Published on 2023-04-02
img

• कलश यात्रा में सभी 108 गाँवों की बहिनें जिन कुल 900 कलशों के सान्निध्य में साधना अनुष्ठान किए गए थे, उन्हें लेकर शामिल हुर्इं। गाँव-गाँव से दो समूहों में शक्ति कलश शोभायात्रा यज्ञस्थल पर पहुँची। • घेगाँव वासियों ने अतिथि भाव का अद्भुत परिचय दिया। गाँववालों ने अतिथियों के ठहरने की व्यवस्था अपने ही घर कर ली थी। वे गली से गुजरने वाले अतिथियों का हाथ जोड़कर स्वागत करते नजर आए।• गाँव के हर द्वार पर रंगोली बनाई गई, सायंकाल दीप जलाए गए।• यज्ञ स्थल पर भव्य प्रदर्शनी, देवात्मा हिमालय, माँ गंगा, 12 ज्योतिर्लिंग आदि की अत्यंत मनमोहक झाँकियाँ बनाई गई थीं। • पूर्णाहुति के दिन लगभग 500 लोगों ने गायत्री महामंत्र की दीक्षा ली। 551 घरों में देवस्थापनाएँ हुर्इं। • दोपहरकालीन सत्र में ऋषि-कृषि और जल, जंगल, जमीन विषय पर आयोजित सम्मेलन स्थानीय किसानों के लिए बहुत उपयोगी सिद्ध हुआ। इसे जबलपुर से आए कृषि वैज्ञानिक श्री ताराचंद जी ने सम्बोधित करते हुए बड़ी उपयोगी बातें बतार्इं। • नारी सशक्तीकरण के लिए विशेष सम्मेलन हुआ, जिसे इन्दौर से आई सुश्री प्रज्ञा पाराशर ने सम्बोधित किया। • रक्तदान शिविर का आयोजन भी किया गया था। मनावर के श्री सोहनलाल पाटीदार भवरिया, जिन्होंने हजारों लोगों को रक्त दिलवाकर गिनीज बुक आॅफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में 


Write Your Comments Here:


img

समाज को सकारात्मकता एवं सृजनात्मक उत्कृष्टता की ओर प्रेरित करते कार्यक्रम

पीड़ित युवतियों के उत्थान के प्रयासरेस्क्यू फाउण्डेशन में जाकर मनाया जन्मदिवसबोरीवली, मुंबई। महाराष्ट्ररेस्क्यू फाउंडेशन देह व्यापार से छुड़ाई गई युवा लड़कियों के पुनर्वास के लिए काम करने वाली स्वयंसेवी संस्था है, जो पूरे महाराष्ट्र में सक्रिय है। दिया, मुम्बई के.....

img

1126 जोड़ों का सामूहिक विवाह संस्कार

प्रयागराज। उत्तर प्रदेश श्रम विभाग प्रयाजराज की ओर से दिनांक 13 मार्च को सामूहिक विवाह का विशाल समारोह आयोजित किया गया। माघ मेला, परेड ग्राउण्ड में आयोजित इस संस्कार समारोह में 1126 जोड़ों ने और 18 मुस्लिम जोड़ों ने गृहस्थ.....

img

छत्तीसगढ़ में नारी सशक्तीकरण के लिए ऑनलाइन प्रशिक्षण

‘विजन 2026’ के साथ हो रहे हैं कार्यक्रम छत्तीसगढ़ के प्रान्तीय संगठन द्वारा ‘विजन-2026’ को लेकर 11 मार्च से 25 अप्रैल 2023 तक बहिनों का ऑनलाइन प्रशिक्षण शिविर चलाया जा रहा है। यह प्रशिक्षण परम वंदनीया माताजी की जन्मशताब्दी वर्ष.....