Published on 2023-01-23
img

पीएच.डी. की उपाधि प्राप्त कर रहे स्नातकों को देव संस्कृति विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति जी का संदेश
वर्धा। महाराष्ट्र : देव संस्कृति विश्वविद्यालय, हरिद्वार के प्रतिकुलपति आदरणीय डॉ. चिन्मय पण्ड्या जी 14 जनवरी 2023 को वर्धा में जय महाकाली शिक्षण संस्था, अग्निहोत्री ग्रुप अॉफ इंस्टीट्यूशंस द्वारा आयोजित ‘सेवा सत्कार समारोह 2023’ के मुख्य अतिथि थे। वहाँ उन्होंने पीएच.डी. उपाधि प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राओं, शिक्षकों, अभिभावकों और गायत्री परिजनों को संबोधित किया। आदरणीय डॉ. चिन्मय जी ने विद्यार्थियों को गुरू-शिष्य सम्बन्धों और उनके सामाजिक दायित्वों का बोध कराया। उन्होंने कहा कि मानवीय गरिमा इसमें है कि हम अपने ज्ञान और प्रतिभा का सदुपयोग समाज की भलाई के लिए करें। हम अवसरों को पहचानें तथा उदात्त संभावनाओं को साकार करने हेतु पूरी निष्ठा के साथ परिश्रम करें। उन्होंने कहा कि समाज हित में बहुमूल्य योगदान देना ही एक शिष्य का कर्तव्य है। आरम्भ में कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे पं. शंकर प्रसाद अग्निहोत्री जी ने शान्तिकुञ्ज प्रतिनिधि का स्वागत किया। उन्होंने समारोह में उपस्थित मा. श्री मोहन जोशी जी (अभिनेता, मुंबई), मा. श्री समीर कुणावार (सांसद, हिंडनघाट) एवं अन्य गणमान्य अतिथियों को पूज्य गुरूदेव का साहित्य प्रदान कर सम्मानित किया।


Write Your Comments Here:


img

प्रशंसनीय पहल झूठन न छोड़ने की शपथ दिला रहे हैं

कई पार्षद, गणमान्यों ने भी ली शपथजयपुर। राजस्थानगायत्री परिवार जयपुर ने लोगों को झूठन न छोड़ने की प्रेरणा देने और संकल्प दिलाने का अभियान प्रारम्भ किया है। गायत्री शक्तिपीठ ब्रह्मपुरी और गायत्री चेतना केन्द्र मुरलीपुरा ने इसकी शुरूआत मुरलीपुरा के.....

img

कारागार में गायत्री ज्ञान मंदिर की स्थापना

बंदियों को ऊर्जा दे रहा है नियमित साप्ताहिक स्वाध्यायसतना। मध्य प्रदेश : स्थानीय गायत्री परिवार केंद्रीय कारागार सतना में महिला एवं पुरूष बंदियों के बीच रविवासरीय स्वाध्याय का क्रम चल रहा है। 19 फरवरी को स्वाध्याय में 51 महिला बंदी.....

img

महिला एवं बाल विकास विभाग और आँगनबाड़ी केन्द्रों द्वारा कार्यक्रमों का आयोजन

अलवर। राजस्थान सुघड़, स्वस्थ, संस्कारवान संतान की चाह किसे नहीं होती। गायत्री परिवार की अलवर शाखा गर्भवती माताओं की इस चाह को पूरा करने के लिए क्रान्तिकारी अभियान चला रही है। महिला एवं बाल विकास विभाग और आँगनबाड़ी केन्द्रों की संचालिका.....