्ती के कई घाटों पर संपन्न हुआ तथा दिनांक 7/3/12 को शाम 6 बजे सभी स्थानों पर निकाले कचरे का प्रतिकात्मक रूप से होलिका दहन किया जावेगा। श्री बोरसे ने बताया की तट शुद्धि - हरे भरे तट बनाने हेतु इस वर्ष नदी किनारे मां ताप्ती को वृक्षारोपण की हरि चुनर ओढाई जावेगी। मां ताप्ती को सदा निरा बनाने वाले ग्लेशियर तटीय क्षैत्र के वृक्ष ही है इसलिए मुलताई से बुरहानपुर तक गायत्री परिवार तटीय क्षैत्रो में वृक्षारोपण का अभियान चलाएगा। तृतीय उददेश्य ग्राम शुद्धि - आदर्श तटीय ग्राम हेतु नदी किनारे के गांवो को आर्दश गांव के रूप में विकसित किए जाने का क्रम भी चल रहा है। जिसमें जैविक कृषि को प्रोत्साहन दिया जा रहा है जिससे रासायनिक खाद से होने वाले प्रदुषण से नदी को बचाया जा सके। अभियान को जन अभियान बनाने हेतु गायत्री परिवार द्वारा नगर वासियों में जनसंर्पक कर राजघाट पर ताप्ती शुद्धिकरण के सदवाक्य भी लिखे जा रहें है। महापौर श्रीमति माधुरी पटेल ने कहा कि ताप्ती हमारे शहर की जीवन धारा है इसे प्रदुषण से बचाने के लिए नगर निगम भी गंभीर है आने वाले समय में इस दिशा कडे कदम उठाकर नदी को प्रदुषण मुक्त बनाने हेतु प्रयास किया जावेगा। सफाई के पश्चात गायत्री परिजन संतोष भोंडेकर ने बताया कि राजघाट पर निर्माल्य विर्सजन हेतु ताप्ती कुंड का स्थाई निर्माण किया जावेगा जिसमें एकत्रित किए गए बासी फूलों को गौशाला में एकत्रित कर उससे केंचुआं खाद का निर्माण किया जावेगा फलस्वरूप नदी तो प्रदुषण से बचेगी ही साथ ही पेड पौधों को भी उत्तम खाद मिल सकेगी। इस अवसर पर श्रमदान करने पधारे शिक्षक श्री कैलाश जयवंत ने कहा कि नदी वह पवित्र स्थान है जिसका उपयोग सभी धर्म सम्प्रदाय के लोग करते है कुदरत के इस नायाब तोहफे को बचाने की जिम्मेदारी हम सभी की बनती है अतः समाज के हर वर्ग के व्यक्तियों को इन धरोहरों को बचाने के लिए आगे आना चाहिए। इस अवसर पर गायत्री परिवार महिला मंडल की मनोरमा शर्मा, सुनिता, कोकीला बेन,दिनेश सुगंधी,बसंत मोढे,नितीन बोरसे ,शंकर पटेल. प.शिरीष शुक्ल सहित युवा प्रकोष्ठ के कई कार्यकता उपस्थित थे। मुलताई - अखिल विश्व गायत्री परिवार शान्तिकुंज द्वारा निर्धारित पंच महाअभियान में से एक अभियान मॉं ताप्ती अंचल शुद्धि अभियान मॉ ताप्ती नदी के उद्गम स्थल मुलताई से ताप्ती तटों को स्वच्छ एवं शुद्ध रखने हेतु गायत्री परिवार के आव्हान पर दि. 4 मार्च 2012 दिन रविवार प्रातः 8 से 10 बजे तक मुलताई से बुरहानपुर मध्यप्रदेश तक एक साथ एक समय पर घाटों की सफाई महास्वच्छता अभियान के अन्तर्गत मुलताई ताप्ती सरोवर पर नगर के समस्त जागरूक विभिन्न संगठनों लायंस क्लब, आर्ट आफ लिविंग, कुंबी समाज संगठन, गजानंद सेवा समिति, साई सेवा समिति, सत्य सांई सेवा समिति, मॉ ताप्ती सेवा समिति, संस्कार ग्रामोत्थान समिति, मॉ ताप्ती मानव सेवा संस्थान, महिला मोर्चा संगठन, योग वेदांत संगठन, सांडिया, करजगांव, पाडुरना प्रज्ञापीठों से परिजन उपस्थित होकर ताप्ती तटों की सफाई कर जन जागरण रैली निकालकर स्वच्छता का संदेश दिया। मॉं ताप्ती शुद्धिकरण अभियान के प्रभारी श्री के0 के0 गढेकर ने समस्त भाई बहनों को मां ताप्ती के प्रति आस्था रखने एवं इस स्वच्छता अभियान में भाग लेने पर धन्यवाद दिया एवं कहा कि मुलताई के भाई बहनों की निष्ठा मां ताप्ती के प्रति देखकर हार्दिक खुशी हुई। मुलताई के भाई बहनों व संगठनों ने संकल्प लेकर मॉ ताप्ती को शुद्ध व स्वच्छ रखने का संकल्प लिया। स्वच्छता अभियान होली दहन तक निरंतर प्रातः 8 से 10 बजे तक चलता रहेंगा और प्रति सप्ताह शनिवार अनवरत चलता रहेगा। इस दौरान मुल्ताई के उदगम स्थल ताप्ती सरोवर में से दो ट्राली कचरा निकाला गया। अभियान को लगातार एक वर्ष तक प्रति शनिवार को इसी प्रकार चलाते रहने का संकल्प ले कर सभी भाई बहनों ने तिलक होली खेलने का संकल्प भी लिया।नदी से निकले ऐसा कचरा जो जलने पर प्रदुषण नही करता एसे कचरे को होली पर्व पर हालिका दहन किया जावेगा। मॉं ताप्ती शुद्धिकरण अभियान में आज कोलगांव ताप्ती घाट, पारसडोह, खेंडीसावलीगढ, ग्राम पुसली, देहगुढ, के भाई बहनों ने भी ताप्ती घाटों की सफाई की।


Write Your Comments Here:


img

नशाबन्दी अभियान का 69वाँ सप्ताह

उपजेल सोनकच्छ में कार्यक्रम आयोजित देवास। मध्य प्रदेश गायत्री परिवार देवास द्वारा चलाये जा रहे साप्ताहिक नशाबन्दी अभियान का.....

img

नशाबन्दी अभियान का 69वाँ सप्ताह

उपजेल सोनकच्छ में कार्यक्रम आयोजित देवास। मध्य प्रदेश गायत्री परिवार देवास द्वारा चलाये जा रहे साप्ताहिक नशाबन्दी अभियान का.....