Published on 2023-03-03
img

मानव जीवन का उद्देश्य भटकों को राह दिखाना तथा गिरे हुओं को ऊपर उठाना है-डॉ. चिन्मय पण्डया जी
नगरी, धमतरी। छत्तीसगढ़सप्त ़ऋषियों की पावन तपस्थली हरिद्वार है और छत्तीसगढ का हरिद्वार है माँ चित्रोत्पला महानदी का उदगम स्थल नगरी सिहावा क्षेत्र, जहाँ सप्त ़ऋषियों ने साधना की है। देव संस्कृति विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति आदरणीय डॉ. चिन्मय पण्ड्या जी ने उपरोक्त भावों के साथ स्थानीय लोगों को क्षेत्र की गरिमा और उनके जीवन के सौभाग्य का स्मरण कराया। वे नगरी में आयोजित 108 कुण्डीय गायत्री महायज्ञ के अन्तर्गत विराट दीप महायज्ञ में उपस्थित श्रद्धालुओं को सम्बोधित कर रहे थे। आदरणीय डॉ. चिन्मय जी ने कहा कि परमात्मा ने हमें जिस महान उद्देश्य के लिए मानव जीवन दिया है, वह है भटकों को राह दिखाना, गिरे हुओं को उठाना। हम सबमें वह सामर्थ्य  है, लेकिन सांसारिक व्यामोह में हम ऐसे ूल गये हैं कि परमात्मा के दिए सुरदुर्लभ अनुदान को पहचान ही नहीं पा रहे। उन्होंने कहा कि युगऋषि परम पूज्य गुरुदेव की युग निर्माण योजना मानव के सोये देवत्व को जगाने और अपने जीवन के उद्देश्य की याद दिलाने की है। आप जब यहाँ से लौटें तो महामानवों जैसा जीवन का विराट उद्देश्य लेकर लौटें ताकि मनुष्य जीवन पाना सार्थक हो जाए। दीपयज्ञ के पावन अवसर पर विद्यायक श्रीमती लक्ष्मी जी एवं गायत्री परिवार की प्रांतीय समन्वयक श्रीमती आदर्श वर्मा भी उपस्थित थीं। 
19 से 23 जनवरी की तिथियों में नगरी शहर में यह 108 कुंडीय महायज्ञ विभिन्न संस्कारों के साथ सम्पन्न हुआ। इसका शुभारम्भ गायत्री शक्तिपीठ से निकली भव्य कलश एवं सद्ग्रंथ शोभा यात्रा के साथ हुआ। महायज्ञ का संचालन शान्तिकुञ्ज से आई श्री परमानंद द्विवेदी की टोली ने किया। कार्यक्रम में श्री रमेश सार्वा, श्री समरथ जी, श्री चित्रभानु आदि अनेक कार्यकर्त्ताओं की अविस्मरणीय भूमिका रही।
भा.सं. ज्ञान परीक्षा के विद्यार्थियों का सम्मानआदरणीय डॉ. चिन्मय पण्डया जी ने मंच पर भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा-2022 की प्रावीण्य सूची में स्थान प्राप्त करने वाले नगरी ब्लॉक के प्रतिभावान छात्र-छात्राओं को शुभकामनाएँ दीं तथा प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया। उल्लेखनीय है कि गतवर्ष धमतरी जिले के 14603 विद्यार्थियों ने परीक्षा में भाग लिया था।


Write Your Comments Here:


img

समाज को सकारात्मकता एवं सृजनात्मक उत्कृष्टता की ओर प्रेरित करते कार्यक्रम

पीड़ित युवतियों के उत्थान के प्रयासरेस्क्यू फाउण्डेशन में जाकर मनाया जन्मदिवसबोरीवली, मुंबई। महाराष्ट्ररेस्क्यू फाउंडेशन देह व्यापार से छुड़ाई गई युवा लड़कियों के पुनर्वास के लिए काम करने वाली स्वयंसेवी संस्था है, जो पूरे महाराष्ट्र में सक्रिय है। दिया, मुम्बई के.....

img

1126 जोड़ों का सामूहिक विवाह संस्कार

प्रयागराज। उत्तर प्रदेश श्रम विभाग प्रयाजराज की ओर से दिनांक 13 मार्च को सामूहिक विवाह का विशाल समारोह आयोजित किया गया। माघ मेला, परेड ग्राउण्ड में आयोजित इस संस्कार समारोह में 1126 जोड़ों ने और 18 मुस्लिम जोड़ों ने गृहस्थ.....

img

छत्तीसगढ़ में नारी सशक्तीकरण के लिए ऑनलाइन प्रशिक्षण

‘विजन 2026’ के साथ हो रहे हैं कार्यक्रम छत्तीसगढ़ के प्रान्तीय संगठन द्वारा ‘विजन-2026’ को लेकर 11 मार्च से 25 अप्रैल 2023 तक बहिनों का ऑनलाइन प्रशिक्षण शिविर चलाया जा रहा है। यह प्रशिक्षण परम वंदनीया माताजी की जन्मशताब्दी वर्ष.....