Published on 2023-01-23
img

परम पूज्य गुरूदेव ने कहा है कि मेरे जो विचार हैं वे क्रान्ति के बीज हैं। ये जहाँ भी जाएँगे वहाँ एक नई क्रान्ति को जन्म देंगे। युगशक्ति गायत्री की प्रखर प्राण चेतना की जन-जन में प्रतिष्ठा आज का सबसे बड़ा युगधर्म है। अपने व्यक्तित्व, कृतित्व और प्रखर विचारों से इस युगधर्म को निभाने में अग्रणी भूमिका निभा रहे हैं गायत्री परिवार के करोड़ों लोगों के मार्गदर्शक आदरणीय डॉ. चिन्मय पण्ड्या जी।
संघ प्रमुख से सांस्कृतिक पुनरूत्थान की योजनाओं पर चर्चा हुई
13 जनवरी को ही देसंविवि के प्रतिकुलपति जी नागपुर पहुँचे। वहाँ उन्होंने संघ कार्यालय पहुँचकर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक माननीय श्री मोहन भागवत जी से भेंट की। श्री भागवत जी ने बड़े आत्मीय भाव के साथ शान्तिकुञ्ज प्रतिनिधि का स्वागत किया। दोनों महानुभावों के बीच सनातन संस्कृति में युवाओं की नैतिक जिम्मेदारी पर चर्चा हुई। माननीय श्री भागवत जी ने भारतीय संस्कृति पुनरूत्थान में जुटे गायत्री परिवार की लगन और मेहनत की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि युवाओं को जगाना है तो एक-एक युवा के पास जाना होगा, जो आरएसएस के स्वयंसेवक एवं गायत्री परिवार के कार्यकर्ता बखूबी कर रहे हैं। आदरणीय डॉ. चिन्मय जी ने सरसंघचालक को युगऋषि पं. श्रीराम शर्मा आचार्य द्वारा रचित साहित्य, गायत्री मंत्र लिखित चादर एवं गायत्री माता का चित्र भेंटकर सम्मानित किया। उन्होंने जनवरी 2024 में मुंबई में होने जा रहे अश्वमेध महायज्ञ में भागीदारी का निमंत्रण माननीय भागवत जी को दिया, जिसे उन्होंने सहर्ष स्वीकार कर लिया है


Write Your Comments Here:


img

प्रशंसनीय पहल झूठन न छोड़ने की शपथ दिला रहे हैं

कई पार्षद, गणमान्यों ने भी ली शपथजयपुर। राजस्थानगायत्री परिवार जयपुर ने लोगों को झूठन न छोड़ने की प्रेरणा देने और संकल्प दिलाने का अभियान प्रारम्भ किया है। गायत्री शक्तिपीठ ब्रह्मपुरी और गायत्री चेतना केन्द्र मुरलीपुरा ने इसकी शुरूआत मुरलीपुरा के.....

img

कारागार में गायत्री ज्ञान मंदिर की स्थापना

बंदियों को ऊर्जा दे रहा है नियमित साप्ताहिक स्वाध्यायसतना। मध्य प्रदेश : स्थानीय गायत्री परिवार केंद्रीय कारागार सतना में महिला एवं पुरूष बंदियों के बीच रविवासरीय स्वाध्याय का क्रम चल रहा है। 19 फरवरी को स्वाध्याय में 51 महिला बंदी.....

img

महिला एवं बाल विकास विभाग और आँगनबाड़ी केन्द्रों द्वारा कार्यक्रमों का आयोजन

अलवर। राजस्थान सुघड़, स्वस्थ, संस्कारवान संतान की चाह किसे नहीं होती। गायत्री परिवार की अलवर शाखा गर्भवती माताओं की इस चाह को पूरा करने के लिए क्रान्तिकारी अभियान चला रही है। महिला एवं बाल विकास विभाग और आँगनबाड़ी केन्द्रों की संचालिका.....