Published on 2023-01-23
img

आदरणीय डॉ. चिन्मय पण्ड्या जी ने कहा आज प्रमुख स्वामी महाराज के शताब्दी समारोह में होकर मैं और गायत्री परिवार का हर कार्यकर्त्ता स्वयं को गौरवान्वित अनुभव करता है। आज स्वामी विवेकानन्द की जयन्ती, प्रमुख स्वामी का शताब्दी समारोह और गायत्री परिवार की उपस्थिति, ये तीनों धाराओं का मिलन एक संकल्प लेकर आया है कि हममें से प्रत्येक को भारत को भारतीय संस्कृति को जगाने के लिए, बेहतर बनाने के लिए आगे आने की आवश्यकता है। यह समय भारत की आध्यात्मिक चेतना के विकास का समय है। 


Write Your Comments Here:


img

प्रशंसनीय पहल झूठन न छोड़ने की शपथ दिला रहे हैं

कई पार्षद, गणमान्यों ने भी ली शपथजयपुर। राजस्थानगायत्री परिवार जयपुर ने लोगों को झूठन न छोड़ने की प्रेरणा देने और संकल्प दिलाने का अभियान प्रारम्भ किया है। गायत्री शक्तिपीठ ब्रह्मपुरी और गायत्री चेतना केन्द्र मुरलीपुरा ने इसकी शुरूआत मुरलीपुरा के.....

img

कारागार में गायत्री ज्ञान मंदिर की स्थापना

बंदियों को ऊर्जा दे रहा है नियमित साप्ताहिक स्वाध्यायसतना। मध्य प्रदेश : स्थानीय गायत्री परिवार केंद्रीय कारागार सतना में महिला एवं पुरूष बंदियों के बीच रविवासरीय स्वाध्याय का क्रम चल रहा है। 19 फरवरी को स्वाध्याय में 51 महिला बंदी.....

img

महिला एवं बाल विकास विभाग और आँगनबाड़ी केन्द्रों द्वारा कार्यक्रमों का आयोजन

अलवर। राजस्थान सुघड़, स्वस्थ, संस्कारवान संतान की चाह किसे नहीं होती। गायत्री परिवार की अलवर शाखा गर्भवती माताओं की इस चाह को पूरा करने के लिए क्रान्तिकारी अभियान चला रही है। महिला एवं बाल विकास विभाग और आँगनबाड़ी केन्द्रों की संचालिका.....