Published on 2022-08-08
img

बाल संस्कार शालाने बढ़ाया गौरव
दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र
‘दिया’ दिल्ली अपनी ‘संभवम’ योजना के अन्तर्गत युवाओं के व्यक्तित्व में छिपी संभावनाओं को अभिव्यक्त करने का प्रशंसनीय कार्य कर रहा है। विगत कई वर्षों से चल रहे इन प्रयासों के अन्तर्गत कई प्रकार के साप्ताहिक कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं, जैसे वेब टॉक्स, मोटिवेशनल कक्षाएँ, वृक्षारोपण, बाल संस्कार शाला संचालन, विभिन्न प्रतियोगिताएँ आदि। श्री मनीष कुमार के नेतृत्व में किए जा रहे इन प्रयासों के अन्तर्गत अब तक लोक सेवा आयोग की प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हजारों युवाओं के जीवन को उत्कृष्टता की दिशा देने और समाज के निर्माण के लिए उन्हें प्रेरित करने में सफलता मिली है।26 जून को आयोजित वेब टॉक ‘उत्कर्ष’ का विषय था ‘एकाग्रता का रहस्य’। श्री मनीष जी ने प्रतिभागियों को सम्बोधित करते हुए अत्यंत महत्वपूर्ण बिंदुओं की चर्चा की। उन्होंने कहा कि कुछ बड़ा (असाधारण) करने की इच्छा तो  हर व्यक्ति में होती है, लेकिन उसके लिए   जिस उच्च स्तर की एकाग्रता एवं क्षमता की आवश्यकता होती है, उसे प्रयत्नपूर्वक ही विकसित किया जा सकता है। इसके लिए  उन्होंने नियमितता, आत्मानुशासन, अवरोधों को दूर करने के प्रयास, वर्तमान में जीने जैसे कई बिन्दुओं पर प्रतिभागियों का मार्गदर्शन किया। उन्होंने कहा कि एकाग्रता हर दिन के अभ्यास से आती हैं,इसके लिए हमारे भीतर या बाहर जो भी अवरोध हैं, उन्हें धीरे- धीरेसमाप्त करने की आवश्यकता हैं।मुखर्जी नगर में आयोजित होने वालेसाप्ताहिक प्रेरक कार्यक्रम में उन्होंनेमहामानवों के जीवन से प्रेरणा लेकर व्यक्तित्वको निखारने सम्बन्धी मार्गदर्शन दिया।
टाटा पावर के द्वारा मलकागंज में चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन कराया गया था, ए.पी.जे. अब्दुल कलाम बाल संस्कारशाला तिमारपुर के छ: बच्चों ने भाग लिया। हर्ष की बात है कि इनमें क्रमश: बाल संस्कार शाला के सभी बच्चे प्रथम वरीयता प्राप्त 7 बच्चों में शामिल थे। प्रथम नेहा कुमारी, द्वितीय संजना कुमारी, चतुर्थ कशिश कुमारी, पंचम अभिषेक कुमार, छठा तरूण कल्याण और सातवाँ स्थान खुशबू कुमारी ने प्राप्त किया। प्रतियोगिता में लगभग 100 बच्चों ने भाग लिया था। दिया, दिल्ली द्वारा नियमित बाल संस्कार शाला का संचालन किया जाता है। विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे नवयुवक इन कक्षाओं के लिए अपना समयदान देते हैं।


Write Your Comments Here:


img

श्रद्धा-संवेदना की सृजनात्मक सामर्थ्य से जनमानस को बदलने के प्रयास

गोद लिए गंगातट के सात घाटों का कायाकल्प कियाकोलकाता। प. बंगाल श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या जी ने अक्टूबर 2017 में गायत्री परिवार यूथ ग्रुप  कोलकाता को गंगातट शुद्धि अभियान का संकल्प दिलाया था। तब से जीपीवायजी के युवाओं द्वारा हर शनिवार को गंगातटपर स्वच्छता अभियान.....

img

अन्य अभियान

1,63,685 पेड़ लगाए 28 अगस्त, 2022 को गायत्री परिवार यूथ ग्रुप कोलकाता का 618वाँ साप्ताहिक रविवासरीय वृक्षारोपण कार्यक्रम सम्पन्नहुआ। अभी तक के 617 रविवार में इस क्रान्तिकारी युवा संगठन द्वारा 1,63,685 पेड़ लगाए चुके हैं। ‘मिशन 3650’ 735 दिनों से प्रतिदिन लगातार चल रहे  वृक्षारोपण के एक अन्य.....

img

स्वतंत्रता दिवस पर रक्तदान शिविर

13वाँवार्षिक रक्तदान शिविरभीलवाड़ा। राजस्थान गायत्री परिवार की भीलवाड़ा शाखा द्वारा 15 अगस्त को देश  की स्वतंत्रता के अमृत महोत्सव के उपलक्ष में एक विशाल रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। लगातार बारिश के बावजूद भी प्रात: 10 बजे सेशाम 4 बजे तक चले रक्तदानशिविर में 179.....