Published on 2023-01-23 VARANASI
img

23 जनवरी,शक्तिपीठ,लंका।

नेताजी सुभाषचंद्र बोस जी की जयंती के अवसर पर *शक्तिपीठ,लंका युवा प्रकोष्ठ द्वारा विभिन्न मंडलों में "युगऋषि की दृष्टि में नेताजी"विषय पर समूह चर्चा संग पुष्पांजलि* अर्पित की गई।

इस दौरान शक्तिपीठ पर मुख्य प्रबंध ट्रस्टी आ.(डॉ.)रोहित गुप्ता जी के नेतृत्व में संपन्न हुए कार्यक्रम में विचार मंथन से निकले रत्नों से सभी युवा लाभान्वित हुए। *विचार मंथन में यह बात निकलकर सामने आई कि बाल्यकाल से ही बोस जी में आध्यात्म के प्रति अपार रुचि थी* जो सभी महापुरुषों में युवाकाल में देखने को मिलती है जिससे यह पता चलता है कि *यदि आज के युवा सच्चा आध्यात्म पथ (वैज्ञानिक अध्यात्मवाद)पा जाए तो बनने,बनाने का क्रम सहजता से आगे बढ़ता चला जायेगा*।आध्यात्मिक दृष्टि व्यक्ति को नीर क्षीर विवेक देती है फिर जिस प्रकार नेताजी ने नकली व असली हिटलर के अंतर को जान लिया उसी प्रकार हम समाज में अच्छे व बुरे की कुशलतापूर्वक पहचान करने में समर्थ हो सकेंगे।

साथ ही हम नेताजी से नेतृत्व के अनेक कौशल सीख प्रत्येक क्षेत्र में स्वयं को आगे बढ़ा सकते हैं।परिचर्चा में यह भी सामने आया कि नेताजी के मुख से प्रस्फुटिक विराट भावना से ओतप्रोत सद्वाक्य *"तुम मुझे खून दो मैं तुम्हें आजादी दूंगा" को मात्र रक्तदान से जोड़ इतिश्री कर लेना भी उचित नहीं होगा*।रक्तदान श्रेष्ठ है जिसकी महत्ता को नकारा नहीं जा सकता पर *नेताजी के खून मांगने व खालस पंथ द्वारा मां भारती के बलिदान मांगने के मर्म व अभिप्राय को समझ युग निर्माण में निःस्वार्थ भाव से अपने जीवन का नियोजन ही आज के समय की मांग है,युगधर्म है* क्योंकि यदि पतन निवारण कर मानव में मानवीय भाव संवेदना का जागरण कर दिया जाए तो फिर पीड़ा निवारण के लिए अलग से किसी विशेष पुरुषार्थ की आवश्यकता न पड़ेगी।आज युगऋषि के सूत्र *"तुम मुझे समय दो मैं तुम्हें सतयुग दूंगा"को आत्मसात कर राष्ट्र निर्माण हेतु त्यागी,तपस्वी पीढ़ी की आवश्यकता* है।
शक्तिपीठ युवा मंडल,पांडेयपुर युवा मंडल के कुछ चित्र प्रेषित है।

प्रेषक
*जिला मीडिया प्रकोष्ठ*
गायत्री शक्तिपीठ,लंका,वाराणसी

https://m.facebook.com/story.php?story_fbid=pfbid027ULLU1o3F4fL1F5P74yhTbKc9iUjSXKkeoHau2twVH4vnuF4zD5Da8KzjWtMKe6Cl&id=100050487125471&sfnsn=wiwspmo&mibextid=RUbZ1f


Write Your Comments Here:


img

विश्वविद्यालय ने शक्तिपीठ,लंका को साहित्य प्रदर्शनी के लिए किया आमंत्रित,प्रदर्शनी में बड़ी संख्या में उमड़े विद्यार्थी

https://m.facebook.com/story.php?story_fbid=pfbid02d9i2apKibnvtMp6JLt7gvYy5xeYDc5pJpJmkmPTJK7Y9oqWeNbyj3jwgaW85m2dPl&id=100050487125471&sfnsn=wiwspmo&mibextid=RUbZ1f*31जनवरी, म.गां.काशी विद्यापीठ विश्वविद्यालय,वाराणसी।🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺अधिक फोटो देखने के लिए फेसबुक लिंक पर क्लिक करें🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺 मुझे ढूंढना है तो मेरे चित्र में नहीं,मेरे साहित्य में ढूंढो।मैं व्यक्ति नहीं विचार हूं।साहित्य.....

img

हजारों सृजन सैनिकों की उपस्थिति में संपन्न हुआ युगऋषि का आध्यात्मिक जन्मदिवस बसंत पर्व

26 जनवरी,गायत्री शक्तिपीठ,लंका। युगऋषि,वेदमूर्ति,तपोनिष्ठ पंडित श्रीराम शर्मा आचार्य जी के आध्यात्मिक जन्मदिवस बसंत पर्व संग गणतंत्र दिवस का अद्भुत संयोग* से हम सभी के उत्साह में गुणात्मक वृद्धि देखने को मिली।🌻🌻🌻🌻🌻इसी क्रम में *अपने मार्गदर्शक.....

img

गायत्री शक्तिपीठ लंका नारी जागरण प्रकोष्ठ ने स्नेहसलिला के जन्मशताब्दी वर्ष 2026 तक 1008 नई बहनों को तलाश तराश कर वंदनीय माताजी को हार रूप में पहनाने का लिया संकल्प

22 जनवरी, शक्तिपीठ, लंका। अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज हरिद्वार के तत्वावधान में निरंतर युगऋषि के सपनों का शक्तिपीठ बनने की ओर अग्रसर व प्रयासरत गायत्री.....