Published on 2023-01-23
img

हमारे परिजन पीड़ितों को अपने परिवार की तरह ही सान्त्वना दें और उनका मनोबल बढ़ायें।- श्रद्धेय डॉ. प्रणव जी
इन दिनों उत्तराखण्ड का जोशीमठ भू-धँसाव की भयंकर प्राकृतिक आपदा का शिकार है। जैसे ही वहाँ के निवासियों के विस्थापन की जानकारी शान्तिकुञ्ज को मिली, वैसे ही युगतीर्थ शान्तिकुञ्ज का आपदा प्रबन्धन दल सक्रिय हो गया। श्रद्धेया जीजी एवं श्रद्धेय डॉक्टर साहब के निर्देशानुसार अविलम्ब एक दल 9 जनवरी को ही जोशीमठ पहुँच चुका था। दल द्वारा वहाँ की स्थितियों का आकलन किया गया और उसके अनुमान के आधार पर लगभग 1000 परिवारों के लिए तत्काल आवश्यकता की पूर्ति हेतु राशन भेजा गया। मानवता पर आने वाली हर त्रासदी में गायत्री परिवार के परिजन आगे बढ़कर सेवाएँ प्रदान करते रहे हैं। जोशीमठ के पीड़ित परिवारों की सहायता के लिए भी शान्तिकुञ्ज के कार्यकर्त्ताओं में बहुत उत्साह देखा गया। सबने मिलकर बड़ी श्रद्धा के साथ राशन के किट तैयार किए और उन्हें लेकर एक टीम जोशीमठ पहुँची। सामग्री लेकर रवाना हो रहे राहत दल के भाइयों को श्रद्धेय डॉक्टर साहब एवं श्रद्धेया शैल जीजी ने मंगल तिलक कर विदाई दी। उन्होंने कहा कि कठिन परिस्थितियों में रह रहे पहाड़ के अपने भाइयों की पीड़ा को कम करने के लिए गायत्री परिवार सदैव तत्पर है। परम पूज्य गुरूदेव पं. श्रीराम शर्मा आचार्य के आदर्शों की याद दिलाते हुए उन्होंने दल को राहत सामग्री के साथ अपने परिवार के सदस्यों की तरह ही सान्त्वना देने और उनका मनोबल बढ़ाने की प्रेरणा दी। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में यदि और आवश्यकता होगी तो शांतिकुंज की ओर से यह प्रयास जारी रहेगा। शान्तिकुञ्ज से दल को व्यवस्थापक श्री महेन्द्र शर्मा जी ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस राहत दल में डॉ. उमाकांत इंदोलिया, डॉ. अरूणेश पाराशर, नरेन्द्र गिरि, पवन राजौरिया, प्रखर सिंह एवं राकेश वर्मा आदि शामिल थे
एक किट की सामग्रीचावल- पांच किग्रा, आटा- पांच किग्रा, दाल- दो किग्रा, चीनी-दो किग्रा, तेल- एक लीटर, नमक, हल्दी, मिर्च आदि।


Write Your Comments Here:


img

अर्जित ज्ञान का सदुपयोग मानवता की भलाई के लिए होना चाहिए

पीएच.डी. की उपाधि प्राप्त कर रहे स्नातकों को देव संस्कृति विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति जी का संदेशवर्धा। महाराष्ट्र : देव संस्कृति विश्वविद्यालय, हरिद्वार के प्रतिकुलपति आदरणीय डॉ. चिन्मय पण्ड्या जी 14 जनवरी 2023 को वर्धा में जय महाकाली शिक्षण संस्था, अग्निहोत्री ग्रुप अॉफ इंस्टीट्यूशंस द्वारा आयोजित.....

img

दिल्ली में मंत्री, सांसद एवं गणमान्यों से भेंट

देव संस्कृति विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति आदरणीय डॉ. चिन्मय जी दिनांक 5 जनवरी 2023 को दिल्ली पहुँचे। वहाँ उन्होंने भारत सरकार के अनेक मंत्री एवं सांसदों से भेंट की। उनके साथ वर्तमान सामाजिक परिस्थितियों के संदर्भ में चर्चा हुई, उन्हें परम पूज्य गुरूदेव के संकल्प,.....

img

गुजरात के राज्यपाल से प्राकृतिक खेती को बढ़ावा देने पर चर्चा हुई

13 जनवरी 2023 को अपने गुजरात प्रवास में आदरणीय डॉ. चिन्मय पण्ड्या जी गाँधीनगर स्थित राजभवन में राज्यपाल माननीय आचार्य देवव्रत जी से भेंट करने पहुँचे। शान्तिकुञ्ज की ओर से उन्हें पूज्य गुरूदेव का साहित्य भेंट किया। इस अवसर पर माननीय राज्यपाल जी से प्राकृतिक कृषि को बढ़ावा.....